Hindi News »Madhya Pradesh News »Bhopal News» Arvind Kejriwal Favors The Government In Favor Of Contractual Employees

संविदा कर्मचारियों के पक्ष में आए केजरीवाल ने सरकार को ललकारा

संविदा कर्मचारियों के पक्ष में आए केजरीवाल ने सरकार को ललकारा

Amitabh Bhudolia | Last Modified - Nov 05, 2017, 05:54 PM IST

भोपाल।मप्र के संविदा कर्मचारियों के समर्थन में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी मोर्चा संभाल लिया। वे रविवार को सेकंड स्टाप स्थित आंबेडकर मैदान में प्रदेश भर से आए संविदा कर्मचारियों के धरने में अचानक पहुंच गए।
भ्रष्‍टाचार कुछ कम करो
मप्र सरकार पर तंज कसते हुए केजरीवाल ने कहा कि भ्रष्‍टाचार में थोड़ी कमी कर ले। योजनाओं पर अमल के लिए पैसे नहीं होने का बहाना बनाया जाता है। सरकार नीयत अच्छी हो तो सारे काम हो जाते हैं। अपने भाषण में केजरीवाल ने उप राज्यपाल यानी एलजी का जिक्र भी किया। उन्होंने कहा कि हमें अंदर भी लड़ना पड़ता है।
शिवराज सरकार पर बिफरे केजरीवाल
- मप्र सरकार पर बिफरते हुए केजरीवाल ने कहा कि शिवराज जी एक साल और पूरा कर लो फिर मप्र में हमारी सरकार बनेगी तो हम संविदा कर्मचारियों को रेगुलर कर देंगे। हमारी सरकार ने दिल्ली के सैकड़ों ऐसे कर्मचारियों को रेगुलर कर दिया है। कई कैडर के कच्चे कर्मचारियों की सैलरी दोगुनी कर दी। मप्र सरकार संविदा कर्मचारियों का शोषण कर रही है।
10 नवंबर से हर दिन सीएम हाउस पर पदयात्रा
- मप्र संविदा कर्मचारी अधिकारी महासंघ के बैनर तले रेगुलर करने और निकाले गए संविदा कर्मचारियों की बहाली की मांग को लेकर प्रदेश भर से आए कर्मचारी धरने पर डटे थे। इन्होंने बुधवार से चरणबद्ध आंदोलन शुरू किया है। कर्मचारी दस नवंबर से रोजाना दस दिन सीएम हाउस तक पदयात्रा भी निकालेंगे।
इसलिए किया आंदोलन
राठौर ने बताया कि सरकार ने 200 दिन के अतिथि शिक्षकों को संविदा शिक्षक भर्ती में 25 फीसदी कोटा आरक्षित कर दिया। सरपंचों द्वारा नियुक्त और बिना परीक्षा दिए आए गुरुजियों और पंचायत कर्मियों को रेगुलर कर नियमित वेतन दे दिया। 15- 20 साल से काम कर रहे प्रदेश के ढाई लाख संविदा कर्मचारियों को अब तक रेगुलर नहीं किया। पिछले एक साल में 35 हजार से ज्यादा संविदा कर्मचारियों को सेवा से हटा दिया।
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Bhopal

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×