Home | Madhya Pradesh News | Bhopal News | Yogi went to Noida, now it is the myth to challenge CM Shivraj

योगी ने नोएडा जाकर तोड़ा, अब सीएम शिवराज के लिए चुनौती बना ये मिथक

योगी ने नोएडा जाकर तोड़ा, अब सीएम शिवराज के लिए चुनौती बना ये मिथक

Sumit Pandey| Last Modified - Dec 27, 2017, 12:44 PM IST

1 of
Yogi went to Noida, now it is the myth to challenge CM Shivraj
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ 29 साल के अंधविश्वास को खत्म किया है। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री 13 साल से अशोकनगर नहीं गए हैं।

भोपाल। अशोकनगर से जुड़ा मिथक आखिर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान नहीं तोड़ पा रहे हैं। वह 13 साल जिले के किसी कार्यक्रम में नहीं गए। जबकि उन्होंने मंगलवार को अशोकनगर से 15 किलोमीटर दूरी पर पिपरई तहसील में सभा की। यह 2 माह में उनका जिले का तीसरा दौरा था। जब पत्रकारों ने उनसे पूछा कि योगी आदित्यनाथ नोएडा जा सकते हैं तो आप अशोकनगर क्यों नहीं आते। इस सवाल से अचकचाए सीएम ने कहा, क्यों नहीं आएंगे, जरूर आएंगे।

 

- असल में, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ 29 साल बाद सीएम के तौर पर नोएडा  गए और उस बड़े मिथक को तोड़ा, जिसके कारण 29 साल से कोई मुख्यमंत्री नोएडा नहीं जा रहा था। 29 साल पहले जो भी सीएम नोएडा गया, उसे कुर्सी गंवानी पड़ी। इसके पहले 1988 में सीएम वीर बहादुर गए थे, जिन्हें बाद में अपने पद से इस्तीफा देना पड़ा था। 

 

- हालांकि सीएम बनने के बाद से 13 साल हो गए, सीएम शिवराज अशोकनगर नहीं गए हैं। उनके लिए ये मिथक चुनौती बना हुआ है। मीडिया ने कहा कि योगी की तरह आप भी इस मिथक को क्यों नहीं तोड़ देते हैं। इस पर सीएम ने कहा कि अगली बार वह जरूर अशोक नगर आएंगे। 

 

मिट रहा है कांग्रेस का नामोनिशान
- पिपरई मंडी परिसर में आयोजित किसान सम्मेलन में पहुंचते ही सीएम श्री चौहान ने कांग्रेस पर हमला बोलते हुए कहा कि मैं सीधे गुजरात से रहा हूं, जहां आज भाजपा सरकार के मुख्यमंत्री ने शपथ ग्रहण की। उन्होंने कहा कि इस कार्यक्रम में 18 मुख्यमंत्री भाजपा के शामिल हुए। चारों तरफ कांग्रेस मिट चुकी है। पंजाब और कर्नाटक बचा है। कर्नाटक में अप्रैल में चुनाव है, वहां भी भाजपा की सरकार बनेगी और कांग्रेस का पत्ता साफ कर दिया जाएगा।

 

अशोकनगर नहीं जाने के मिथक
- असल में, यूपी में ऐसा मिथक है कि नोएडा जाने के बाद सीएम को कुर्सी छोड़नी पड़ती है।
- ऐसा ही अशोकनगर के बारे में माना जाता है कि जो भी सीएम गया, उसने कुर्सी गवां दी।
- मोतीलाल वोरा, अर्जुन सिंह और दिग्विजय सिंह के बारे में माना जाता है कि अशोकनगर गए और उन्हें सीएम की कुर्सी गंवानी पड़ी।
- मंगलवार को सीएम शिवराज सिंह अशोकनगर जिले की पिपरई तहसील में रैली करने गए, लेकिन अशोकनगर नहीं गए।
- मुख्यमंत्री बनने के बाद कई बार ऐसे मौके आए, जब तैयारी हो गई और आखिरी समय में कार्यक्रम कैंसिल हो गया।
- अशोकनगर में एक ही राजा, राजेश्वर माने जाते हैं, जिनका शहर के बीचोंबीच मंदिर है।
- 4 महीने पहले कलेक्टोरेट के भवन के उद्घाटन में आने वाले थे सीएम, लास्ट मूवमेंट पर कैंसिल हुआ कार्यक्रम।

Yogi went to Noida, now it is the myth to challenge CM Shivraj
मंगलवार को सीएम शिवराज सिहं चाैहान ने अशोकनगर से कुछ किलोमीटर दूर पिपरई में सभा की।
Yogi went to Noida, now it is the myth to challenge CM Shivraj
बच्चे उनके साथ सेल्फी लेने पहुंच गए।
Yogi went to Noida, now it is the myth to challenge CM Shivraj
पिपरई अशोकनगर जिले की तहसील है, यहां आने के बाद भी अशोकनगर नहीं गए।
Yogi went to Noida, now it is the myth to challenge CM Shivraj
पिपरई में सीएम ने कई घोषणाएं कीं।
Yogi went to Noida, now it is the myth to challenge CM Shivraj
वहां पर जयभान सिंह पवैया समेत कई मंत्री शामिल रहे।
prev
next
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

Trending Now