• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Bhopal News
  • News
  • Bhopal - कुछ नया करो, यह मत बोलो कि कलेक्टर रहते मैंने ये किया था : मुख्य सचिव
--Advertisement--

कुछ नया करो, यह मत बोलो कि कलेक्टर रहते मैंने ये किया था : मुख्य सचिव

अकसर ऐसा होता है जब अधिकारी पुरानी बातों का जिक्र करते हुए कहते हैं कि जब मैं कलेक्टर था तो मैंने ऐसा किया था। यह...

Danik Bhaskar | Sep 12, 2018, 02:21 AM IST
अकसर ऐसा होता है जब अधिकारी पुरानी बातों का जिक्र करते हुए कहते हैं कि जब मैं कलेक्टर था तो मैंने ऐसा किया था। यह सही है कि कलेक्टर रहते हुए कोई भी अधिकारी कुछ न कुछ करता है। लेकिन ऐसा न बोलकर कुछ नया सोचना चाहिए। यह बात मुख्य सचिव बीपी सिंह ने मंगलवार को गुड गवर्नेंस पर आयोजित रीजनल कांफ्रेंस में कही। उन्होंने कहा कि मप्र में 425 से अधिक लोक सेवाएं दी जा चुकी हैं। करीब 250 सेवाएं ऑनलाइन दी जा रही हैं। कांफ्रेंस में एक दर्जन प्रदेशों के अधिकारियों ने हिस्सा लिया। सिंह ने उन्हें बताया कि समाधान एक दिन में अब तक एक दिन में 28 लाख आवेदन का निराकरण किया गया।

सिंह ने बताया कि मप्र में पहले राजस्व पर काम कम हो रहा था। एक बार वे कलेक्टर के साथ कार्यालय में गए। वहां देखा कि एक ही जैसे मामलों की कुछ फाइलों पर लाल निशान लगा है जबकि कुछ पर नहीं लगा। पूछने पर बताया गया कि जिन फाइलों पर लाल निशान है वह लोकसेवा केंद्रों से आई हैं जिनका निराकरण सबसे पहले करना है, नहीं तो अधिकारियों पर कार्रवाई होती है। कांफ्रेंस के दौरान प्रशासनिक सुधार और लोक शिकायत विभाग के सचिव केवी ईपेन ने मप्र में ऑनलाइन सेवाओं की सराहना की।