--Advertisement--

छतरपुर / संत बनकर प्रवचन दे रहा था प्रेमिका की हत्या का आरोपी



chaterpur news
X
chaterpur news

  • छतरपुर के नेवार गांव में कथा करते किया गिरफ्तार
  • पांच साल पुराना मामला, छत्तीसगढ़ पुलिस की कार्रवाई

Dainik Bhaskar

Dec 08, 2018, 12:13 PM IST

छतरपुर। पांच साल पहले लिव इन रिलेशन में रहने वाली प्रेमिका की हत्या करने वाले युवक को संत बनकर कथा बांचते हुए पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। उस समय वह संत हनुमान दास महाराज बनकर बकस्वाहा थाना क्षेत्र के नेवार गांव स्थित रामकुंडधाम में भारी संख्या में मौजूद भक्तों के बीच कथा का वाचन कर रहा था। गिरफ्तारी के बाद पुलिस छत्तीसगढ़ के भिलाई लेकर गई। पुलिस के मुताबिक रामनगर सुपेला निवासी आरोपी सुशील दुबे 18 अक्टूबर 13 को लिव इन में रहने वाली रीता साहू की हत्या करके फरार हो गया था। अपनी पहचान छुपाने के लिए इलाहाबाद के संगम तट पर जाकर साधू बन गया। 

गौरतलब है कि आरोपी युवक सुशील पिता श्याम दुबे, जो भिलाई में मौर्या टाॅकीज में गेट कीपर का काम करता था और स्थाई निवासी इलाहाबाद के पास जिला कौयांबी के बिगहरा का रहने वाला है। पुलिस मामले को जांच में लिए रही और छत्तीसगढ़ पुलिस को जानकारी लगी कि इलाहाबाद में संतों के बीच यह युवक रहता है, लेकिन पुलिस चिह्नित नहीं कर सकी। बाद में पता लगा कि देशभर में संत हनुमान दास बनकर कथाएं भी करने लगा था। करीब दो साल पहले सुशील परिवार के संपर्क में आया। इस बीच पुलिस को उसके साधू बनने की जानकारी हो गई। परिवार के कॉल डिटेल और उसके स्कैच के आधार पर खोजबीन करके पुलिस उस तक पहुंच गई। 

 

26 नवंबर से चल रही थी कथा : बकस्वाहा थाना क्षेत्र के नेवार गांव स्थित रामकुंडधाम में 26 नवंबर 18 से 4 दिसंबर 18 तक रामकथा का आयोजन किया गया। इसमें स्वयं के खर्चे पर आरोपी युवक हनुमानदास महाराज बनकर कथा का वाचन रहा था। पुलिस को जानकारी लगने पर छत्तीसगढ़ से उपनिरीक्षक पहुंचे और उन्होंने ट्रेस किया,फिर अधिक फोर्स बुलाया। टीम के आने के बाद जैसे ही कथा समाप्त हो रही थी कि पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया। इस दौरान उपस्थित लोगों में हड़कंप मच गया था। 

 

यह है मामला : बैकुंठपुर-कोरिया की रहने वाली थी युवती : भिलाई के एडिशनल एसपी सिटी विजय पांडेय ने बताया कि 5 साल पहले गायत्री मंदिर वार्ड 13 रामनगर पुलिस को एक बंद कमरे में युवती की लाश मिली थी। करीब सप्ताहभर पुरानी लाश की पहचान चर्चा कॉलोनी रूपनगर बैकुंठपुर कोरिया निवासी रीता साहू पिता तनगू साहू के रूप में हुई थी। तब तक आरोपी फरार हो चुका था। 

 

लिफ्ट देकर युवती के संपर्क में आया, पत्नी को छोड़ रहने लगा साथ : मामले के खुलासे में अहम भूमिका अदा करने वाले सीएसपी श्याम सुंदर शर्मा ने बताया कि भिलाई में रहने के दौरान आरोपी टैक्सी चलाने का काम करता था। एक दफा उसने कुम्हारी में किराए पर रहने वाली रीता साहू को लिफ्ट दी थी। इसके बाद से दोनों के बीच मेलजोल इतना बढ़ गया कि पहले आरोपी उससे कुम्हारी जाकर मिलने लगा। जब उसने उसके पास ही रहने की जिद करने लगी तो उसके लिए रामनगर में किराए पर मकान ले लिया। उस दौरान दोनों के बीच संबंध इतने मधुर हो गए कि पत्नी को छोड़कर उसके साथ ही रहने लगा। 

 

अवैध संबंध की जानकारी पर होने लगा विवाद : आरोपी सुशील ने पुलिस को बताया कि रीता के अवैध संबंध भी थे। इसी को लेकर एक दिन शराब के नशे में उससे विवाद हो गया। उस दौरान रीता भी नशे में थी। विवाद बढ़ने उसने रीता साहू का सिर दीवार से कई दफा पटकने से बेहोश होकर गिर पड़ी। इस पर कमरे का बाहर से ताला लगाकर फरार हो गया। 

Bhaskar Whatsapp
Click to listen..