पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • Digvijay Singh: Congress Digvijay Singh Writes To PM Narendra Modi On Ayodhya Ram Mandir Trust Member

दिग्विजय ने मोदी को चिट्ठी लिखकर पूछा- कोर्ट जिन्हें अपराधी मानता है, उन्हें राम मंदिर निर्माण ट्रस्ट में शामिल क्यों किया गया?

5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह ने मंदिर निर्माण ट्रस्ट के गठन को लेकर सवाल उठाए हैं।
  • दिग्विजय ने पूर्व प्रधानमंत्री नरसिम्हा राव के कार्यकाल बना रामालय ट्रस्ट का हवाला देकर नए ट्रस्ट पर सवाल उठाए
  • पूर्व मुख्यमंत्री ने शंकराचार्य के 4 के बजाए 5 मठ बताए, बोले- इनमें से किसी शंकराचार्य को रखा जाना था
Advertisement
Advertisement

भोपाल. मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए गठित रामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट लेकर सवाल उठाए हैं। इस संबंध में उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को 2 पेज का पत्र लिखकर कई बिंदुओं पर आपत्ति जताई है। उन्होंने ट्रस्ट के गठन और इसमें शंकराचार्य को शामिल नहीं किए जाने पर आपत्ति जताई। पूछा- एक धार्मिक ट्रस्ट में अपराधी और सरकारी लोगों का क्या काम है? दिग्विजय ने अपनी चिट्ठी में हवाला दिया कि आरएसएस भगवान रामचंद्रजी को भगवान का अवतार नहीं मानती है। उन्हें मर्यादा पुरुष ही मानती है और उनका स्मारक बनाना चाहती है। सनातन धर्म में रामचंद्र भगवान के अवतार हैं। उनमें करोड़ों लोगों की आस्था है। 

ये भी पढ़े
शंकराचार्य स्वरूपानंद बोले- पीएम मोदी ने जिन वासुदेवानंद को ट्रस्ट में जगह दी, वह शंकराचार्य तो दूर संन्यासी भी नहीं
दिग्विजय ने पत्र में लिखा है कि पूर्व प्रधानमंत्री नरसिम्हा राव के कार्यकाल के दौरान रामालय ट्रस्ट का गठन किया जा चुका है। इसलिए मंदिर के लिए दोबारा ट्रस्ट बनाने का औचित्य क्या है? उन्होंने नए ट्रस्ट में शंकराचार्य स्वरूपानंद सरस्वती को शामिल नहीं किए जाने पर सवाल उठाए। सिंह ने कहा- "वासुदेवानंद को शंकराचार्य के तौर पर शामिल किया जाना गलत है, क्योंकि उन्हें कोर्ट के फैसले के बाद शंकराचार्य पद से हटाया जा चुका है।" 

दिग्विजय ने शंकराचार्यों के 4 के बजाए 5 मठ बता दिए 
दिग्विजय ने अपने पत्र में कहा- द्वारका और ज्योतिर्मठ के शंकराचार्य जगतगुरु स्वामी स्वरूपानंद ने अपने वक्तव्य में जो कहा है, वह संलग्न है। देश में सनातन धर्म के 5 शंकराचार्य के पीठ हैं। उनमें से ही ट्रस्ट का अध्यक्ष बनाना उपयुक्त होता, जो नहीं हुआ। उन्होंने सुझाव दिया है कि सनातन धर्म के 5 शंकराचार्यों में से किसी एक को ट्रस्ट का अध्यक्ष बनाना चाहिए था। हालांकि, देश में शंकराचार्य के 4 ही पीठ हैं, जिनकी संख्या को दिग्विजय ने अपने पत्र में 5 बताया है। हालांकि उन्होंने पांचों मठों के नाम नहीं बताए हैं। 

देश में शंकराचार्य द्वारा स्थापित 4 मठ ये हैं - 

  1. उत्तराम्नाय मठ या उत्तर मठ, ज्योतिर्मठ जो कि जोशीमठ में स्थित है।
  2. पूर्वाम्नाय मठ या पूर्वी मठ, गोवर्धन मठ जो कि पुरी में स्थित है।
  3. दक्षिणाम्नाय मठ या दक्षिणी मठ, शृंगेरी शारदा पीठ जो कि शृंगेरी में स्थित है।
  4. पश्चिमाम्नाय मठ या पश्चिमी मठ, द्वारिका पीठ जो कि द्वारिका में स्थित है।

मंदिर के लिए दिए गए चंदे का हिसाब मांगा 
दिग्विजय ने कहा कि राम मंदिर के भव्य निर्माण के लिए आंदोलन में करोड़ों लोगों ने भाग लिया था और बड़े तौर पर चंदा दिया। इसका हिसाब आज तक जनता के सामने नहीं रखा गया। तब आयकर विभाग का नोटिस दिया गया था। उस समय नोटिस देने वाले अधिकारी के खिलाफ कार्रवाई हो गई थी। जिन करोड़ों दानदाताओं ने मंदिर निर्माण के लिए दान दिया है, उसका 28 वर्षों का ब्याज समेत हिसाब उन्हें मिलना चाहिए। 

ट्रस्ट में शामिल कुछ सदस्यों को लेकर आपत्ति 
दिग्विजय को ट्रस्ट में शामिल कुछ और नामों पर भी आपत्ति है। उनका कहना है ऐसे लोगों को ट्रस्ट में रखा गया जो बाबरी मस्जिद प्रकरण में आरोपी हैं। उन्होंने ट्रस्ट में सरकारी अधिकारियों को मनोनीत को भी गलत बताया।  सिंह ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के अयोध्या में भगवान राम की भव्य और विशाल मूर्ति बनाने के ऐलान को भी गलत बताया। सिंह ने लिखा- उनकी यह घोषणा सनातन धर्म की परंपराओं के खिलाफ है। उन्होंने कहा कि मैं रामालय ट्रस्ट और आपके द्वारा गठित ट्रस्ट में सदस्यों की सूची भेज रहा हूं। आप स्वयं देख सकते हैं तुलनात्मक दृष्टि से कौन-सा न्यास धार्मिक है और कौन-सा राजनैतिक है? 

इन नामों पर आपत्ति

  • चंपत राय- विश्व हिंदू परिषद के प्रांतीय उपाध्यक्ष हैं। विहिप का सनातन धर्म से कोई लेना-देना नहीं है।
  • अनिल मिश्रा- अयोध्या में एक होम्योपैथिक डॉक्टर हैं। आरएसएस के प्रांत कार्यवाहक हैं।
  • कामेश्वर चौपाल- बिहार भाजपा के वरिष्ठ नेता हैं।
  • गोविंद देव गिरि- संघ के पुराने प्रचारक रहे हैं।
Advertisement
0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज पिछले समय से आ रही कुछ पुरानी समस्याओं का निवारण होने से अपने आपको बहुत तनावमुक्त महसूस करेंगे। तथा नजदीकी रिश्तेदार व मित्रों के साथ सुखद समय व्यतीत होगा। घर के रखरखाव संबंधी योजनाओं पर भ...

और पढ़ें

Advertisement