मध्यप्रदेश / सरकार ने लोगों से पूछा- महंगाई कितनी बढ़ी, रोजगार बढ़े या घटे



Government asked people- how much inflation increased, jobs increased or decreased
X
Government asked people- how much inflation increased, jobs increased or decreased

  • राजधानी भोपाल सहित देश के 13 शहरों में भारतीय रिजर्व बैंक करा रहा है उपभोक्ता विश्वास सर्वे (सीसीएस)-2019 
  • सर्वे में 7 विषयों पर पूछे गए हैं 19 सवाल... ताकि सरकार जान सके कि देश में रोजगार व महंगाई की स्थिति क्या है

Dainik Bhaskar

Mar 14, 2019, 01:11 PM IST

भोपाल. इस लोकसभा चुनाव में महंगाई और रोजगार दोनों अहम मुद्दे हैं, लेकिन इनकी वास्तविक स्थिति क्या है? यह आपके फीडबैक से तय होगा। राजधानीवासियों से भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) पूछ रहा है कि अपकी आय एक साल में कितनी बढ़ी? जरूरी वस्तुओं पर आपका खर्च बढ़ा या घटा? कहीं आप आय बढ़ने या फिर ज्यादा रिटर्न मिलने से ज्यादा खर्च तो नहीं कर रहे? अपकी रोटी, कपड़ा, मकान, शिक्षा और चिकित्सा का खर्च एक साल में कितना बढ़ा? शहर में रोजगार के अवसर कितने बढ़े? 

 

दरअसल, ये सवाल आरबीआई भोपाल सहित देश के 13 शहरों में उपभोक्ता विश्वास सर्वे (सीसीएस)-2019 के तहत पूछ रहा है। इन सभी मसलों पर आपके जवाब देश की राय बनेंगे। सरकार इसी आधार पर महंगाई और रोजगार के आंकड़े जारी करेगी। आपको इन विषयों पर राय देने के साथ यह भी बताना है कि अगले एक साल में इनकी क्या स्थिति रहने वाली है। 

 

इन सवालों के जवाब देने के लिए आपको आरबीआई की साइट पर जाकर एक फॉर्म भरना है। 22 साल की उम्र से बड़े लोग इस सर्वे में भाग लेने के लिए पात्र हैं। सर्वे में कुल 7 विषयों पर 19 सवाल पूछे गए हैं। सबसे दिलचस्प बात यह है कि सर्वे में यह भी पूछा गया है कि अगर आप पहले से ज्यादा खर्च कर रहे हैं तो इसकी वजह क्या है? अगर आपका खर्च घटा है तो उसकी वजह क्या है?

 

जानकार कहते हैं कि कई बार यह स्थिति होती है जब लोग अधिक कमा रहे होते तब वे कम खर्च करते हैं। उसके मायने यह होते हैं कि लोगों को देश के आर्थिक हालात पर ज्यादा भरोसा नहीं रहता। नतीजतन वे बचत पर जोर देते हैं। इसलिए उनसे अंत पूछा गया है कि वे वर्तमान आर्थिक हालात में पैसे ज्यादा बचा रहे हैं या कम? केवल अपनी जरूरतें ही पूरी कर पा रहे हैं या पहले की बचत से ही काम चला रहे हैं? 
 

  • ऐसे भरना है जानकारी

 

सबसे पहले आरबीआई के डिपार्टमेंट ऑफ स्टेटिक्स एंड इंफार्मेशन मैनेजमेंट विभाग के कंज्यूमर कांफिडेंस सर्वे (सीसीएस) मार्च 2019 का फॉर्म डाउनलोड करना होगा। इसमें नाम पता, रोजगार और आय की जानकारी देनी होगी। आपको बीते एक साल और अगले साल के लिए हालात खराब हुए, स्थिर हैं या बेहतर हुए पर राय देनी है। 

 

  • फीडबैक से यह जानेगी सरकार

 

मांगी गई जानकारी के आधार पर सरकार यह पता लगाती है कि देश में रोजगार और महंगाई की वास्तविक स्थिति क्या है। लोग देश की अर्थव्यवस्था पर कितना भरोसा जता रहे हैं। जहां के लोग सर्वे में आने वाले आर्थिक हालातों पर ज्यादा आशावादी रुख दिखाते हैं, वहां विदेशी निवेशक ज्यादा निवेश करते हैं। 

 

राजधानी में इस तरह के सर्वे की जानकारी आम लोगों को नहीं के बराबर होती है। विभाग के लोग केवल रस्म अदायगी के लिए कुछ लोगों से ये फॉर्म भरवा लेते हैं, लेकिन सही तस्वीर तभी सामने आ सकती है, जब आम लोगों की भी इसमें हिस्सेदारी हो।

राजेंद्र कोठारी, आर्थिक विशेषज्ञ 

 

आरबीआई की साइट पर 31 मार्च तक आप भी दे सकते हैं राय 

  • आपको देना हैं इन सवालों के जवाब 
  1. देश के आर्थिक हालात कैसे हैं?
  2.  आपकी आय बढ़ी या घटी? 
  3. खर्च घटे, बढ़े या स्थिर?
  4.  इसमें खाद्यान्न, घर, ईंधन, बिजली बिल, कपड़े, चिकित्सा सुविधा और यातायात शामिल है? 
  5. गैर जरूरी वस्तुओं पर आपका खर्च (इसमें टिकाऊ उपभोक्ता सामान, मोटर वाहन, सोना-चांदी, होटल और रेस्त्रां का खर्च) 
  6.  रोजगार बढ़े या घटे? 
  7.  वस्तु एवं सेवाओं की कीमतें घटीं या बढ़ी हैं?
  8. कीमतों में बदलाव की दर घटी या बढ़ गई हैं?
  9. खर्च क्यों बढ़ाना पड़ा? 
  10.  क्योंकि आपकी आय बढ़ गई। 
  11. अगर आपके खर्च घटे हैं तो क्यों?
  12. क्योंकि आपके निवेश और परिसंपत्तियों का मूल्यांकन बढ़ गया। 
  13. क्योंकि इस दौरान आपने घर जमीन कार और टीवी फ्रिज की खरीद की। 
  14.  क्योंकि उपभोक्ता सामान और सेवा की लागत में इजाफा हुआ। 
  15. अगर आपके खर्च घटे हैं तो क्यों? 
  16. क्योंकि आपकी आय घट गई। 
  17.  क्योंकि आपके निवेश और परिसंपत्तियों का मूल्यांकन घट गया। 
  18. क्योंकि इस दौरान घर जमीन कार और टीवी फ्रिज में आपका खर्च घटा है। 
  19. क्योंकि उपभोक्ता सामान और सेवा सस्ती हुईं। 
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना