• Home
  • Mp
  • Bhopal
  • Two-day 11th Founders Day was organized at The Sanskar Valley School.
--Advertisement--

फाउंडर्स डे अवॉर्ड सेरेमनी में १४५ स्टूडेंट्स को मिले अवॉर्ड, चीफ गेस्ट ने सुनाई पेरेंट्स को कविता....

फाउंडर्स डे अवॉर्ड सेरेमनी में १४५ स्टूडेंट्स को मिले अवॉर्ड, चीफ गेस्ट ने सुनाई पेरेंट्स को कविता....

Danik Bhaskar | Dec 16, 2017, 04:41 PM IST
इवेंट में परफॉर्म करते स्टूडे इवेंट में परफॉर्म करते स्टूडे

भोपाल। द संस्कार वैली स्कूल (टीएसवीएस) में दो दिवसीय 11वें फाउंडर्स डे का आयोजन किया गया। इसमें पहले दिन सत्र 2016-17 के स्टूडेंट्स अचीवर्स को अवॉर्ड देकर सम्मानित किया। इस मौके पर पर दिल्ली के ब्रिटिश स्कूल की डायरेक्टर वनिता उप्पल मुख्य अतिथि के रूप में मौजूद रहीं।

-टीएसवीएस में लगभग 145 स्टूडेंट्स को एकेडमिक्स से लेकर स्पोर्ट्स और एक्स्ट्रा करिकुलम एक्टिविटीज के लिए अवॉर्ड दिए गए। स्टूडेंट्स को विभिन्न कैटेगरीज में यह अवॉर्ड मुख्य अतिथि वनिता उप्पल ने मंच से दिए। 87 अवॉर्ड कंसिस्टेंट एकेडमिक एक्सीलेंस, 18 को-करिकुलर अवॉर्ड, 24 आउटस्टैंडिंग स्पोर्ट्स अवॉर्ड, 4 स्पोर्ट्स पर्सन अवॉर्ड, 11 जनरल प्रोफिशिएंसी अवॉर्ड दिए गए।

-इस मौके पर सबसे बड़ा अवॉर्ड रमेश एंड शारदा फाउंडेशन ट्रॉफी अथर्व जोशी को (एकेडमिक्स, स्पोर्ट्स, सिंगिंग, क्विजिंग, डिबेट, जीके, ओलंपियाड) सहित अन्य क्षेत्रों में बेहतरीन प्रदर्शन के लिए दी गई। अभिभावक अपने बच्चों की परफॉर्मेंस के एनाउंसमेंट सुनकर अभिभूत थे। वनिता उप्पल ने पेरेंट्स को संबोधित करते हुए कहा कि बच्चों को अनकंडीशनल लव अौर उन्हें एडेप्टेबल(परिस्थितियों के मुताबिक ढलने योग्य) बनाएं। उन स्टूडेंट्स के लिए भी तालियां बजाएं जिन्होंने बेहतर परफॉर्म करने की कोशिश की। अल्बर्ट आइंस्टीन को कोट करते हुए कहा कि ट्राय नॉट टू बीकम ए मैन अॉफ सक्सेस, बट रादर ट्राय टू बीकम एक मैन ऑफ वैल्यू।

पेरेंट्स को सुनाई एक कविता
इस मौके पर उन्होंने पेरेंट्स को एक कविता सुनाई ताकि वे यह महसूस करना छोड़ दें कि आपका बच्चा आपसे कुछ सीख नहीं रहा। कविता का शीर्षक था, वैन यू थॉट, आई वॉज नॉट लुकिंग...। वैन यू थॉट आई वॉज नॉट लुकिंग, आई सॉ यू हैंग माय फर्स्ट पेंटिंग ऑन द रेफ्रिजरेटर, एंड आई वांटेड टू पेंट अनेदर वन...।

स्कूल की नई पहल की दी जानकारी
इस मौके पर स्कूल की डायरेक्टर ज्योति अग्रवाल ने स्कूल रिपोर्ट प्रस्तुत की। राष्ट्रीय एवं अंतरराष्ट्रीय स्तर पर स्कूल की परफॉर्मेंस के बारे में अभिभावकों को जानकारी दी। साथ ही बताया कि टीएसवीएस देश में तीसरे स्थान अौर राज्य में पहले स्थान पर अा चुका है। आर्किटेक्चर अौर डिजाइन के हिसाब से स्कूल देश में दूसरे स्थान पर है। स्कूल के नए इनिशिएटिव्स के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि कैंपस में इंक्लूसिव एजुकेशन के लिए लर्निंग लैब शुरू किए गई है, ताकि डिफरेंटली एब्लड स्टूडेंट्स को नए तौर-तरीकों से सिखाया जा सके। करियर काउंसिलिंग सेल अौर लाइफ स्किल्स पर फोकस किया गया है ताकि स्टूडेंट्स स्ट्रेस अौर एंजाइटी से निपट सकें। इसके अलावा हार्टफुलनेस 10 मिनट का स्कूल एक्सरसाइज प्रोग्राम शुरू किया है ताकि स्टूडेंट्स की इमोशनल हेल्थ भी अच्छी रहे। सीअाईअाई-यंग इंडियंस का युवा चैप्टर स्कूल में शुरू किया गया है।

सुरक्षा और बीमा
स्टूडेंट्स की सुरक्षा के मद्देनजर कैंपस में 464 सीसीटीवी लगाए गए है। स्कूल बस में जीपीएस अौर कैंपस में सुरक्षा बढ़ाई गई है। स्टूडेंट्स का इंश्योरेंस भी कराया गया है।

3000 छात्राओं की शिक्षा का प्रबंध
संस्कार विद्या निकेतन के जरिए अगले साल तक भोपाल सहित अन्य शहरों में आर्थिक रूप से कमजोर परिवार की 3000 छात्राओं को एडमिशन देना है। फिलहाल भोपाल में तीन सेंटर्स पर लगभग 902 छात्राओं को निशुल्क शिक्षा दी जा रही है।