• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • Raid In Gwalior Bhind; Lokayukta Raid at MP PHE Nagar Palika Cashier Narendra Singh Bhadoria, disproportionate assets seized

लोकायुक्त दबिश / मकान सहित तीन अलग-अलग ठिकानों पर दबिश, पीएचई का कैशियर बोला - कार्रवाई, उसके खिलाफ साजिश

भदौरिया के घर जांच करती टीम। भदौरिया के घर जांच करती टीम।
भदौरिया ने कार्रवाई को साजिश बताया। भदौरिया ने कार्रवाई को साजिश बताया।
X
भदौरिया के घर जांच करती टीम।भदौरिया के घर जांच करती टीम।
भदौरिया ने कार्रवाई को साजिश बताया।भदौरिया ने कार्रवाई को साजिश बताया।

  • ग्वालियर लोकायुक्त की 21 सदस्यीय टीम ने मंगलवार देर रात पुलिस की मौजूदगी में दी दबिश
  • भदौरिया बोले - एक अधिकारी के घर के पास मकान लिया, इसी को लेकर पूरी लड़ाई है

दैनिक भास्कर

Mar 18, 2020, 01:26 PM IST

भिंड. ग्वालियर लोकायुक्त पुलिस ने मंगलवार रात नगर पालिका के पीएचई विभाग में कैशियर के पद पर पदस्थ नरेंद्र सिंह भदोरिया के घर पर दबिश दी। भदाैरिया के खिलाफ आय से अधिक संपत्ति की शिकायत मिलने के बाद 21 सदस्यीय टीम घर सहित तीन अलग-अलग ठिकानों पर कार्रवाई के लिए पहुंची है। प्रारंभिक पड़ताल में टीम काे जमीन, दाे मकान, साेने-चांदी के जेवर और कुछ नकदी मिली है। अधिकारियों के मुताबिक आरोपी के पास करीब एक करोड़ से ज्यादा की संपत्ति होने की संभावना है। वहीं, भदाैरिया ने कार्रवाई पर सवाल उठाते हुए कहा कि यह सब रंजिश के चलते करवाई जा रही है। क्योंकि मैंने एक अधिकारी के घर से सटा एक मकान खरीदा है, उसके गेट को को लेकर यह पूरा मामला है।

लोकायुक्त पुलिस के अनुसार कुछ समय पहले शिकायत मिली थी कि नगर पालिका पीएचई में कैशियर के पद पर पदस्थ कर्मचारी नरेंद्र सिंह भदौरिया के पास आय से अधिक संपत्ति है, जिसके बाद मंगलवार रात करीब ढाई बजे ग्वालियर लोकायुक्त की टीम ने पुलिस बल और जिला प्रशासन के अधिकारियों के साथ आरोपी के वाटर वर्क्स शक्तिनगर स्थित मकान समेत 3 अलग-अलग ठिकानों पर छापा मारा। शक्ति नगर स्थित मकान से तमाम दस्तावेज मिले हैं, जिनमें संपत्ति और बैंक खाते शामिल हैं। वहीं, कई तोला सोने और चांदी के जेवरात भी मिले हैं। साथ ही एक मैरिज गार्डन और भदौरिया के एक अन्य घर पर भी कार्रवाई जारी है।

भदौरिया का आरोप - रंजिश के चलते फंसाने की कोशिश
मामले में भदौरिया का कहना है कि नौकरी करते उन्हें 38 साल हो चुके हैं। उनके पास जो भी पैतृक संपत्ति थी, उसे बेचकर उन्होंने एक मकान खरीदा है, लेकिन उसी मकान के चलते उनके पड़ोसी से विवाद चल रहा है, जो धार जिले में अधिकारी के पद पर पदस्थ हैं। कई बार मकान को लेकर धमकियां देते रहते हैं कि इतने केस लगवा देंगे कि समझ आ जाएगा। उसी के चलते इस तरह से केस बनवा कर कार्रवाई कर फंसाया जा रहा है।

लोकायुक्त बोली - एक करोड़ से ज्यादा की संपत्ति
वहीं, मामले को लेकर लोकायुक्त डीएसपी राघवेंद्र सिंह तोमर का कहना है कि आरोपी के खिलाफ शिकायत मिली थी। जांच में कई बैंक खाते मिले हैं। साथ ही संपत्ति और घर से मिले सामान का मूल्यांकन भी जारी है। बैंक खातों की जानकारी मिलने के बाद ही स्थिति स्पष्ट हो पाएगी। अब तक की कार्रवाई में करीब एक करोड़ रुपए की संपत्ति मिलने का अनुमान है।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना