• Hindi News
  • Mp
  • Bhopal
  • CM Kamal Nath said: The first benefit of loan waiver will be given only to the kin of farmers who commit suicide.

मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा... / कर्जमाफी का पहला फायदा आत्महत्या करने वाले किसानों के परिजनों को ही मिलेगा



मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा- हम भाजपा की तरह सपने नहीं दिखाएंगे। मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा- हम भाजपा की तरह सपने नहीं दिखाएंगे।
X
मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा- हम भाजपा की तरह सपने नहीं दिखाएंगे।मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा- हम भाजपा की तरह सपने नहीं दिखाएंगे।

  • सीएम बोले- कर्जमाफी के लिए जनता पर कोई टैक्स नहीं थोपेंगे 
  • स्मार्ट सिटी पर जनता की सुविधा के आधार पर ही फैसला करेंगे 

Dainik Bhaskar

Jan 18, 2019, 11:20 AM IST

भोपाल.  राज्य सरकार कृषि ऋण माफी का सर्टिफिकेट सबसे पहले उन किसान परिवारों को देगी जिनके परिजनों ने कर्ज के कारण अपना जीवन समाप्त किया है। सरकार का मानना है कि इसका फायदा सबसे पहले उन्हें ही मिलना चाहिए। यह बात मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कही। गुरुवार को उनकी सरकार का एक माह पूरा हुआ है। उन्होंने आगे कहा कि कर्जमाफी की फंडिंग के लिए हमारे पास पूरा प्लान है और इसके लिए हम जनता पर कोई नया टैक्स नहीं लगाएंगे। हम हर हाल में 22 फरवरी से पहले ऋण मुक्ति सर्टिफिकेट बांटना शुरू कर देंगे। 

 

ये भी पढ़ें

Yeh bhi padhein

 

उन्होंने कहा कि ऋण माफी की प्रक्रिया में फर्जी ऋण देने के कई मामले सामने आए हैं। हम इनकी जांच करवा रहे हैं और जो भी जिम्मेदार है, उन पर सख्त कार्रवाई करेंगे। यह पूछे जाने पर कि क्या आम चुनाव के चलते कर्जमाफी की प्रक्रिया धीमी होगी, इस पर मुख्यमंत्री ने कहा कि हम आचार संहिता को कर्जमाफी में आड़े नहीं आने देंगे। सारा कार्यक्रम इसी अाधार पर बनाया गया है। 


हम भाजपा की तरह सपने नहीं दिखाएंगे 
मीसाबंदियों की पेंशन पर यू-टर्न क्यों लिया इस सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि भाजपा ने इस बारे में दुष्प्रचार किया है। हमने कैग की आपत्ति पर इसे ज्यादा पारदर्शी बनाने और भौतिक सत्यापन कराने की बात की थी। हम इस पर कायम है, इसमें कुछ भी गलत नहीं है। मेट्रो प्रोजेक्ट के बारे में भी ऐसा ही दुष्प्रचार किया गया। हम भाजपा की तरह सपने नहीं दिखाएंगे और उसे जमीनी हकीकत में उतारने का प्रयास करेंगे। इसी तरह स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट का भी हम अध्ययन कर रहे हैं इसके नाम पर राशि के दुरुपयोग की समीक्षा करेंगे और जनता की सुविधा को ध्यान में रखकर निर्णय करेंगे।

 

मंत्रिमंडल विस्तार जब जरूरी होगा, तब करेंगे 
मंत्रिमंडल विस्तार पर उन्होंने कहा है कि अभी कोई चर्चा नहीं लिया। जब भी आवश्यक लगेगा, विस्तार करेंगे। सहयोगी दलों के दबाव पर पूछे गए सवाल पर उन्होंने कहा कि सभी ने हमें बिना शर्त समर्थन दिया है और उन्हें अपनी बात रखने का हक है लेकिन हम पर दबाव नहीं है। राज्यमंत्री नहीं बनाने की परंपरा हमारा सामूहिक निर्णय था और ऐसा नहीं है कि हमने इस परंपरा को समाप्त कर दिया है। 


दावोस के लिए आज दिल्ली रवाना होंगे कमलनाथ 

वर्ल्ड इकॉनोमिक फोरम के सम्मेलन में शामिल होने के लिए मुख्यमंत्री कमलनाथ शुक्रवार सुबह 11 बजे दिल्ली के लिए रवाना हो गए। इसी दिन रात वे दिल्ली से दावोस के लिए निकलेंगे। इस सम्मेलन में मुख्य सचिव एसआर मोहंती के साथ मुख्यमंत्री के प्रमुख सचिव अशोक वर्णवाल व मोहम्मद सुलेमान भी शिरकत करेंगे। 
 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना