--Advertisement--

दूल्हा दुल्हन सहित बारातियों की पिटाई..

दूल्हा दुल्हन सहित बारातियों की पिटाई..

Danik Bhaskar | Mar 08, 2018, 02:19 PM IST
सीएम ने अंतर्राष्ट्रीय महिला सीएम ने अंतर्राष्ट्रीय महिला

भोपाल। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के मौके पर मुख्यमंत्री महिला कोष स्थापित किए जाने के साथ 50 वर्ष की आयु पार कर चुकी अविवाहित महिलाओं को पेंशन देने की घोषणा की। अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के मौके पर आयोजित समारोह में मुख्यमंत्री चौहान अपनी पत्नी साधना सिंह के साथ पहुंचे।

-चौहान ने कहा, "महिलाओं का सिर्फ एक दिन क्यों हो, हर दिन महिलाओं के सम्मान का क्यों न हो। भारत में तो अनादिकाल से ही महिलाओं को देवी माना गया है। हमारे देश में तो देवताओं तक ने संकट के समय शक्ति की शरण ली है।"

-चौहान ने कहा, "राज्य में महिलाओं और बालिकाओं के कल्याण के लिए अनेक योजनाएं चल रही हैं। महिलाओं के सशक्तीकरण की योजनाएं संचालित हैं। राज्य में महिलाओं के सशक्तीकरण के लिए मुख्यमंत्री महिला कोष की स्थापना की जाएगी। इस कोष की राशि से महिलाओं की मदद की जाएगी। इसके अलावा 50 वर्ष की आयु पार कर चुकी अविवाहित महिलाओं को पेंशन देने का प्रावधान किया जाएगा।
बेटियों की सुरक्षा के लिए सरकार खड़ी है
-मुख्यमंत्री ने कहा कि बेटियों की गरिमा को मलिन करने वालों को फांसी की सजा होगी। इसके लिये कानून बनाकर राष्ट्रपति को अनुमोदन के लिये भेजा गया है। समाज को भी बेटियों की सुरक्षा के लिये खड़े होना होगा। मानसिकता बदलनी होगी। बेटों में भी संस्कार देने की पहल करना होगी कि वे बहनों और बेटियों का सम्मान करें। उन्होंने महिलाओं से अपील की कि वे आगे बढ़ें और मध्यप्रदेश को भी आगे बढ़ायें।

शक्ति का किया गया सम्मान

-मुख्यमंत्री ने अपने-अपने कार्य क्षेत्रों में उत्कृष्ट योगदान देने वाली महिलाओं को सम्मानित किया। इसमें लाड़ो सम्मान, लिंगानुपात सुधार पुरस्कार, तेजस्विनी पुरस्कार, सशक्त वाहिनी पुरस्कार और 60 वर्ष से अधिक आयु की उन महिलाओं को सम्मानित किया गया, जो अपने-अपने कार्य क्षेत्रों में अथक कार्य कर रही हैं।

इन महिलाओं काे सम्मानित किया

-मुख्यमंत्री ने पश्चिम मध्य रेल में सहायक लोको पायलट सुश्री आरती सिंह राजपूत, सुश्री प्रीति वर्मा और सुश्री दीपा झरवड़े को सम्मानित किया। उन्होंने सुश्री पूरन ज्योति, सुश्री इशिता विश्वकर्मा, राघवेन्द्र शर्मा और सुश्री अनीता विश्वकर्मा को लाडो सम्मान दिया।

-बुरहानपुर जिले में लिंगानुपात सुधार के लिये सुश्री सौरभ सिंह को सम्मानित किया गया। सुश्री विनीता नामदेव, श्रीमती रेखा पंजाम, सुश्री इंद्राणी वरकड़े, सुश्री शांति टेकाम को तेजस्विनी पुरस्कार दिया गया। बुरहानपुर की सुश्री निधि गुप्ता को सशक्त वाहिनी पुरस्कार दिया गया। इसके पहले मुख्यमंत्री ने महिला वसति गृह 'स्वयंसिद्धा' का लोकार्पण किया। उन्होंने मातृ शक्ति की उपलब्धियों पर आधारित प्रदर्शनी का अवलोकन भी किया।