--Advertisement--

ट्रैक पर फंसा ब्रेकयान, घायल गार्ड ने दौड़कर रोकी थ्रू ट्रेन, टाला हादसा

ट्रैक पर फंसा ब्रेकयान, घायल गार्ड ने दौड़कर रोकी थ्रू ट्रेन, टाला हादसा

Dainik Bhaskar

Dec 20, 2017, 01:56 PM IST
गार्ड की समझदारी से गाड़ी को र गार्ड की समझदारी से गाड़ी को र

भोपाल। इटारसी-मुंबई रूट पर मालगाड़ी का ब्रेकयान बेपटरी होकर ओएचई पोल से टकरा गया। दोनों ट्रैक पर रेल यातायात रुक गया। ट्रेन 70 किमी प्रति घंटे की स्पीड में थी। घटना सोमवार-मंगलवार रात 11:30 बजे बानापुरा स्टेशन के पास की है। गार्ड जयदीप मीणा घायल अवस्था में 200 मीटर दौड़कर वाकी टॉकी से मालगाड़ी के लोकोपायलट को गाड़ी रोकने के लिए कहा, गाड़ी रुक गई और एक बड़ा हादसा टल गया।

- डीआरएम शोभन चौधुरी ने कहा मालगाड़ी के गार्डयान का टुकड़ा निकलकर पहिए-पटरी के बीच आ गया था, जिससे यान पटरी से उतरकर ओएचई लाइन से टकराया।

- 5 घंटे रेल यातायात प्रभावित हुआ। मालगाड़ी का इंजन का फ्लैशर लाइट ऑटोमेटिक होने से आॅन हो गया था, जिससे सामने से आ रही एलटीटी-गोरखपुर एक्सप्रेस रुक गई थी।

लाल बत्ती व वॉकी टॉकी लेकर दौड़ा
- मैं ब्रेकयान में था। गाड़ी करीब 70 की गति से चल रही थी। अचानक 11:30 बजे ब्रेकयान का संतुलन बिगड़ा और पटरी से उतरकर ओएचई लाइन से टकरा गया। मैं यान के अंदर ही गिर गया। ब्रेकयान का कुछ हिस्सा डाउन ट्रैक को टच कर रहा था। डाउन ट्रैक पर ग्रीन सिग्नल था। सामने थ्रू ट्रेन आ रही थी।

- मैं अपनी चोट भूला और पास रखी लालबत्ती और वॉकी टॉकी लेकर सामने आ रही ट्रेन की तरफ दौड़ लगा दी। वाॅकी टॉकी से मालगाड़ी के इंजन के लोको पायलट को फ्लैशर लाइट ऑन करने को कहा। करीब 100 से 150 मीटर तक दौड़ता गया। एक्सप्रेस के ड्राइवर ने समय रहते ब्रेक लगा दिए।

ऑटोमेटिक फ्लैश लाइट ऑन होने से रुकी थ्रू ट्रेन
- डीआरएम शो भन चौधुरी ने कहा मालगाड़ी के गार्डयान का टुकड़ा निकलकर पहिए-पटरी के बीच आ गया था। जिससे यान पटरी से उतरकर ओएचई लाइन से टकराया। ५ घंटे रेल यातायात प्रभावित हुआ। घटना के बाद मालगाड़ी का इंजन का फ्लैशर लाइट ऑटोमेटिक होने से आॅन हो गया था, जिससे सामने से आ रही एलटीटी-गोरखपुर एक्सप्रेस रुक गई थी।


हादसे से 20 ट्रेनें रही प्रभावित
लगभग 20 से ज्यादा ट्रेनें प्रभावित हुई। एलटीटी-गोरखपुर सुपरफास्ट एक्सप्रेस, पवन एक्सप्रेस, गरीब रथ एक्सप्रेस, पैसेंजर ट्रेन, झेलम एक्सप्रेस सहित कई ट्रेनें चार से पांच घंटे लेट हुईं। कर्नाटक एक्सप्रेस ला रहे गार्ड पीके गौर ने गार्ड जयदीप की कार्य की सराहना की। जयदीप ने लोको पायलट को फ्लैशर लाइट ऑन करने का संकेत मिला। सभी रेल गार्डों ने उनकी सराहना की है।

X
गार्ड की समझदारी से गाड़ी को रगार्ड की समझदारी से गाड़ी को र
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..