--Advertisement--

मध्यप्रदेश / पुलिस पर मिर्च फेंककर हत्या के आरोपी को ले भागे, रायफलें लूटीं, एक सिपाही भी अगवा



जानकारी देते घायल पुलिस कर्मी। जानकारी देते घायल पुलिस कर्मी।
भीम यादव। भीम यादव।
X
जानकारी देते घायल पुलिस कर्मी।जानकारी देते घायल पुलिस कर्मी।
भीम यादव।भीम यादव।

  • भिंड से पेशी कराकर ग्वालियर लौट रही थी भोपाल पुलिस
  • आरोपी भीम यादव के भाई ने साथियों की मदद से किया पुलिस पर हमला
     

Dainik Bhaskar

Dec 08, 2018, 11:19 AM IST

ग्वालियर/ भिंड .भोपाल जेल से पेशी पर भिंड लाए गए हत्या के आरोपी भीम यादव को उसका भाई अपने साथियों की मदद से पुलिस टीम पर हमला कर छुड़ा ले गया। दो गाड़ियों में सवार होकर आए हमलावरों ने पुलिसकर्मियों की आंखों में मिर्ची झोंकी और उनकी जमकर पिटाई की। हत्या के आरोपी को उनकी हिरासत से छुड़ाया और पुलिसकर्मियों की 2 इनसास रायफलें लूट लीं। हमलावर एक सिपाही का भी अपहरण कर ले गए। यह सनसनीखेज घटना शुक्रवार रात 8 बजे ग्वालियर के महाराजपुरा थाने से करीब 3 किमी दूर लक्ष्मणगढ़ की पुलिया पर हुई।

 

घायल पुलिसकर्मियों को इलाज के लिए जेएएच में भर्ती किया गया है। ग्वालियर पुलिस ने हमलावर और फरार कैदी की तलाश में शहर व उप्र, राजस्थान की सीमा पर नाकाबंदी कर दी है। आरोपी भीम यादव को 30 सितंबर को ग्वालियर जेल से भोपाल जेल में शिफ्ट किया गया था। भीम पर भिंड में 2 फरवरी 2017 में डीजे के गार्ड राजेंद्र यादव की हत्या का मामला दर्ज है।  शुक्रवार सुबह भोपाल पुलिस के हवलदार मायाराम के नेतृत्व में तीन सिपाही प्रमोद यादव, विवेक शर्मा और हकीम खान हत्यारोपी भीम यादव को लेकर ट्रेन से ग्वालियर आए थे। यहां से सड़क मार्ग से वे उसे भिंड कोर्ट में पेशी के लिए ले गए। पेशी कराने के बाद शाम को उसे लेकर ग्वालियर लौट रहे थे। पुलिसकर्मियों ने एक गाड़ी ग्वालियर के लिए किराए पर ली थी। 

 

यहां से उन्हें ट्रेन से भोपाल जाना था। बताते हैं कि रात करीब आठ बजे लक्ष्मणगढ़ पुलिया से 300 मीटर दूर ड्राइवर ने टॉयलेट के लिए गाड़ी रोक दी। इसी समय काले रंग की स्कॉर्पियो और सफेद रंग की एसयूवी एचआर 26 सीटी 5739 में सवार 12 से अधिक हथियारबंद बदमाश वहां आ धमके। इनमें भीम यादव का भाई देवेंद्र सिंह भी शामिल था।

 

बदमाशों ने तीनों पुलिसकर्मियों मायाराम, विवेक शर्मा और हकीम खान की आंखों में मिर्ची झोंक दी और उनकी जमकर पिटाई की। इस दौरान हड़बड़ाए पुलिसकर्मी कुछ समझ नहीं पाए। हमलावर दो पुलिसकर्मियों की इनसास रायफल लूटने के साथ ही पुलिसकर्मी प्रमोद यादव को अगवा कर अपने साथ ले गए। हमलावर भीम व प्रमोेद को लेकर भिंड की ओर भाग गए। हमलावर जिन दो गाड़ियों में सवार होकर आए थे, उनमें से एक गाड़ी भीम यादव के पिता जितेंद्र की बताई जा रही है।

 

कौन है भीम यादव : पुलिस गिरफ्त से फरार हुए भीम यादव पर भिंड जिले के अलग-अलग थानों में हत्या, हत्या के प्रयास व मारपीट के 17 मामले दर्ज हैं। भीम पर भिंड पुलिस की ओर से कई बार इनाम घोषित किया गया था। भीम की पत्नी अहमदपुर पंचायत में सरपंच भी रह चुकी है। 2015-16 में भीम यादव की शिकायत पर दो पुलिस अधिकारियों पर कार्रवाई की गई थी। उसके पुलिस अफसरों के साथ भी गहरे ताल्लुकात रहे हैं। 

Bhaskar Whatsapp
Click to listen..