सीबीएसई / नए पैटर्न से इंजीनियरिंग मेडिकल इंट्रेंस में मिलेगी मदद, सैंपल पेपर वेबसाइड पर जारी



cbse
X
cbse

  • पैटर्न में बदलाव फिजिक्स एवं केमेस्ट्री के सैंपल प्रश्न पत्रों में 37 प्रश्न, गणित में 36 और बायोलॉजी में 27 प्रश्न

Dainik Bhaskar

Oct 14, 2019, 03:40 PM IST

भोपाल। सीबीएसई ने नए बोर्ड परीक्षा पैटर्न पर आधारित 10वीं एवं 12वीं बोर्ड के सैंपल पेपर व मार्किंग स्कीम बोर्ड की वेबसाइड पर जारी की है। नए पैटर्न में प्रश्नों की संख्या, प्रश्नों के प्रकार में पुराने पैटर्न में बदलाव किया है। नए बदलाव में ऑब्जेक्टिव- एमसीक्यू, फिल इन द ब्लैंक्स, असर्शन-रीजन और पैसेज बेस्ड प्रश्नों को शामिल किया है।

 

इस प्रकार के प्रश्न इंजीनियरिंग एवं मेडिकल एंट्रेंस में पूछे जाते हैं। इससे मेडिकल एवं इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षाओं की तैयारी करने वाले स्टूडेंट्स के लिए उपयोगी होगा।

 

इधर, फिजिक्स एवं केमेस्ट्री के सैंपल प्रश्न पत्रों में कुल 37 प्रश्न पूछे हैं। गणित के प्रश्न पत्र में 36 प्रश्न हैं, लेकिन बायोलॉजी के प्रश्न पत्र में मात्र 27 प्रश्न पूछे हैं। नए सिस्टम में इसके लिए अब अलग से तैयारी करने की जरूरी नहीं है। इस संबंध में छात्र मनोज शर्मा का कहना है कि अभी हमें इंजीनियरिंग और मेडिकल के एंट्रेस में अच्छे मार्क लाने के लिए दूसरे बड़े महानगरों में जाना पड़ता है। गौरतलब है नए पैटर्न में प्रश्नों की संख्या, प्रश्नों के प्रकार में पुराने पैटर्न के बड़े परिवर्तन हैं। अगले साल यह परीक्षा आईआईटी दिल्ली की ओर से आयोजित की जाएगी। कुल 25 विषयों में यह परीक्षा होगी। इस परीक्षा में छात्रों को नए पैटर्न का लाभ मिलने के अलावा अनुभव भी मिलेंगे।

 

फिजिक्स, केमेस्ट्री व मैथमेटिक्स के प्रश्न पत्र को 4 भागों में बांटा
बायोलॉजी के प्रश्न पत्र का पैटर्न फिजिक्स, केमेस्ट्री तथा मैथमेटिक्स के सापेक्ष काफी भिन्न है। फिजिक्स, केमेस्ट्री अाैर मैथमेटिक्स में संपूर्ण प्रश्न पत्र को 4 भागों में बांटा गया है, जबकि बायोलॉजी के प्रश्न पत्र में कुल 5 भाग हैं। सेक्शन-ए में 5 ऑब्जेक्टिव- एमसीक्यू प्रश्न निर्धारित हैं जो कि फिजिक्स, केमेस्ट्री तथा मैथमेटिक्स के सापेक्ष कम हैं। बायोलॉजी के प्रश्न पत्र के सेक्शन-डी में केस आधारित प्रश्नों का समावेश किया है, जो कि अत्यंत महत्वपूर्ण हैं। केस आधारित यह प्रश्न एप्लीकेशन ऑफ कंसेप्ट्स पर आधारित होते हैं।


बायोमेडिकल इंजीनियरिंग भी अब गेट में हुई शामिल
गेट में 2020 में बायो इंजीनियरिंग को भी शामिल किया है। आईआईटी में एमटेक के लिए परीक्षा होती है। अगले साल यह परीक्षा आईआईटी दिल्ली की ओर से आयोजित की जाएगी। कुल 25 विषयों में यह परीक्षा होगी। इस परीक्षा में छात्रों को नए पैटर्न का लाभ मिल सकेगा। छात्रा विवेक ने बताया कि बोर्ड के नए पैटर्न से हम सब को इंजीनियरिंग व मेडिकल के एंट्रेस में फायदा होगा। मनाेज सोनी का कहना है कि इससे परीक्षाओं की तैयारी आसानी से हो सकेगी।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना