• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • Chindwara's Mecca will get international recognition from Corn Festival; CM Kamal Nath will communicate with farmers

मप्र / कॉर्न फेस्टिवल से छिंदवाड़ा के मक्का को मिलेगी अंतर्राष्ट्रीय पहचान; सीएम करेंगे किसानों से संवाद

मुख्यमंत्री कमलनाथ मक्का किसानों के साथ चर्चा करेंगे। मुख्यमंत्री कमलनाथ मक्का किसानों के साथ चर्चा करेंगे।
छिंदवाड़ा में दो दिवसीय कॉर्न फेस्टिवल की शुरूआत शनिवार से हो रही है। छिंदवाड़ा में दो दिवसीय कॉर्न फेस्टिवल की शुरूआत शनिवार से हो रही है।
X
मुख्यमंत्री कमलनाथ मक्का किसानों के साथ चर्चा करेंगे।मुख्यमंत्री कमलनाथ मक्का किसानों के साथ चर्चा करेंगे।
छिंदवाड़ा में दो दिवसीय कॉर्न फेस्टिवल की शुरूआत शनिवार से हो रही है।छिंदवाड़ा में दो दिवसीय कॉर्न फेस्टिवल की शुरूआत शनिवार से हो रही है।

  • कॉर्न सिटी छिंदवाड़ा में होगा कॉर्न फेस्टिवल, कृषि वैज्ञानिक किसानों को देंगे मक्का की जानकारी 
  • फेस्टिवल 15 और 16 दिसंबर को होगा, देश और दुनिया से आ रहे हैं कृषि वैज्ञानिक और एक्सपर्ट

दैनिक भास्कर

Dec 13, 2019, 04:59 PM IST

भोपाल/छिंदवाड़ा. मध्य प्रदेश छिंदवाड़ा जिले को पहचान कभी सोयाबीन से होती थी, आज वही जिला मक्का उत्पादन के लिए पुरे देश में जाना जाता है। छिंदवाड़ा मध्य प्रदेश में सबसे ज्यादा मक्का उत्पादन करने वाला जिला तो है ही। देश के अग्रणी जिलों में भी शामिल है। छिंदवाड़ा को कॉर्न सिटी भी कहा जाने लगा है। इसकी पहचान को देश और दुनिया में ले जाने के लिए शनिवार 14-15 दिसंबर से दो दिवसीय कॉर्न फेस्टिवल की शुरुआत हो रही है।

कॉर्न फेस्टिवल में किसानों के साथ ही युवा उद्यमी, व्यापारी, उपभोक्ता, खाद्य व्यंजन निर्माता, शोधकर्ता, कृषि वैज्ञानिक, खाद्य उद्योगों से जुड़ी कंपनियां हिस्सा ले रहीं हैं। देश में अपनी तरह का अनोखा कॉर्न फेस्टिवल देश में छिंदवाड़ा में ही होता है, ये इसका दूसरा साल है।

कॉर्न फेस्टिवल में मुख्यमंत्री कमलनाथ भी हिस्सा लेंगे। फेस्टिवल का मकसद किसानों को मक्के की फसलों के प्रति जागरूकता लाने और इस बहाने छिंदवाड़ा को अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर पहचान दिलाने की है। फेस्टिवल में देश-विदेश के प्रसिद्ध वैज्ञानिक और एग्रीकल्चर एक्सपर्ट बताएंगे कि मक्के की पैदावार को और बेहतर कैसे किया जा सकता है। यहां पहुंचे उद्यमी किसानों को मक्के की फसल का ज्यादा से ज्यादा लाभ देने पर चर्चा करेंगे, जिससे उनके लिए खाद्य प्रसंस्करण यूनिट लगाने और ज्यादा से ज्यादा छोटे-बड़े उद्योगों की व्यवस्था हो सके और किसान अपना मक्के से लाभ कमा सकें। 

छिंदवाड़ा ने तैयार की नौ किस्में 
छिंदवाड़ा में तैयार हुई मक्का की 9 किस्में यह भी एक बड़ा कारण रहा है जिससे छिंदवाड़ा मक्का उत्पादन में लगातार तरक्की कर रहा है। इस बारे में जबलपुर कृषि कॉलेज के डीन डॉ. प्रदीप बिसेन ने कहा कि छिंदवाड़ा में मक्का अनुसंधान केंद्र खुलने के बाद यहां मक्के की नौ प्रजातियां विकसित हुई हैं। जिनका बीज देश के कोने-कोने में बोया जा रहा है। यहां के मुख्य वैज्ञानिक डॉ. वीके पराड़कर ने ही छह किस्मों की खोज की है। उन्होंने आगे कहा कि कृषि अनुसंधान केंद्र के शताब्दी वर्ष में मक्का पर केन्द्रित छिंदवाड़ा में कॉर्न फेस्टिवल के बाद मक्का पर और आधुनिक और वैज्ञानिक तरीके से काम होगा।

कॉर्न फेस्टिवल का दो दिवसीय शेड्यूल। 

कॉर्न फेस्टिवल से मक्का किसानों की तरक्की 
मक्के की उपयोगिता और लोकप्रियता को समझकर जिले में मक्के को बेहतर बाजार उपलब्ध कराने, मक्के का व्यावसायिक उपयोग बढ़ाने, मक्के से जुड़ी खाद्य प्रसंस्करण इकाइयों को जिले में स्थापित कराने और उन्नत कृषि तकनीक द्वारा जिले के किसानों को गुणवत्तापूर्ण मक्के के उत्पादन में सहयोग प्रदान करने के उद्देश्य से इस फेस्टिवल का आयोजन किया गया है। कॉर्न के उत्पादन व डिमांड के अनुसार उसकी खपत की रूपरेखा, कॉर्न क्वालिटी सुधार, कॉर्न आधारित खाद्य प्रसंस्करण उद्योगों की स्थापना की जानकारी के साथ कॉर्न से संबंधित महत्वपूर्ण जानकारियां दी गईं।

कॉर्न फेस्टिवल का कार्यक्रम शेड्यूल। 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना