भोपाल

--Advertisement--

महायोग में घर अाएंगे गौरी पुत्र गणेश, स्थापना में बाधक नहीं रहेगी भद्रा

गणपति प्रतिमा की स्थापना भाद्रपद चतु‌र्थी 12 सितंबर शाम 4.07 से 13 सितंबर दोपहर 2.57 तक की जाएगी

Danik Bhaskar

Sep 12, 2018, 02:04 PM IST

भोपाल। इस साल गणेश उत्सव 13 से 23 सितंबर तक मनाया जाएगा। गणपति प्रतिमा की स्थापना भाद्रपद चतु‌र्थी 12 सितंबर शाम 4.07 से 13 सितंबर दोपहर 2.57 तक की जाएगी। मान्यता है कि गणेश जी का जन्म मध्य काल दोपहर में हुआ था। इसलिए उनकी स्थापना इसी काल में ही होनी चाहिए।

ज्योतिषाचार्यों के अनुसार गणेश स्थापना के समय ग्रहों, नक्षत्रों और योगों का महासंयोग स्थापित हो रहा है। गणेश चतुर्थी पर रिद्धि सिद्धि योग, रवि योग, सूर्य, बुध का आदित्य योग एवं तुला राशि में गुरु-चंद्रमा के एक साथ होने से महासंयोग बन रहा है। महासंयोग के साथ स्वाति नक्षत्र और स्थिर योग भी रहेगा। इस योग से बाजारों में व्यापार की बढ़ोतरी होगी। 13 सितंबर को गुरुवार होने से गणेश जी की कृपा के साथ भक्तों को गुरु कृपा का भी लाभ मिलेगा। इसके अलावा धन संपदा, ज्ञान, बुद्धि इस दुर्लभ महासंयोग में भक्तों को मिलेगी।

गणेश चतुर्थी पर रहेगा भद्रा का साया

गणेश चतुर्थी पर इस बार भद्रा का साया रहेगा। भद्रा सूर्योदय से दोपहर 2.52 तक रहेगी। भद्रा का वास पाताल लोक में रहेगा। भद्रा का वास जब पाताललोक में हो तो शुभ कार्य करने में किसी तरह की कोई परेशानी नहीं होती। जब कुंभ, मीन, कर्क, सिंह राशि में चंद्रमा होता है तो भद्रा मृत्यु लोक में होती है।

यहां पर मिलेंगी मिट्टी की गणेश प्रतिमाएं

गायत्री शक्तिपीठ एमपी नगर, प्रज्ञा पीठ बरखेड़ा, एमआई जी 6/2 अंजली काम्पलेक्स, सेकंड स्टाप, साउथ टीटी नगर शांति होम्स, 3जी-2 सर्वधर्म ए सेक्टर कोलार रोड भीमसेन जोशी परिसर, सेक्टर-2सी, साकेत नगर, ई-4 / 253 अरेरा कालोनी, 10 नंबर मार्केट के पास, वैष्णों देवी मंदिर, इंडस टाउन, होशंगाबाद रोड, कैंपियन स्कूल शाहपुरा

लड्‌डू का लगाएं गणेश जी को भोग

गणेश चतुर्थी से लेकर अनंत चतुर्दशी तक जब तक भगवान गणेश घर में रहते हैं तब तक उनका परिवार के सदस्य की तरह ध्यान रखना चाहिए। गणपति को 3 बार भोग लगाना अनिवार्य होता है। वैसे गणपति को मोदक का भोग रोजाना लगाना अनिवार्य होता है। जिनके व्यापार में बाधाएं हों, छात्रों को विद्या अध्ययन में परेशानी हो ऐसे लोगों को तो अवश्य ही गणेश जी का पूजन करना चाहिए।

स्थापना का शुभ मुहूर्त 11.08 बजे से

ज्योतिषियों के अनुसार गणेश स्थापना का शुभ मुहूर्त सुबह 11.08 बजे से रहेगा। उसके बाद दोपहर के 1.34 बजे तक गणपति की स्थापना की जा सकती है।

पूजन विधि: स्थापना के पश्चात गणेश जी को सिंदूर और चांदी का वर्क लगाएं। इसके बाद जनेऊ, लालपुष्प दूब, मोदक, नारियल आदि सामग्री भगवान को अर्पित करें।

Click to listen..