Hindi News »Madhya Pradesh News »Bhopal News» Girl Was Brought To The Police Station To Identify The Fourth Accused

चौथे आरोपी की पहचान करने थाने पहुंची थी छात्रा

चौथे आरोपी की पहचान करने थाने पहुंची थी छात्रा

Sushma Barange | Last Modified - Nov 03, 2017, 03:52 PM IST

भोपाल। भोपाल में हुए गैंगरेप के बाद पूरे प्रदेश में सनसनी फैल गई है। शुक्रवार को कांग्रेस सहित विभिन्न राजनीतिक दलों और सामाजिक संगठनों ने इस घटना के खिलाफ प्रदर्शन किया। गौरतलब है कि हबीबगंज पुलिस चौथे आरोपी की पहचान नहीं कर पा रही थी, जिसके बाद छात्रा को उसकी पहचान के लिए थाने बुलाया गया था। शुक्रवार को माता-पिता के साथ थाने पहुंचकर छात्रा ने चौथे आरोपी की भी पहचान कर ली है।
यह था मामला...
हबीबगंज आरपीएफ थाने से महज 100 मीटर दूर पीएससी की कोचिंग से लौट रही 19 साल की छात्रा से चार दरिंदे 3 घंटे तक ज्यादती करते रहे, लेकिन पुलिस को इसकी भनक नहीं लगी। मंगलवार शाम 7 बजे चारों ने छह बार उसके साथ ज्यादती की। मारपीट कर उसे बेहाल कर दिया। उसका मोबाइल फोन, कान के बूंदे और घड़ी भी लूट ली। बेहोश हुई ताे उसे मरा समझकर चारों भाग गए। किसी तरह छात्रा रात दस बजे आरपीएफ थाने पहुंची और अपने पिता को फोन कर पूरा वाकया बताया। इस सनसनीखेज वारदात को लेकर न जीआरपी गंभीर नजर आई और न ही जिला पुलिस के अफसर। दरिंदगी मंगलवार शाम 7 बजे हुई थी लेकिन पुलिस ने करीब 24 घंटे बाद बुधवार शाम 6 बजे एफआईआर दर्ज की। पुलिस ने चारों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। महत्वपूर्ण बात यह है कि एक आरोपी को तो पीड़िता के पिता ने ही पकड़कर पुलिस को सौंपा। लड़की के माता-पिता दोनों पुलिस विभाग में ही पदस्थ हैं।
विदिशा का रहने वाला है परिवार
विदिशा की रहने वाली 19 वर्षीय छात्रा बीएससी के साथ-साथ पीएससी की तैयारी भी कर रही है। उसके माता-पिता पुलिसकर्मी हैं। एमपी नगर जोन-2 स्थित कोचिंग सेंटर से मंगलवार शाम करीब सात बजे छात्रा पैदल हबीबगंज रेलवे स्टेशन लौट रही थी। रेलवे ट्रैक के बगल की पगडंडी होते हुए छात्रा खंभा नंबर 830/36 के पास बनी पुलिया पर पहुंची। तभी एक बदमाश ने उसका रास्ता रोक लिया। छात्रा ने हाथ छुड़ाने के लिए बदमाश को लात मारी तो उसका दूसरा साथी भी झाड़ी से बाहर निकल आया। इसके बाद दोनों उसे खींचते हुए पुलिया के नीचे झाड़ियों में ले गए। दोनों ने उसके हाथ बांध दिए। छात्रा गिड़गिड़ाती रही, लेकिन दोनों नहीं माने और दरिंदों ने बारी-बारी से उसके साथ ज्यादती की।

मोबाइल फोन, कान के बूंदे और घड़ी लूट ली
दोनों बदमाश छात्रा को कीचड़ में खींचते हुए पुलिया के उस पार ले गए। यहां उनके दो साथी और आ गए। बाद में आए दोनों दरिंदों ने भी छात्रा के साथ ज्यादती की। बदमाशों ने छात्रा का मोबाइल फोन, कान के बूंदे और घड़ी लूट ली। कुछ देर बाद दो आरोपी वहां से चले गए। बचे दो दरिंदों ने दोबारा उसके साथ बारी-बारी से ज्यादती की। ये पूरा वाकया रात दस बजे तक चला। छात्रा बेहोश हुई तो आरोपी उसे मरा समझकर वहां से भाग निकले।
छात्रा ने इशारा किया और पिता ने पकड़ लिया
एमपी नगर से हबीबगंज थाने जाते वक्त छात्रा और उसके माता-पिता मानसरोवर कॉम्प्लेक्स के पास कुछ देर के लिए रुक गए। वे घटनास्थल देखने के लिए जा रहे थे। तभी पास की झुग्गी में रहने वाले गोलू पर नजर पड़ गई। छात्रा ने इशारा किया कि ये वही है, जिसने अपने तीन साथियों के साथ मिलकर दरिंदगी की है। फिर क्या था माता-पिता ने मिलकर आरोपी को पकड़ लिया। उसे लेकर हबीबगंज थाने पहुंचे। यहां पूरा वाकया बताया तो पुलिस ने उससे पूछताछ शुरू कर दी। टीआई रविंद्र यादव के मुताबिक कुछ देर बाद ही एक टीम उसके दूसरे साथी को पकड़ लाई। उससे छात्रा का मोबाइल फोन और कान के बूंदे भी मिल गए। छात्रा और उसके माता-पिता को लेकर मौके पर पहुंचे। जीआरपी को वहीं बुलाया।
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Bhopal

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×