सीबीएसई / नए सत्र से संस्कृत, अंग्रेजी और हिंदी के पैटर्न में होगा बदलाव, अब एनसीईआरटी प्रकाशित करेगी किताबें



cbse
X
cbse

  • इंटरनल असेसमेंट के साथ मूल्यांकन प्रक्रिया में बदलाव
  • एनसीईआरटी खुद प्रकाशित करेगी किताबें, पहले वोर्ड किताब प्रकाशित करती थी.

Dainik Bhaskar

Mar 16, 2019, 03:22 PM IST

भोपाल। सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकंडरी एजुकेशन (सीबीएसई) स्कूलों में पढ़ने वाले छात्र-छात्राओं को नए बदलावों के साथ अगले सत्र में पढ़ाई करने का मौका मिलेगा। सीबीएसई की ओर से वेबसाइट पर एक नोटिफिकेशन जारी किया गया है। इसके हिसाब से संस्कृत, इंग्लिश और हिंदी के करिकुलम में बदलाव देखने को मिलेगा। 

 

यह बदलाव कक्षा 9वीं से 12वीं तक के लिए होगा। इसमें इंटरनल असेसमेंट के साथ मूल्यांकन भी शामिल है। इसके साथ नए सत्र में भाषा की किताबें भी बदल जाएंगी। इसमें अंग्रेजी के साथ संस्कृत और हिन्दी की किताबें भी शामिल होंगी। इन तीनों विषयों की किताबें अब एनसीईआरटी द्वारा प्रकाशित की जाएंगी। अब तक भाषा की किताबें खुद सीबीएसई द्वारा प्रकाशित की जाती थीं। लेकिन अब इसमें नए प्रयोग देखने को मिलेंगे। 


नए सत्र और करिकुलम की घोषणा : स्कूलों में नए सत्र और करिकुलम की घोषणा बोर्ड द्वारा 16 मार्च को की जाएगी। जो करिकुलम घोषित होगा, उसे ही सभी स्कूलों में लागू किया जाएगा। बोर्ड की मानें तो स्कूल स्टडी पर छात्र का अधिक फोकस हो, इसके लिए इंटरनल असेसमेंट के 20 अंकों में बदलाव किया जाएगा। यह बदलाव कक्षा 9वीं-10वीं और 11वीं-12वीं में अलग-अलग किया जाएगा। एक्सपर्ट का कहना है कि मूल्यांकन और स्कूल वर्क में भी बदलाव होगा। इंटरनल असेसमेंट की जानकारी भी स्कूलों को जल्द दे दी जाएगी। 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना