• Hindi News
  • Mp
  • Bhopal
  • Govindpura industrial area prepared for land use commercial, letter written to 70 industries

मप्र / गोविंदपुरा औद्योगिक क्षेत्र का लैंड यूज कमर्शियल करने की तैयारी, 70 उद्योगों को पत्र भेजकर मांगी सहमति



Govindpura industrial area prepared for land use commercial, letter written to 70 industries
X
Govindpura industrial area prepared for land use commercial, letter written to 70 industries

  • उद्यमियों ने कहा, हम फ्री होल्ड चाहते हैं, लैंड यूज में बदलाव नहीं
  • सरकार का दावा पूरी प्रक्रिया उद्यमियों से पूछकर ही शुरू की गई 

Dainik Bhaskar

Jul 30, 2019, 07:40 PM IST

भोपाल. राज्य सरकार शहरों के बीचो बीच बसे गोविंदपुरा औद्योगिक क्षेत्र को कमर्शियल बनाने के लिए इसके लैंड यूज में बदलाव करने जा रही है। इसके लिए रायशुमारी का दौर शुरू हो चुका है। पहले चरण में जेके रोड और रायसेन रोड पर स्थित 70 औद्योगिक क्षेत्रों को पत्र भेजकर लैंड यूज को बदलकर कमर्शियल किए जाने पर सहमति मांगी है। इन उद्यमियों को शहर से लगे दूसरे औद्योगिक क्षेत्रों में उद्योग लगाने के लिए जमीन देने का भी प्रस्ताव दिया गया है।

 

पत्र भेजने के बाद भोपाल जिला उद्योग और व्यापार केंद्र के महाप्रबंधक उद्यमियों से चर्चा करके लैंड यूज में बदलाव के लिए सहमति देने का आग्रह कर रहे हैं। इसके लिए उद्यमियों को नियमित फोन भी किए जा रहे हैं। हालांकि सरकारी स्तर पर कहा जा रहा है कि अभी केवल उद्यमियों से राय ली जा रही है। इसमें केवल उन्हीं उद्योगों को लिया गया है जो शहर के बीचो बीच हैं। केवल भोपाल ही नहीं, सरकार ने इंदौर, ग्वालियर और जबलपुर में शहरों के बीच में उद्योगों का संचालन करने वाले उद्यमियों को पत्र भेजे हैं।


उद्योग तो जमीन का फ्री होल्ड चाहते थे 
गोविंदपुरा इंडस्ट्रीयल एसोसिएशन (जीआईएस) का कहना है कि जो उद्यम अच्छी तरह से संचालित हो रहे हैं वे शहर के बाहर नहीं जाना चाहते। वे लैंड यूज पर किसी कीमत पर राजी नहीं हैं। इसके उलट वे उद्योग के लिए मिली जमीन का फ्री होल्ड चाहते हैं ताकि वे बैंक में उसे मॉर्टगेज करके विस्तार के लिए धन जुटा सकें। लैंड यूज के लिए केवल वही उद्यमी राजी हैं जो पहले से ही वहां शो रूम का संचालन समेत दूसरी कमर्शियल एक्टिविटी कर रहे हैं या फिर उनके उद्यम बंद होने की स्थिति में हैं। 

 

लैंड यूज बदला तो नहीं चल पाएंगे दूसरे उद्योग
उद्यमी सरकार की प्रस्तावित लैंड यूज में बदलाव की कोशिशों से खुश नहीं हैं, उनका कहना है कि सड़क और व्यस्त मार्गों से लगे औद्योगिक क्षेत्रों का लैंड यूज बदलकर कमर्शियल करने से वहां कोचिंग संस्थान और स्कूल भी बनाए जा सकते हैं। इससे बाकी उद्यमियों को भी उद्योग चलाना मुश्किल हो जाएगा। 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना