भोपाल / फर्जी मूल निवासी प्रमाण-पत्र से जीएमसी से पास आउट तीन डाॅक्टरों के खिलाफ एफआईआर दर्ज

FIR registered against three doctors passed out of GMC with fake native certificate
X
FIR registered against three doctors passed out of GMC with fake native certificate

दैनिक भास्कर

Jan 07, 2020, 11:03 AM IST

भोपाल। फर्जी मूल निवासी प्रमाण-पत्र प्रस्तुत कर गांधी मेडिकल काॅलेज (जीएमसी) से एमबीबीएस करने वाले तीन डाॅक्टरों के खिलाफ एसटीएफ ने मामला दर्ज किया है। एसटीएफ इन डाॅक्टरों के संबंध में व्यापमं से जानकारी इकट्ठा कर रही है। वहीं, एसटीएफ ने स्कोरर और दलाल की मदद से सिपाही की परीक्षा पास करने वाले एक आरक्षक के खिलाफ भी मामला दर्ज किया है।

एसटीएफ एसपी राजेश सिंह भदौरिया के मुताबिक व्यापमं महाघोटाले में दर्ज एफआईआर सीबीआई को ट्रांसफर होने के बाद एसटीएफ द्वारा लंबित शिकायतों की जांच की जा रही है। एसटीएफ पीएमटी से संबंधित 6 मामलों में 6 डाॅक्टरों एवं अन्य के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर चुकी है। पीएमटी-10 में शामिल हुए विपिन कुमार सिंह, पीएमटी-09 में शामिल हुए सौरभ सचान और बेनजीर शाह फारुखी के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है। तीनों ने पीएमटी पास करके फर्जी मूल निवासी प्रमाण पत्र के आधार पर जीएमसी में एमबीबीएस में प्रवेश लिया था। 

एसटीएफ द्वारा तीनों उम्मीदवारों के संबंध में व्यापमं और जीएमसी से जानकारी मांगी गई है। वहीं, नीमच में पदस्थ आरक्षक बृजेंद्र रावत पुलिस आरक्षक भर्ती परीक्षा-2013 में शामिल हुआ था। जांच में बृजेंद्र की हैंड राइटिंग और हस्ताक्षर में अंतर पाया गया था। उसने यह परीक्षा स्कोरर और दलाल की मदद से पास की थी। एसटीएफ ने बृजेंद्र के खिलाफ भी मामला दर्ज किया है।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना