--Advertisement--

फ्रीजर में पनीर, उबली दाल के साथ रखा मिला चिकन

एमपी नगर जोन-1 स्थित होटल रेसीडेंसी के किचन में फ्रीजर में मटर, पनीर, उबली दाल के साथ मटन एवं चिकन रखा मिला। किचन में...

Danik Bhaskar | Sep 11, 2018, 03:15 AM IST
एमपी नगर जोन-1 स्थित होटल रेसीडेंसी के किचन में फ्रीजर में मटर, पनीर, उबली दाल के साथ मटन एवं चिकन रखा मिला। किचन में काम करने वाले कर्मचारियों के बढ़े हुए नाखूनों में गंदगी मिली। साथ ही होटल की टंकी में कचरा मिला। होटल के टाॅयलेट के नजदीक ही खाने के बर्तन साफ किए जा रहे थे। इसके चलते वहां बदबू आ रही थी। यह खामियां सोमवार को खाद्य सुरक्षा अधिकारियों की टीम द्वारा होटल के निरीक्षण में सामने आई हैं। टीम के सदस्यों ने जांच के बाद होटल के जनरल मैनेजर अनुभव शर्मा को 14 दिन में इंतजाम सुधारने की हिदायत दी है।

एफडीए की डेजिग्नेटेड ऑफिसर और ज्वाइंट कलेक्टर श्वेता पंवार ने बताया कि राजधानी में होटल, रेस्तरां और डेयरी प्रोडक्ट की जांच की कराई गई। इसमें रेसिडेंसी की जांच खाद्य सुरक्षा अधिकारी भोजराज सिंह धाकड़ के साथ टीम ने की। होटल में बिल भी नहीं मिला है कि खाद्य सामग्री कहां से ली जा रही है। इन खामियों को देखते हुए होटल प्रबंधन को सुधार का नोटिस दिया गया है। विशेष अभियान के तहत खाद्य सुरक्षा अधिकारियों ने खाद्य पदार्थों के छह लीगल सैंपल लिए।

व्यवस्थाएं दुरुस्त करने के लिए होटल प्रबंधन को 14 दिन की मोहलत

वेज के साथ नॉनवेज

यहां भी मिली गड़बड़ी

अरेरा काॅलोनी स्थित होटल इलेवन हाइट में फूड सेफ्टी का डिस्प्ले बोर्ड नहीं था। खाद्य सामग्री का बिल भी नहीं था। होशंगाबाद रोड स्थित कृष्णा डेयरी परिसर में गंदगी थी। न्यू मार्केट स्थित पंजाबी हट में गंदगी के बीच खाद्य सामग्री बनाई जा रही थी। टीटी नगर स्थित राजस्थान मिष्ठान भंडार में कर्मचारियों ने हैड कवर और ग्लब्ज नहीं पहने थे। ग्वालियर गजक की दुकान में कर्मचारियों के नाखून गंदे थे। सभी को नोटिस जारी किए गए हैं।

व्यवस्थाएं ठीक कर दी हैं

रेसीडेंसी होटल के जनरल मैनेजर अनुभव शर्मा का कहना है कि जांच टीम को जो गड़बड़ियां मिली थीं और नोटिस में जो बातें कहीं हैं, उनके मुताबिक फ्रीजर बदल दिया गया है। बर्तनों की सफाई का स्थान भी बदल दिया गया है। कर्मचारियों की रोजाना मॉनिटरिंग के लिए टीम बना दी गई है। किचन में साफ-सफाई के बेहतर इंतजाम किए जा रहे हैं। इसकी रिपोर्ट एक दो दिन में अफसरों को दे देंगे।