Hindi News »Madhya Pradesh »Bhopal »News» Draft Of Master Plan 2031 On Paper

मास्टर प्लान-2031 का ड्राफ्ट: शहर के चारों कोनों में प्लान हों न्यू मार्केट जैसे विस्तृत बाजार

सभी विभागों को 2031 तक की प्लानिंग टीएंडसीपी को सौंपने के निर्देश दिए हैं।

Bhaskar News | Last Modified - May 02, 2018, 01:23 AM IST

  • मास्टर प्लान-2031 का ड्राफ्ट: शहर के चारों कोनों में प्लान हों न्यू मार्केट जैसे विस्तृत बाजार

    भोपाल.संभागायुक्त अजातशत्रु श्रीवास्तव ने टाउन एंड कंट्री प्लानिंग, बीडीए, हाउसिंग बोर्ड, बिजली कंपनी, पीडब्ल्यूडी जैसे संबंधित विभागों की बैठक में कहा कि मेट्रो रेल और स्मार्ट सिटी के साथ शहर के चारों तरफ उपनगरों के विकास को आधार बना कर यह प्लान बनना चाहिए। टीटी नगर के न्यू मार्केट की तर्ज पर शहर के सभी कोनों में मार्केट होने चाहिए। जवाहर चौक पर मॉडल स्कूल और तुलसी नगर में जेपी अस्पताल के बाद इस तरह की सुविधा नहीं है।

    टीटी नगर स्थित स्टेडियम के अलावा कहीं भी ऐसे स्टेडियम या प्ले ग्राउंड की कल्पना नहीं की गई। इसके लिए सरकारी जमीन आरक्षित की जाए। जरूरत पड़े तो सरकारी विभागों के पास उपलब्ध अतिरिक्त भूमि ली जाए। सभी विभागों को 2031 तक की प्लानिंग टीएंडसीपी को सौंपने के निर्देश दिए हैं।

    2006 से कब, क्या हुआ

    - 31 दिसंबर 2005 : मौजूदा प्लान की अवधि समाप्त। 2021 तक के लिए नए प्लान का मसौदा तैयार करने की कवायद शुरू हुई।
    - वर्ष 2008 : मास्टर प्लान 2021 तैयार कर लिया, लेकिन जारी नहीं किया गया।
    - 29 अगस्त, 2009 को मास्टर प्लान 2021 जारी ।
    - आपत्ति के बाद 19 अप्रैल 2010 को मसौदा रद्द।
    - 13 सितंबर 2010 को नया मास्टर प्लान 2031 तैयार करने के आदेश हुए, यह ड्राफ्ट फाइलों से बाहर नहीं आया।
    - 21 फरवरी 2017 को एक और समिति का गठन हुआ। फिलहाल समिति निष्क्रिय है।

    इन बदलाव की तैयारी

    - आवासीय प्लाॅट पर नर्सिंग होम, मल्टीप्लेक्स, शॉपिंग मॉल, मैरिज गार्डन, फार्म हाउस, वेयरहाउस के नियम बनाए
    - टीडीआर और टीओडी के नियमों को मास्टर प्लान में शामिल करने की अनुमति
    - स्मार्ट सिटी एरिया में लैंड यूज और एफएआर में बदलाव
    - खेती और सार्वजनिक उपयोग की जमीन पर गैर प्रदूषणकारी उद्योगों की अनुमति

    पहली बार ग्रामीण विकास विभाग शामिल

    ग्रामीण विकास विभाग को भी मास्टर प्लान की प्रक्रिया में शामिल किया है। पहला मौका है जब इस विभाग से भी प्लानिंग मांगी गई है। सड़क और सीवेज का प्लान बनाते समय ग्रामीण क्षेत्र का भी ध्यान रखने को कहा।

Topics:
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×