--Advertisement--

भारत बंद: प्रदेश सरकार के मंत्री ने कहा- कांग्रेस के गुंडे करा रहे बंद, उज्जैन में पेट्रोल पंप में तोड़फोड़, कटनी में रेल रोकी

मप्र में भी व्यापारियों और आम जनता से अपने प्रतिष्ठान बंद रखने की अपील की गई है

Danik Bhaskar | Sep 10, 2018, 05:49 PM IST
कटनी में ट्रेन के इंजन के ऊपर चढ़े कांग्रेस कार्यकर्ता। कटनी में ट्रेन के इंजन के ऊपर चढ़े कांग्रेस कार्यकर्ता।

भोपाल। कांग्रेस ने पेट्रोल-डीजल की कीमतों में हो रही बढ़ोतरी और डॉलर के मुकाबले रुपए की गिरती कीमतों को लेकर सोमवार को भारत बंद आंशिक सफल रहा। कांग्रेस के बंद को लेकर प्रदेश सरकार के सहकारिता मंत्री विश्वास सारंग ने कहा है कि कांग्रेस के गुंडे जबरन बंद कराकर आम जनता को परेशान कर रहे हैं। उज्जैन में चिमनगंज मंडी के सामने पेट्रोल पंप पर कांग्रेसियों द्वारा तोड़फोड़ की गई। कटनी में रेल रोकी गई। कांग्रेसी पटरियों पर लेटे हुए हैं। सागर में भी पुलिस और कांग्रेस कार्यकर्ताओं की झड़प हुई।

नए भोपाल में इसका असर नजर नहीं आ रहा है, वहीं पुराने भोपाल में दुकाने जरूर बंद रहीं। कांग्रेस का दावा है कि 21 दलों ने बंद को समर्थन दिया है। बंद को लेकर शनिवार को पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने भोपाल में मार्च निकाला था। वहीं कमलनाथ भी व्यापारियों के साथ बैठक कर बंद की रणनीति बनाई थी। मुरैना में ही कमलनाथ के पोस्टर पर कालिख फेंकी गई है।

कमलनाथ ने की अपील

मध्य प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने भारत बंद पर लोगों से समर्थन की अपील करते हुए बीजेपी की केंद्र और राज्य सरकार पर जमकर हमला बोला है। उन्होंने आरोप लगाया है कि बीजेपी भारत बंद असफल करने में जुटी है। एमपी में किसी बड़े नेता के सड़क पर नहीं उतरने को लेकर उन्होंने कहा कि मेरी लहार में सभा है, मैं वहां जा रहा हूं। उन्होंने कहा कि सरकार और बीजेपी जनता की आवाज नहीं सुन रही है। तोड़फोड़ की खबरों पर कमलनाथ ने कहा कि हम तोड़फोड़ की घटना की निंदा करते हैं।

नेताओं के पोस्टरों पर कालिख लगाई

मप्र में बंद को सफल बनाने के लिये पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह, कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ, ज्योतिरादित्य सिंधिया और नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह सहित तमाम नेताओं ने मोर्चा संभाला हुआ है। कांग्रेसियों द्वारा लोगों से बंद की अपील की जा रही है। वही कई जगहों पर नेताओं के पोस्टरों पर कालिख फेंकी गई है। भोपाल के एमपी नगर स्थित बोर्ड ऑफिस चौराहे पर कुछ लोगों ने बीजेपी और कांग्रेस नेताओं के चित्रों पर कालिख पोत कर विरोध जताया है। मुरैना में भी पीसीसी चीफ कमलनाथ के पोस्टरों पर कालिख पोती गई है।

बंद कराए गए पेट्रोल पंप

मप्र में भी सुबह से ही कई शहरों में इसका असर देखने को मिला। कई स्थानों पर बसें नही चली। बंद का सबसे ज्यादा असर मालवा-निमाण रहा। यहां बाजार पूरी तरह से बंद रहे। बसें भी नहीं चल रही हैं। भोपाल में कांग्रेस द्वाला जबरदस्ती पेट्रोल पंप बंद कराए गए।

कटनी में पटरियों पर लेटे कार्यकर्ता। कटनी में पटरियों पर लेटे कार्यकर्ता।
उज्जैन में पेट्रोल पंप पर तोड़फोड़ करते कांग्रेसी। उज्जैन में पेट्रोल पंप पर तोड़फोड़ करते कांग्रेसी।
मुरैना में कमलनाथ के पोस्टर पर कालिख फेंकी गई। मुरैना में कमलनाथ के पोस्टर पर कालिख फेंकी गई।
मुख्यमंत्री का मुखौटा लगाकर प्रदर्शन करते कांग्रेसी। मुख्यमंत्री का मुखौटा लगाकर प्रदर्शन करते कांग्रेसी।
सागर में प्रदर्शन करते कांग्रेसी। सागर में प्रदर्शन करते कांग्रेसी।
सागर में बंद हैं पेट्रोल पंप। सागर में बंद हैं पेट्रोल पंप।