विज्ञापन

लोसभा चुनाव की तैयारी / सीएम ने भोपाल, इंदौर को किया होल्ड, सतना और टीकमगढ़ लोकसभा सीट के लिए की रायशुमारी

Dainik Bhaskar

Feb 14, 2019, 02:52 AM IST


CM's suggestion for Satna and Tikamgarh Lok Sabha seats
X
CM's suggestion for Satna and Tikamgarh Lok Sabha seats
  • comment

  • मुख्यमंत्री कमलनाथ की लोकसभा प्रभारियों के साथ चर्चा
  • प्रत्याशियों के नामों पर चर्चा नहीं, बंद लिफाफे में दें नाम

भोपाल . कांग्रेस की 15 साल बाद सत्ता में हुई वापसी के बाद लोकसभा चुनाव लड़ने वालों की लंबी फेहरिस्त सामने आ रही है। हालात यह है कि भोपाल और इंदौर लोकसभा सीट को तो फिलहाल होल्ड कर दिया गया है, इन दोनों सीटों पर 21 फरवरी के बाद चर्चा होगी। मुख्यमंत्री कमलनाथ ने बुधवार को सतना और टीकमगढ़ लोकसभा सीट के प्रभारियों समेत प्रभारी मंत्री,  जिलाध्यक्षों, पूर्व मंत्री, पूर्व सांसदों, नगर पालिका के अध्यक्ष, प्रदेश कांग्रेस के पदाधिकारी और एआईसीसी के ऑब्जर्वर से चर्चा की। उन्होंने साफ कर दिया कि किसी भी नाम पर चर्चा नहीं होगी, जिसे संभावित प्रत्याशियों के नाम या सुझाव देना है, वे बंद लिफाफे में दे दें।
 

सर्वसम्मति : सतना से पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह को टिकट दिए जाने की पैरवी

  1. विधानसभा के पूर्व नेता प्रतिपक्ष और वरिष्ठ नेता अजय सिंह को सतना सीट से लोकसभा का टिकट दिए जाने की बात उपस्थित पदाधिकारियों ने कही। हालांकि सिंह बैठक में नहीं पहुंचे और उनकी अनुपस्थिति चर्चा का विषय रही। इस सीट से अजय सिंह के अलावा विधानसभा के पूर्व राजेेंद्र कुमार सिंह का नाम भी चर्चा में है। ये दोनों नेता पिछला विधानसभा चुनाव हार गए हैं। सीधी लोकसभा सीट से भी अजय सिंह और राजेंद्र सिंह के नाम पैनल में हैं, इसलिए दोनों नेताओं को पार्टी मौका दे सकती है। अजय सिंह के सतना से चुनाव लड़ाने पर राजेंद्र कुमार सिंह को सीधी से मैदान में उतारा जा सकता है।

  2. लंबे समय से नहीं जीती टीकमगढ़ सीट, हार का धब्बा हटाइए : सीएम

    मुख्यमंत्री ने कहा कि टीकमगढ़ लोकसभा सीट कांग्रेस लंबे समय से नहीं जीती है। इस सीट से कांग्रेस प्रत्याशी पर हार का धब्बा लगता रहा है। यह मौका है इस धब्बे को सभी मिलकर मिटाइए। इस सीट से आनंद अहिरवार, बर्खास्त आईएएस  अफसर शशि कर्णावत,  योगेंद्र योगी, कमलेश वर्मा के नामों पर विचार किया जा रहा है। चर्चा यह भी है कि भाजपा से सरकार में मंत्री रहे हरिशंकर खटीक भी कांग्रेस ज्वाइन कर सकते हैं, इसलिए पार्टी उन्हें भी चुनाव लड़ाने पर विचार कर सकती है।

  3. 16 लोकसभा सीटों का लेंगे फीडबैक

    नाथ की लोकसभा प्रभारियों के साथ शुरू हुई चर्चा 21 फरवरी तक चलेगी, इस दौरान प्रतिदिन दो लोकसभा सीटों के हिसाब से 16 लोकसभा सीटों को लेकर चर्चा होगी। इसी तारतम्य में गुरुवार को  बालाघाट और  उज्जैन लोकसभा सीट की चुनाव तैयारियों को लेकर चर्चा की जाएगी। इसके बाद   रीवा, मंदसौर, होशंगाबाद, धार, शहडोल, बैतूल, सागर, खरगौन, मंडला, रतलाम, दमोह तथा विदिशा लोकसभा सीट को लेकर चर्चा होगी।  फिलहाल छिंदवाड़ा, गुना, ग्वालियर, राजगढ़, देवास,  भोपाल, इंदौर, जबलपुर, भिंड, सीधी,  मुरैना, खजुराहो और खंडवा सीटों को होल्ड पर रखा गया है।

  4. लगातार दो चुनाव हारने वाले को टिकट न देने की योजना

    कांग्रेस ने लगातार दो लोकसभा चुनाव हारे किसी भी व्यक्ति को टिकट न देने की योजना बनाई है। इसमें खजुराहो से राजा पटेरिया दो बार और ग्वालियर से अशोक सिंह तीन बार चुनाव हार चुके हैं। इधर, राज्यसभा सांसदों और वर्तमान विधायकों को चुनाव मैदान में नहीं उतारने पर पहले ही सहमति बन चुकी है। विधानसभा में विधायकों की संख्या को देखते हुए संगठन कोई रिस्क नहीं लेना चाहती।

COMMENT
Astrology
Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें