--Advertisement--

दीपावली / बहरीन से मंगाए वस्त्र से बने परिधान पहनेंगी महालक्ष्मी, गुलाब के सिंहासन पर विराजेंगी

करुणाधाम स्थित महालक्ष्मी मंदिर में दीपावली पर विशेष पूजा

diwali pujan 2018 in karunadham tample bhopal
X
diwali pujan 2018 in karunadham tample bhopal

Dainik Bhaskar

Nov 04, 2018, 04:47 PM IST

भोपाल। धन, वैभव और समृद्धि की देवी महालक्ष्मी के पांच दिवसीय पर्व की तैयारियां शुरू हो गई हैं। नेहरू नगर करुणाधाम स्थित महालक्ष्मी मंदिर में विशेष साज-सज्जा की जा रही हैं। देवी महालक्ष्मी का दीपावली के दिन विशेष शृंंगार किया जाएगा। इसके लिए बहरीन से खास तरह का कपड़ा मंगाया गया है। डिजायनर परिधान के लिए सूरत से लेस मंगाई गई है।

 

महालक्ष्मी के मंदिर को न सिर्फ लाल गुलाब से सजाया जाएगा, बल्कि वे गुलाब के सिंहासन पर भी विराजेंगी। मंदिर में धनतेरस से अन्नकूट तक विशेष पूजा-अर्चना और अभिषेक किए जाएंगे। इस अवसर पर यहां बड़ी संख्या में श्रद्धालु पहुंचते हैं। 

ganesh

बहरीन से कपड़ा मंगाया: करुणाधाम महालक्ष्मी मंदिर समिति के सदस्य अजय कोतवाल ने बताया कि देवी महालक्ष्मी के परिधान दीपावली के दिन दो बार बदले जाएंगे। सुबह मां के पीच कलर के वस्त्र धारण करेंगी, वहीं महाआरती के समय मैरून कलर की। दोनों परिधान के लिए बहरीन से कपड़ा मंगाया गया है। लेस और जरदोजी के लिए सामान सूरत से बुलाया गया है। महालक्ष्मी के मंदिर की साज-सज्जा की थीम रेड रहेगी। अन्य मंदिरों के गुंबद अलग-अलग कलर की लाइटिंग की जाएगी। मंदिर परिसर में लगे पेड़ों पर हरे रंग की लाइटिंग की जाएगी। 

ganesh

पहनाए जाएंगे सोने के पारंपरिक गहने : महालक्ष्मी काे सोने के पारंपरिक गहने पहनाए जाएंगे। इस बार माथे के बिंदा आकर्षण का केंद्र रहेगी। मां के पूरे गहने सोने के होंगे। इस दौरान 1100 दीपों से महाआरती की जाएगी। श्रद्धालु एक साथ दिया जलाकर परिसर को जगमग करेंगे। ताकि दीपों की रोशनी से अमावस्या की रात प्रकाशित हो सके। 

 

अन्नकूट पर लगाया जाएगा छप्पन भोग: अन्नकूट के दिन छप्पन पकवानों का भोग देवी को लगाया जाएगा। वहीं, श्रद्धालुओं द्वारा लाया गया प्रसाद भी भोग में शामिल किया जाएगा। उसके बाद प्रसाद का वितरण किया जाएगा। कोतवाल ने बताया कि दीपावली के दिन शाम 6 बजे पूजा-अर्चना शुरू होगी और मुहूर्त पर 7.30 बजे महाआरती की जाएगी। 

Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..