मप्र का सियासी ड्रामा / भाजपा विधायकों को दिनभर गुड़गांव भेजने की चर्चा रही, रात में सीहोर के रिसॉर्ट में भेजा

सीहोर के भाजपा पदाधिकारियों को 15 मिनट पहले दी विधायकों के आने की सूचना।
X

  • सीहोर के 2 रिसॉर्ट में कुल 54 कमरे बुक, 106 विधायक पहुंचे
  • आज फ्लोर टेस्ट की उम्मीद में पदाधिकारियों ने बदला प्लान

दैनिक भास्कर

Mar 17, 2020, 02:08 PM IST

सीहोर/भोपाल. दिनभर चले सियासी ड्रामे के बाद सोमवार रात 8.30 बजे भाजपा ने अपनी सभी 106 विधायक गुड़गांव की बजाय सीहोर के ग्रेसेस रिसोर्ट में शिफ्ट कर दिए। दिनभर इन विधायकों को गुड़गांव भेजने की तैयारी चल रही थी, लेकिन रात के समय अचानक इन्हें गुड़गांव न भेजते हुए सीहोर शिफ्ट कर दिया गया। स्थानीय भाजपा पदाधिकारियों को 15 मिनट पहले ही इन विधायकों के सीहोर पहुंचने की सूचना दी गई। कोई अप्रिय घटना न हो, इसके लिए यहां पुलिस बल तैनात किया गया है।

सुबह से ये सूचना थी कि सिंधिया समर्थक विधायक बेंगलुरु से सीहोर के क्रिसेेंट रिसोर्ट में शिफ्ट हो रहे हैं। इसी के चलते वहां पुलिस तैनात की गई थी पर देर शाम तक वहां कोई नहीं पहुंचा था। सोमवार को ही भाजपा ने अपने सभी 106 विधायकों को गुड़गांव पहुंचाने का निर्णय लिया। लेकिन ताबड़तोड़ में रात 8 बजे भाजपा ने सभी विधायकों को सीहोर शिफ्ट करने का निर्णय लिया। ऐसे में रात 8.30 बजे तीन बसों में सभी को सीहोर पहुंचाया गया।

रात 10:17 बजे पहुंचे शिवराज 
विधायकों के पहुंचने के करीब डेढ़ घंटे बाद शिवराज सिंह चौहान भी सीहोर पहुंचे। उनके बाद गोपाल भार्गव भी रिसॉर्ट पहुंचे। शिवराज के पहुंचते ही कार्यकर्ता उनके समर्थन में नारेबारी करने लगे।

रविवार रात से... यहां तैनात था पुलिस बल
रविवार रात से ही ऐसी अटकलें लगाई जा रही थीं कि सभी विधायकों को सीहोर के क्रिसेंट रिसोर्ट में शिफ्ट किया जाएगा। ऐसे में रविवार रात 12 बजे से ही यहां पुलिस बल तैनात कर दिया गया था लेकिन शाम तक कोई नहीं आया।

देर रात...कुछ विधायकों को दूसरे रिसॉर्ट में भेजा
भाजपा पहले क्रिसेंट में ही सभी विधायकों को रोकना चाहती थी लेकिन वह बुक था। ऐसे में ग्रेसेस रिसॉर्ट में सभी विधायकों को रोका गया लेकिन यहां सिर्फ 50 रूम ही हैं। ऐसे में क्रिसेंट में भी चार रूम बुक किए गए। कुछ विधायकों को यहां शिफ्ट किया गया। 

इसलिए... सीहोर में रोका अपने विधायकों को 
भाजपा सभी विधायकों को गुड़गांव भेजने की तैयारी में थी। अनुमान लगाया जा रहा है कि राज्यपाल की मंशा के तहत मंगलवार को कमलनाथ सरकार फ्लोर टेस्ट करवा सकती है। ऐसे में भाजपा ने सभी विधायकों को सीहोर में ही रखने का निर्णय लिया।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना