भोपाल / सीबीएसई अब खुद करेगी प्रश्न-पत्र का एनालिसिस

X

  • शिक्षकों से सीबीएसई के अधिकारी लेंगे फीडबैक 

Mar 06, 2019, 12:56 PM IST

भोपाल। सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकंडरी एजुकेशन (सीबीएसई) ने प्रश्नपत्र में किसी तरह त्रुटि की स्थिति में छात्रों को परेशान न होने की सलाह दी है। साथ ही बोर्ड ने अपनी मार्किंग स्कीम की जानकारी दी है। इसके लिए सीबीएसई ने सभी परीक्षा केंद्रों को निर्देश दिए हैं कि वह परीक्षार्थियों से मिले फीडबैक को ऑनलाइन अपलोड कर दें। इसके माध्यम से देशभर के छात्र-छात्राओं को जानकारी मिल सकेगी। 


यदि किसी सवाल में गलती होती है या प्रिंट में कोई खामी है तो वह मार्किंग स्कीम तय करने वाली टीम को बताएं। सीबीएसई ने मार्किंग स्कीम को लेकर एक नीति है। कक्षा 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षा देश के लगभग 5000 परीक्षा केंद्रों और दुनिया में 25 देशों में आयोजित हो रही है। यदि परीक्षा के दिन प्रश्न पत्र में किसी तरह की त्रुटि देखी जाती है तो हम सभी केंद्रों से जानकारी लेते हैं। हम अपने माध्यम से भी जानकारी लेते हैं। इसके समाधान के लिए सीबीएसई ने प्रावधान किया है। 


इसके तहत परीक्षा के दिन विषय विशेषज्ञों से जानकारी ली जाएगी। इसके अलावा पेपर होने के 24 घंटे के भीतर सभी स्कूलों से प्रश्न पत्र के फीडबैक लिए जाएंगे। साथ ही हेल्पलाइन सेंटर पर आने वाली सूचनाओं को भी ध्यान में रखा जाता है। उसके बाद सभी टिप्पणियों को संकलित किया जाता है और मार्किंग स्कीम तैयार करने वाले समूह को दिया जाएगा। इससे कॉपी चेक करते समय छात्रों के अंकों में किसी तरह की हानि न पहुंचे। 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना