Hindi News »Madhya Pradesh News »Bhopal News» SP Railway Anita Malviya Made Serious Allegations On The System

एसपी रेल अनीता मालवीय ने सिस्टम पर गंभीर आरोप लगाए

एसपी रेल अनीता मालवीय ने सिस्टम पर गंभीर आरोप लगाए

Sushma Barange | Last Modified - Nov 06, 2017, 02:17 PM IST

एसपी रेल अनीता मालवीय ने सिस्टम पर गंभीर आरोप लगाए
भोपाल। गैंगरेप केस में लापरवाही बरतने के बाद हटाई गई तत्कालीन एसपी रेल अनीता मालवीय ने सिस्टम पर कई गंभीर आरोप लगाए हैं। उनका कहना है कि विभाग में बहुत सी गलतियां हो रही हैं, जिन्हें रोकने की कोशिश उन्होंने की थी। उनकी कोशिशों से आला अधिकारी और उनके लोगों के हितों को ठेस पहुंची थी। इस कारण उन्हें षड्यंत्रपूर्वक तरीके से पद से हटाया गया है।
-सोमवार को मीडिया से चर्चा के दौरान मालवीय ने कहा कि, षड्यंत्र रचने वाले उनके बीच में ही रहने वाले लोग ही है। दूसरी ओर निलंबित किए गए हबीबगंज टीआई रविंद्र यादव का कहना है कि मैंने तुरंत कार्रवाई की, इसके बावजूद मुझे निलंबित कर दिया गया। मैं अपने आला अधिकारियों से पूछूंगा कि मेरे खिलाफ इतनी बड़ी कार्रवाई क्यों की गई। गौरतलब है कि, राजधानी में हुए गैंगरेप केस में मध्य प्रदेश सरकार ने रविवार को सख्त रुख अख्तियार करते हुए भोपाल रेंज के आईजी योगेश चौधरी और जीआरपी एसपी अनिता मालवीय को हटा दिया था। बता दें कि इसके पहले पांच अफसरों को सस्पेंड किया गया था। चौधरी और मालवीय को पुलिस हेडक्वार्टर अटैच किया गया है। जयदीप प्रसाद भोपाल रेंज के आईजी जबकि रुचि वर्धन मिश्रा जीआरपी की एसपी होंगी। बता दें कि 31 अक्टूबर की शाम कोचिंग सेंटर से हबीबगंज जा रही 19 साल की स्टूडेंट से 4 लोगों ने दरिंदगी की थी। 3 आरोपी गिरफ्तार किए जा चुके हैं। पांचवां फरार है। मामले की जांच एसआईटी कर रही है।
चौथे रेपिस्ट पर रखा 10 हजार का इनाम
गैंगरेप में फरार चल रहे चौथे आरोपी रमेश मेहरा पर नई एसपी रेल रुचिवर्धन मिश्रा ने 10 हजार का इनाम घोषित किया है। रुचि वर्धन अब खुद इस मामले की मॉनिटरिंग कर रही हैं। रुचिवर्धन मिश्रा एसआरपी का चार्ज लेने से पहले पुलिस मुख्यालय पहुंची थीं। जानकारी के अनुसार रमेश मेहरा की आखिरी लोकेशन मंडीदीप में मिली थी। उसकी तलाश में अब प्रदेश भर की पुलिस की मदद ली जा रही है।

RPF कमांडेंट आज देंगे रिपोर्ट और अफसरों पर हो सकती है कार्रवाई
गैंगरेप मामले में आरपीएफ कमांडेड विजय सागर की रिपोर्ट पर कई पुलिस अधिकारी अभी भी नप सकते हैं। सूत्रों की माने तो रिपोर्ट में कहा गया है कि जीआरपी पुलिस रेलवे स्टेशन पर सुरक्षा को लेकर गंभीर नहीं है। साथ ही रेलवे के क्षेत्र में होने वाली आपराधिक वारदातों पर भी अंकुश नहीं लग पा रही है। इतना नहीं गैंगरेप को लेकर पीड़िता के साथ असंवेदनशील रवैया अपनाते हुए एफआईआर दर्ज करने में देरी की थी। रिपोर्ट में जीआरपी से जुडेÞ अफसरों के नामों का उल्लेख भी किया गया है। आरपीएफ कमांडेट विजय सागर आज शाम तक अपनी रिपोर्ट में जबलपुर में आरपीएफ आईजी आरके मलिक को सौंपेंगे। रिपोर्ट का अध्ययन करने के बाद आईजी मलिक आगे एक्शन लेंगे।
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Bhopal

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×