--Advertisement--

बलवा / कॉलेज में जूनियर्स ने सीनियर छात्रों को दौड़ा-दौड़ाकर पीटा, एक के सिर में गंभीर चोट



टीआईटी कॉलेज में छात्रों के बीच मारपीट का वीडियो वायरल। टीआईटी कॉलेज में छात्रों के बीच मारपीट का वीडियो वायरल।
X
टीआईटी कॉलेज में छात्रों के बीच मारपीट का वीडियो वायरल।टीआईटी कॉलेज में छात्रों के बीच मारपीट का वीडियो वायरल।

  • टीआईटी कॉलेज में दो दिन पहले हुआ था विवाद, पहले समझौता अब एफआईआर
  • मोबाइल फोन पर भेजे गए मैसेज को लेकर छात्रों के बीच शुरू हुआ था विवाद

Dainik Bhaskar

Oct 13, 2018, 02:36 AM IST

भोपाल.  रायसेन रोड के पटेल नगर स्थित टीआईटी कॉलेज में दो छात्र गुटों में जमकर मारपीट हुई। घटना बुधवार सुबह की है। मामले में शुक्रवार को पिपलानी पुलिस ने केस दर्ज कर लिया है। इससे पहले दोनों पक्षों में समझौता कर लिया था। वायरल हुए वीडियो में आरोपी छात्र दूसरे गुट के छात्रों को दौड़ा-दौड़ा कर पीटते नजर आ रहे हैं। शुरुआती जांच में सामने आया है कि विवाद मोबाइल फोन पर भेजे गए एक मैसेज को लेकर शुरू हुआ था।

 
कोलार निवासी जितेंद्र कुमार टीआईटी कॉलेज में बीई चतुर्थ वर्ष का छात्र है। एसआई नागेंद्र शुक्ला के मुताबिक जितेंद्र ने पुलिस को बताया है कि बीते बुधवार सुबह साढ़े 11 बजे वह अपने दोस्त उत्कर्ष शुक्ला के साथ कॉलेज परिसर में खड़ा था, तभी पीछे से आए जूनियर छात्रों सत्य प्रकाश, अंकित राज, राकेश समेत अन्य युवकों ने डंडे से हमला कर दिया। आरोपी उन्हें ताबड़तोड़ पीटने लगे। हमले से बचने के लिए हम दोनों अलग-अलग दिशाओं में भागे, लेकिन आरोपियों ने दोनों को घेर लिया।

 

इस हमले में उत्कर्ष के सिर पर गंभीर चोट आई है। जबकि चार से ज्यादा छात्र घायल हो गए हैं। कॉलेज के ही एक छात्र ने घटना का वीडियो मोबाइल फोन से बना लिया, जो शुक्रवार को वायरल किया गया है। वारदात के बाद उत्कर्ष को पास के ही एक निजी अस्पताल में भर्ती करवाया गया। अस्पताल की सूचना पर पहुंची पिपलानी पुलिस से उत्कर्ष और उसके परिवार ने कोई कार्रवाई न करने की बात कही। 
 

शुक्रवार को थाने पहुंचे पिता ने दर्ज करवाया केस : शुक्रवार को कोलार निवासी उत्तम प्रसाद पिपलानी थाने पहुंचे और अपने बेटे उत्कर्ष के साथ मारपीट की सूचना दी। पुलिस ने जितेंद्र की शिकायत पर सत्य प्रकाश, अंकित और राकेश समेत अन्य के खिलाफ मारपीट, धमकाने का केस दर्ज कर लिया।

 

जितेंद्र ने बताया कि आठ अक्टूबर को भी दोनों पक्षों में विवाद हुआ था। हालांकि, उस वक्त कॉलेज प्रबंधन ने दोनों के बीच समझौता करवा दिया था। पुलिस को पता चला है कि मोबाइल फोन पर हुए मैसेज को लेकर दोनों पक्ष भिड़े थे। असल वजह आरोपियों के पकड़े जाने के बाद ही पता चलेगी।

Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..