--Advertisement--

गरबा / अभिव्यक्ति गरबा महोत्सव का 20वां साल, प्रवेश से लेकर फूड स्टॉल तक में हुए हैं कई बदलाव



Expression is the 20th year of the Garba Festival
Expression is the 20th year of the Garba Festival
Expression is the 20th year of the Garba Festival
Expression is the 20th year of the Garba Festival
Expression is the 20th year of the Garba Festival
X
Expression is the 20th year of the Garba Festival
Expression is the 20th year of the Garba Festival
Expression is the 20th year of the Garba Festival
Expression is the 20th year of the Garba Festival
Expression is the 20th year of the Garba Festival

  • अभिव्यक्ति गरबा के लिए पहली बार ऑनलाइन टिकट की व्यवस्था 
  • गांव की थीम पर बना फूड कोर्ट, बैठने के लिए चारपाइयों की व्यवस्था
  • लोगों को प्रवेश के लिए दोनों तरफ से बनाए गए चार एंट्री गेट

Dainik Bhaskar

Oct 13, 2018, 04:50 PM IST

भोपाल. शहर का सबसे बड़ा गरबा उत्सव अभिव्यक्ति इस बार लोगों को एक अलग तरह की फिलिंग दे रहा है। अभिव्यक्ति गरबा महोत्सव के 20वें साल में यहां की व्यवस्थाओं में कई बदलाव किए गए हैं। हर उस चीज का ध्यान रखा गया है जिससे यहां आने वाले लोगों को किसी तरह की परेशानी का सामना नहीं करना पड़े। इस बार अभिव्यक्ति का मुख्य स्टेज 100 फीट लंबा व 50 फीट चौड़ा है।  

 

अभिव्यक्ति का साउंड सिस्टम हमेशा ही लोगों का पसंदीदा रहा है। इस बार एक लाख वॉट के एडवांस्ड साउंड सिस्टम लगाए गए हैं। ग्राउंड में खड़े लोगों की सुविधा के लिए 22X10 फीट की दो एलईडी स्क्रीन लगाई गई हैं, ताकि गरबा ग्राउंड का अच्छा व्यू मिल सके। लोग इसका आनंद भी उठा रहे हैं। दोनों गरबा सर्किल के बाहर भीड़ होने पर लोग स्क्रीन के सामने खड़े होकर गरबा का आनंद ले रहे हैं।  

 

बदलाव की शुरुआत होती है प्रवेश द्वार से। इस बार यहां आने वाले लोगों को असुविधा से बचाने के लिए दो मेन गेट बनाए गए हैं। जिससे अंदर जाने वाले लोगों को बहुत सुविधा हुई है। भास्कर द्वारा कॉर्मल कॉन्वेंट स्कूल के सामने की तरफ बनाया गया है, इस पर एंट्री नंबर एक और दो हैं। दूसरा द्वार हेमा हायर सेंकेंडरी स्कूल की ओर है, जिसका नाम अभिव्यक्ति द्वार है। यहां पर एंट्री नंबर तीन और चार हैं। इससे फायदा ये हुआ कि मेन गेट पर भीड़ का दवाब कम हुआ और लोग आसानी से पंडाल तक आ रहे हैं। मेन गेट से अंदर जाने वाली गैलरी भी दस फीट चौड़ी है। इससे लोग सुविधानुसार आ-जा रहे हैं।

 

ऑनलाइन टिकट : अभिव्यक्ति गरबा के लिए पहली बार ऑनलाइन टिकट की व्यवस्था की गई है। अब लोग अपने मोबाइल पर एक सिंगल क्लिक पर अभिव्यक्ति गरबा महोत्सव के पास प्राप्त कर सकते हैं । इसके लिए उन्हें अपने मोबाइल पर अभिव्यक्ति एप डाउनलोड करना होगा। शहर के युवा इस ऑप्शन को बहुत पसंद कर रहे हैं। 

 

ऑनलाइन टिकट वाले एंट्री नंबर 1 (भास्कर द्वार) और एंट्री नंबर 4 (अभिव्यक्ति द्वार) से प्रवेश दिया जा रहा है। वहीं काउंटर से टिकट और पास लेने वाले एंट्री नंबर 2 (भास्कर द्वार) और एंट्री नंबर 3 (अभिव्यक्ति द्वार) से अंदर जा रहे हैं। इसके साथ ही अभिव्यक्ति के सभी प्रतिभागियों को एंट्री नंबर 4 (अभिव्यक्ति द्वार) से प्रवेश दिया जा रहा है।  

 

अभिव्यक्ति गरबा स्थल पर फूड कोर्ट पर इस बार अहम बदलाव किया गया है। ज्यादा स्टाल्स के साथ-साथ पूरा फूड कोर्ट गांव की थीम पर है। स्टॉल्स भी झोपड़ीनुमा लुक में हैं, लोगों के बैठने के लिए चारपाइयों की व्यवस्था पहली बार की गई है। साथ ही स्टाल्स की संख्या ज्यादा होने के कारण लोगों को अपने पसंदीदा खाने की ज्यादा च्वॉइस मिल रही है। औऱ लोग नए और अलग-अलग जायकों का स्वाद ले रहे हैं। फूड कोर्ट में बुजुर्गों के लिए अलग डाइनिंग स्पेस की व्यवस्था है। इस व्यवस्था से यहां आने वाले बुजुर्ग रिलेक्स फील कर रहे हैं। यहां के फूड स्टॉल्स में राजस्थानी फूड, अमृतसरी कुल्चा छोला, गुजराती व्यंजन, कलकत्ता के स्नैक्स, इंदौर स्ट्रीट फूड व फलाहारी, महाराष्ट्रियन खाना, आगरा के पराठे, पंजाबी व्यंजन व जलंधर की चाट की कई वैराइटी के साथ ज्सूस, आइसक्रीम और कुल्फी के नए-नए टेस्ट भी उपलब्ध हैं। 

 

Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..