पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कांग्रेस के घोषणा पत्र में शराब बंदी का हो सकता है ऐलान

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • गुजरात, बिहार, केरल की शराबबंदी पॉलिसी पर कराया अध्ययन
  • राहुल गांधी को सौंपने से पहले गणेशजी के चरणों में रखा गया वचन पत्र

भोपाल। कांग्रेस का घोषणा पत्र (वचन पत्र) तैयार हो चुका है। पार्टी इसमें मध्य प्रदेश में पूर्ण शराब बंदी का वादा कर सकती है। कांग्रेस के टारगेट पर प्रदेश की पचास फीसदी महिला मतदाता हैं। पिछले विधानसभा चुनाव महिला मतदाताओं का झुकाव भाजपा की ओर था। 17 सितंबर को पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी भोपाल आ रहे हैं उसी दिन ये वचन पत्र उन्हें सौंपा जाएगा। 

 

 

कांग्रेस के उच्च पदस्थ सूत्रों का कहना है कि चुनावी घोषणा पत्र को हमने वचन पत्र नाम दिया है। इसका सीधा सा मतलब है कि हम चुनाव जीतने के लिए कोई घोषणा नहीं कर रहे हैं बल्कि वचन दे रहे हैं कि सरकार बनने पर वचन पत्र में दिए गए काम करेंगे। 

 

दस हजार करोड़ का नुकसान : कांग्रेस ने गुजरात, बिहार और केरल की शराबबंदी पॉलिसी का वित्त से जुड़े जानकार लोगों को वहां भेजकर अध्ययन कराया है। नतीजा सकारात्मक आया है। शराबबंदी से प्रदेश को करीब दस हजार करोड़ के राजस्व के नुकसान होने का अनुमान हैं, लेकिन दूसरे विकल्पों को लागू कर इसकी भरपाई की जा सकती है। गणेश चतुर्थी के दिन वचन पत्र समिति के अध्यक्ष राजेन्द्र सिंह और सांसद विवेक तन्खा ने इसकी कॉपी प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ को सौंप दी है।  


भावांतर और संबल की वजह से बदलना पड़ा प्लान : मंदसौर में किसान आंदोलन के एक साल पूरे होने पर राहुल गांधी ने किसानों से कर्ज माफी का वादा किया था। इसी तरह बिजली बिल माफी का मुद्दा जनता तक पहुंचाया गया। प्रदेश की भाजपा सरकार द्वारा भावांतर योजना और धान के समर्थन मूल्य को लेकर दिखाई गई उदारता और असंगठित मजदूरों के लिए तैयार की गई संबल योजना को देखते हुए कांग्रेस को अपना प्लान बदलना पड़ा।

 

ये लोग वचन पत्र कमेटी में : राहुल गांधी ने विधानसभा उपाध्यक्ष राजेन्द्र कुमार सिंह को वचन पत्र कमेटी का अध्यक्ष नियुक्त किया था। सांसद विवेक तन्खा, नरेंद्र नाहटा और मीनाक्षी नटराजन को इसका सदस्य बनाया गया था।  


ये होंगे प्रमुख मुद्दे
- प्रदेश में पेट्रोल पांच रुपए और डीजल तीन रुपए प्रति लीटर तक सस्ता किया जाएगा। इसके लिए वैट की दरों में कमी की जाएगी।
- व्यापंम की परीक्षाओं की फीस छात्रों को वापस की जाएगी।
- शिवराज सरकार के 200 रुपए बिजली बिल के जवाब में 100 रुपए प्रतिमाह के फिक्स चार्ज पर अनलिमिटेड बिजली का वादा।
- एक किलो वाट से अधिक भार का उपयोग करने वालों की बिजली की दरें आधी की जाएगी। 
-बेरोजगारों को हर महीने 4000 हजार रुपए बेरोजगारी भत्ता दिया जाएगा।


वचन पत्र को रखा गया गणेशजी के चरणों में

राजेन्द्र सिंह ने गणेश चतुर्थी के दिन वचन पत्र प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ को सौंपा। लेकिन उन्होंने इससे पहले वचन पत्र को गणेशजी के चरणों में रख पूजा की। 17 सितंबर को कमलनाथ इसे भोपाल में आयोजित कार्यक्रम में पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी को सौंपेगे। 

 

खबरें और भी हैं...