--Advertisement--

इन भाईयों की दबंगई से पुलिस भी खाती थी खौफ, खुलेआम करते थे नशे का कारोबार

इन भाईयों की दबंगई से पुलिस भी खाती थी खौफ, खुलेआम करते थे नशे का कारोबार

Dainik Bhaskar

Nov 24, 2017, 11:00 AM IST
रायसेन जिले में गांजा कटाई के रायसेन जिले में गांजा कटाई के

भोपाल। दोनों सगे भाई हैं। दबंगई ऐसी कि खुले आम नशे का कारोबार करते थे। गांव में उनके खौफ से कोई चूं नहीं करता था। पुलिस को शिकायत करने की किसी की हिम्मत नहीं हुई। ऐसे में पुलिस भी उनके खिलाफ कोई कार्रवाई करने से कतरा रही थी। एक दिन जिले के एसपी को नशे के कारोबार की शिकायत मिली तो उन्होंने तीन थानों के टीआई को एसडीओपी सहित टीम बनाकर छापामार कार्रवाई करने के निर्देश दे दे दिए।


एसपी के निर्देश पर तीन थानों की पुलिस ने सुबह ही गांव में धावा बोल दिया। आरोपी दोनों भाईयों को गिरफ्तार कर लिया गया और फिर जो हुआ वह सबने देखा। तीन थानों की पुलिस के 25 जवानों ने खेत में तुअर के साथ बोए गए गांजे के पौधों को काटने की कार्रवाई शुरू की। तीन घंटे की मशक्कत के बाद गांजे के पौधे काटकर ट्रॉली में भर दिए। यह इतना था, कि पूरी ट्रॉली भर गई। मामला रायसेन जिले के देवरी थाना क्षेत्र के नयाखेड़ा गांव में गांजे की खेती कर उसे बेचने वाले दो सगे भाइयों को गुरुवार को सुबह पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया।


8 लाख का 4 क्विंटल गांजा पकड़ा
आरोपियों का गांव में इतना खौफ था कि उसके बारे में कोई शिकायत करने की हिम्मत भी नहीं करता था। एसपी को इसकी सूचना मिली तो उन्होंने तीन थानों की टीआई सहित एसडीओपी की टीम बनाकर छापा मार कार्रवाई करने के निर्देश दिए। इसके बाद पुलिस दल सीधा नयाखेड़ा स्थित आरोपी के खेत पर पहुंच। इस खेत पर तुअर के फसल के साथ गांजे के भी सैकड़ों पौधे लगे हुए थे। उसके बाद 25 जवानों ने तीन घंटे की मशक्कत के बाद ये पौधे काटकर जब्त किए और आरोपी भाइयों को भी गिरफ्तार कर लिया। इसके बाद पुलिस आरोपी नारायणसिंह और तुलसीराम के घर पहुंची। वहां से भी गांजा जब्त किया गया। गांजे को ट्राली में भरकर देवरी थाने लाया गया। वहां सिलवानी एसडीओपी पीएन गोयल के सामने पुलिस कार्रवाई की गई। देवरी थाना प्रभारी संतोष दांगी ने बताया कि जब्त किए गए गांजे की तुलाई पूरी की गई तो इसकी मात्रा 4 क्विंटल 3 किलो निकली है। इसकी कीमत 8 लाख रुपए है।

तीन थानों की पुलिस ने मिलकर की कार्रवाई
कार्रवाई में देवरी, उदयपुरा, सिलवानी के थाने के टीआई सहित करीब 25 जवान शामिल थे। गुरुवार सुबह 6 बजे पुलिस ने नयाखेड़ा गांव निवासी नारायणसिंह नौरिया के घर छापा मारा। पुलिस कार्रवाई में एसडीआेपी सिलवानी बीएन गोयल, टीआई आरडी शर्मा सिलवानी, थाना प्रभारी उदयपुरा नरेंद्र परिहार, थाना प्रभारी देवरी संतोष दांगी, एएसआई संजय यादव, सहित कई आरक्षक शामिल थे।


आरोपी पहले भी दो बार जा चुका है जेल
आरोपी नारायणसिंह नारिया को गांजा तस्करी के मामले में पुलिस ने 1994 और 2013 में भी गिरफ्तार किया था। लेकिन जेल से छूटने के बाद उसने फिर से गांजे की खेती शुरु कर दी थी। आरोपी के खेत से गांजे के जो पौधे जब्त किए गए हैं वह करीब 6 महीने पहले उसने खेत में लगाए थे। कुछ पौधों तो इतने बड़े हो चुके थे कि पुलिस जवान मिलकर भी उन्हें बमुश्किल उखाड़ पाए। आरोपी नारायणसिंह और उसका भाई तुलसी राम अपने खेतों में गांजे की फसल अपने घर में रख लिया करते थे। उसके बाद साल भर इस गांजे को बेचने का काम करते थे। नयाखेड़ा के अलावा रिछावर, रमपुरा और टिमरनी गांव के लोग नारायणसिंह के घर गांजा खरीदने आते थे। गांजे की फसल लगाने से लेकर बेचने तक काम दोनों भाई खुले आम करते थे। लेकिन उनके डर के कारण गांव वाले उसे टोकने की हिम्मत भी नहीं कर पाते थे।


X
रायसेन जिले में गांजा कटाई के रायसेन जिले में गांजा कटाई के
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..