--Advertisement--

दिल्ली मेट्रो को यहां से मिलेगी एनर्जी, एमपी को होगा इतना फायदा

दिल्ली मेट्रो को यहां से मिलेगी एनर्जी, एमपी को होगा इतना फायदा

Danik Bhaskar | Dec 22, 2017, 04:26 PM IST
इस मौके पर सरकार के कई मंत्री भ इस मौके पर सरकार के कई मंत्री भ

भोपाल। रीवा में दुनिया के सबसे बड़े सौर ऊर्जा केंद्र की आधारशिला रख दी गई। यहां से मिलने वाली सोलर एनर्जी से दिल्ली मेट्रो रेल चलेगी। यहां से हर साल 24 फीसदी बिजली दिल्ली मेट्रो खरीदेगी। बाकी बची 76 फीसदी सोलर एनर्जी मप्र सरकार खरीदेगी। इससे प्रदेश को आने वाले 25 सालों में 20 अरब का फायदा होगा, जबकि दिल्ली मेट्रो रेल परियोजना को 12 अरब का सीधा लाभ मिलेगा। सीएम शिवराज सिंह और केंद्रीय ऊर्जा मंत्री आरके सिंह ने इस केंद्र की आधारशिला रखी।


पॉल्यूशन फ्री होगा प्रोजेक्ट
- शुक्रवार को आधारशिला रखते हुए सीएम शिवराज सिंह ने कहा, "यह ऊर्जा संयंत्र प्रदूषण मुक्त ग्रीन वातावरण में बिजली पैदा करेगा ऊर्जा का सबसे बड़ा स्रोत सूर्य रहा है, इसलिए भविष्य में हमारी ऊर्जा आवश्यकताओं की पूर्ति का सबसे बड़ा साधन सूर्य बनेगा। इसलिए जिले के गुढ़ कस्बे के पास बदवार गांव में अल्ट्रा मेगा सौर ऊर्जा केंद्र स्थापित किया गया है। यह विश्व का सबसे बड़ा सौर ऊर्जा केंद्र है इसमें 750 मेगा वाट बिजली का उत्पादन होगा रीवा अल्ट्रा मेगा सौर ऊर्जा संयंत्र के निर्माण के लिए 1542 हेक्टेयर भूमि उपलब्ध कराई गई है।"

प्रोजेक्ट की 10 खास बातें...
- यहां से 76 फीसदी बिजली एमपी सरकार खरीदेगी। बाकी 24 फीसदी बिजली नई दिल्ली मेट्रो रेल परियोजना को दी जाएगी।
- देश की राजधानी दिल्ली के परिवहन का आधार मेट्रो रेल रीवा की सौर ऊर्जा से दौड़ेगी।
- 25 वर्षों में राज्य शासन को 2086 करोड़ रुपए तथा दिल्ली मेट्रो को 1220 करोड़ रुपए का लाभ होगा।
- इस परियोजना का विकास सोलर एनर्जी कारपोरेशन तथा मध्यप्रदेश ऊर्जा विकास निगम द्वारा किया जा रहा है।
- यह परियोजना विश्व बैंक द्वारा वित्त पोषित देश की प्रथम एवं एकमात्र सौर परियोजना है।
- इससे ऊर्जा संरक्षण के साथ-साथ पर्यावरण संरक्षण को बल मिलेगा, परियोजना पूरी तरह से प्रदूषण मुक्त है।
- सोलर प्लेट तथा अन्य उपकरण स्थापित करते ही इस में बिजली का उत्पादन आरंभ हो जाएगा ।
- परियोजना के प्रारंभिक कार्यों के लिए एमएनआरआई ने 20 लाख रुपए प्रति मेगावाट के दर से 150 करोड़ रुपए का अनुदान दिया है।
-अल्ट्रा सोलर पावर प्लांट में तीन कंपनियों द्वारा 750 मेगा वाट बिजली का उत्पादन किया जाएगा।
- इसमें महिंद्रा प्राइवेट लिमिटेड मुंबई द्वारा 250 मेगावाट, एकमे जयपुर, सोलर पावर प्राइवेट लिमिटेड गुरुग्राम द्वारा 250 और एरिसन क्लीन एनर्जी लिमिटेड द्वारा 250 मेगावाट बिजली।