Hindi News »Madhya Pradesh »Bhopal »News» This Girl, With The Feet, Writes The 10th First Division

जब पैदा हुई तब से ही नहीं हैं हाथ, पैरों को ताकत बना ऐसे हासिल किया मुकाम

दमोह जिले की दुर्गा ने पैरों से सामान्य ज्ञान परीक्षा का आवेदन पत्र भरा तो मुख्यमंत्री ने किया सलाम।

Sanjay Maurya | Last Modified - Jan 22, 2018, 03:10 PM IST

  • जब पैदा हुई तब से ही नहीं हैं हाथ, पैरों को ताकत बना ऐसे हासिल किया मुकाम
    +7और स्लाइड देखें
    पैरों से लिखकर ही इन्होंने हाईस्कूल फर्स्ट डिविजन पास किया।

    भोपाल।भगवान ने हाथ नहीं दिए तो क्या हौसला तो दिया है। जब हौसले ने हार नहीं मानी तो हाथ की जगह पैर से लिखा और एमपी बोर्ड से 10 वीं में 64 फीसदी अंक हासिल करके प्रदेश भर में दिव्यांग को कुछ कर गुजरने का संदेश दिया। अब भविष्य संवारने के लिए यह दिव्यांग लड़की दुर्गा अब प्रतियोगी परीक्षा देने की तैयारी में जुट गई है।

    -जी हां दमोह जिले के तेंदूखेड़ा ब्लॉक के बम्होरी माल में रहने वाली दिव्यांग दुर्गा लोधी कुछ ऐसा ही करने में जुटी है।

    फिर ऐसे जागी हिम्मत

    -दरअसल तारा देही के हायर सेकंडरी की स्कूल की छात्रा है। दुर्गा जब पैदा हुई तब से ही उसके हाथ नहीं हैं।

    -इस कारण दुर्गा अपने जीवन में कई बार निराश भी हुई, लेकिन उसने निराशा को हावी नहीं हाेने दिया और अपने पैरों को हाथ बना डाला।

    - इसके बाद पढ़ने के साथ-साथ पैर से लिखेगी भी लगी। परीक्षा पास करके प्रदेश भर में छा जाने वाली दुर्गा को वित्त मंत्री जयंत मलैया ने एक लाख रुपए की आर्थिक मदद दी थी।

    -और तत्कालीन एसडीएम सीपी पटेल अब उसे नारायण सेवा केंद्र उदयपुर कृत्रिम अंग लगवाए थे।
    सीएम ने की की सराहना
    -प्रदेश भर में भाजपा की ओर से मेरे दीनदयाल सामान्य ज्ञान प्रतियोगिता हो रही है। इसके लिए दुर्गा ने रजिस्ट्रेशन कराया है। उसने स्वयं अपने पैर से लिखकर नामांकन भरा।

    -इसका फोटो एक कार्यकर्ता लोचन सिंह ने युवा मोर्चा के प्रदेशाध्यक्ष को भेजा। उन्होंने अपने फेसबुक एकांउट पर डाला और जानकारी लिखीे तो उसे मुख्यमंत्री ने स्वयं रीट्वीट किया।

    -इसे सांसद पूनम महाजन ने भी री ट्वीट किया है। प्रदेश भर में इसको लेकर भी दुर्गा सुर्खियों में है। दुर्गा अभी आर्ट विषय से पढ़ाई कर रही है।

    -उसने बताया कि उसे नौकरी करनी है, वह ऐसी नाैकरी करना चाहती है, जिसमें उसे सामान्य ज्ञान की परीक्षा देने में समस्या न जाए, इसके लिए वह निरंतर पढ़ाई कर रही है और प्रतियोगी परीक्षा में भी भाग ले रही है।

  • जब पैदा हुई तब से ही नहीं हैं हाथ, पैरों को ताकत बना ऐसे हासिल किया मुकाम
    +7और स्लाइड देखें
    दुर्गा जब पैदा हुई तब से ही उनके हाथ नहीं हैं।
  • जब पैदा हुई तब से ही नहीं हैं हाथ, पैरों को ताकत बना ऐसे हासिल किया मुकाम
    +7और स्लाइड देखें
    ये दमोह की दुर्गा हैं, दोनों हाथ नहीं है, इसलिए पैरों से लिखती हैं।
  • जब पैदा हुई तब से ही नहीं हैं हाथ, पैरों को ताकत बना ऐसे हासिल किया मुकाम
    +7और स्लाइड देखें
    सीएम भी इस दिव्यांग लड़की के जज्बे को सलाम कर चुके हैं।
  • जब पैदा हुई तब से ही नहीं हैं हाथ, पैरों को ताकत बना ऐसे हासिल किया मुकाम
    +7और स्लाइड देखें
    दमोह में काफी फेमस हैं दुर्गा।
  • जब पैदा हुई तब से ही नहीं हैं हाथ, पैरों को ताकत बना ऐसे हासिल किया मुकाम
    +7और स्लाइड देखें
    लोगों के बीच उनकी सफलता एक संदेश बन गया है।
  • जब पैदा हुई तब से ही नहीं हैं हाथ, पैरों को ताकत बना ऐसे हासिल किया मुकाम
    +7और स्लाइड देखें
    दुर्गा ने पैरों से लिखकर हाईस्कूल में सफलता हासिल की।
  • जब पैदा हुई तब से ही नहीं हैं हाथ, पैरों को ताकत बना ऐसे हासिल किया मुकाम
    +7और स्लाइड देखें
    सीएम शिवराज ने इसे लेकर किया ट्वीट -रिट्वीट।
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Bhopal News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: This Girl, With The Feet, Writes The 10th First Division
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×