--Advertisement--

अचानक फीमेल टीचर्स को गंजा देख, सहकर्मियों को आया अटैक, पहुंचे हॉस्पिटल

अचानक फीमेल टीचर्स को गंजा देख, सहकर्मियों को आया अटैक, पहुंचे हॉस्पिटल

Dainik Bhaskar

Jan 13, 2018, 04:47 PM IST
टीचर्स ने विरोध का अनोखा तरीका टीचर्स ने विरोध का अनोखा तरीका

भोपाल। मध्य प्रदेश के टीचर्स ने सरकार के विरोध में एक अनोखा रास्ता अपनाते हुए शनिवार को सरेआम मुंडन कराया। केवल पुरुष ही मुंडन कराने में शामिल नहीं थे, बल्कि महिला टीचर्स ने भी ऐसा किया। भोपाल के जंबूरी मैदान में जब महिला टीचर्स ने मुंडन कराना शुरू किया तो वहां मौजूद कई कई लोगों की आंखों में आंसू आ गए। इसी दौरान एक महिला और दो पुरुष टीचर गस खाकर गिर गए। तीनों को आनन-फानन में अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा।


-असल में, पांच दिन अध्यापक संघ ने सरकार को अल्टीमेटम दिया था। जब उनकी नहीं सुनी गई तो हजारों की संख्या में प्रदेशभर से जंबूरी मैदान पहुंचे टीचर्स ने विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया।

- विरोध के दौरान करीब 120 टीचर सरकार के विरोध में मुंडन कराया। विरोध के दौरान सुरेंद्र पटेल, आशीष दुबे और सारिका अग्रवाल बेहोश हो गए। इसके बावजूद जंबूरी मैदान में जुटी अध्यापकों की भीड़ के बीच मुंडन कराने को लेकर होड़ मची रही।

- जिन महिला टीचर्स ने मुंडन कराया उनमें अध्यापक प्रांत अध्यक्ष शिल्पी सिवान, रेणु सागर, अर्चना शर्मा और सीमा छीरसागर शामिल हैं। शिल्पी सिवान ने बताया कि भाजपा सरकार की नीतियों को देखते हुए अगले चुनाव में भाजपा को वोट नहीं देंगे और लोगों से वोट न देने की अपील भी करते हैं।

- हैरानी वाली बात ये है कि इस दौरान भी प्रदेश सरकार का कोई नुमाइंदा अध्यापकों का दर्द बांटने नहीं पहुंचा। प्रदेश के पांच अलग-अलग कोनों से यह रथ लेकर यहां पहुंचे हैं।
- सरकार के वादे और नीतियों के विरोध में अध्यापक एकजुट हुए हैं। ये सभी टीचर शिक्षा विभाग में संविलियन,तबादला बंधनमुक्त नीति,अनुकंपा नियुक्ति,सातवां वेतनमान और अन्य मांगों को लेकर आंदोलन कर रहे हैं।

X
टीचर्स ने विरोध का अनोखा तरीकाटीचर्स ने विरोध का अनोखा तरीका
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..