--Advertisement--

हबीबगंज स्टेशन पर दिसंबर बाद प्लेटफॉर्म टिकट से लेकर खान-पान तक सबकुछ होगा महंगा

हबीबगंज के रीडवलपमेंट का काम छह माह में पूरा होगा काम, वर्ल्ड क्लास के तमगे की कीमत चुकाएंगे यात्री।

Danik Bhaskar | Jul 01, 2018, 08:47 AM IST

भोपाल. हबीबगंज स्टेशन के री-डेवलपमेंट का 45 फीसदी काम पूरा हो गया है। तय डेडलाइन यानी दिसंबर अंत तक स्टेशन का काम पूरा करने का दावा किया जा रहा है। हालांकि रीडेवलपमेंट की बड़ी कीमत यात्रियों काे ही चुकानी पड़ेगी।

काम शुरू होते ही... बढ़ने लगे रेट

- बंसल-हबीबगंज पाथ-वे प्राइवेट लि. ने काम शुरू करते ही पार्किंग के रेट 4 गुना तक बढ़ाए। काम पूरा होने के बाद और इजाफा संभव।

- एयर कॉनकोर्स यानी 36 मीटर चौड़े एफओबी पर मल्टीनेशनल कंपनियों के 70 फूड स्टाल होंगे। यहां खान-पान सामग्री के दाम मौजूदा दामों से काफी अधिक होंगे।

- स्टेशन परिसर में एडवरटाइजिंग के रेट ढाई गुना तक बढ़ाए जा चुके हैं।

- 100 करोड़ रुपए की जमीन के बदले स्टेशन के रीडेवलपमेंट का काम कर रही है बंसल-हबीबगंज पाथ-वे लि.

- 45 साल के लिए कंपनी को लीज पर मिली है स्टेशन की जमीन, डेवलपमेंट के बाद कर सकेगी कमर्शियल इस्तेमाल

बेशकीमती जमीन, कमर्शियल इस्तेमाल

- 23 हजार वर्ग मीटर कुल जमीन है स्टेशन परिसर की

- 17 हजार वर्ग मीटर जमीन है कमर्शियल उपयोग के लिए

- डेडलाइन मार्च 2019 से 3 माह पूर्व काम पूरा करने का दावा

कमाई... कैटरिंग व कमर्शियल स्पेस से
यहां कंपनी शॉपिंग मॉल, हॉस्पिटल आदि विकसित करेगी। पार्किंग, एडवरटाइजिंग और कैटरिंग से होने वाली कमाई पर भी बंसल कंस्ट्रक्शन का अधिकार होगा। वही रेट भी तय करेगी। केवल टिकटिंग और प्लेटफॉर्म पर मौजूद सब्सिडियरी रेट्स वाले फूड स्टाल्स पर रेलवे की हिस्सेदारी रहेगी। बंसल कंस्ट्रक्शन के चीफ प्रोजेक्ट मैनेजर अबू आसिफ का कहना है कि दिसंबर तक काम पूरा करने की कोशिश है।

कहां क्या होगा... रिजर्वेशन ऑफिस के स्थान में बदलाव नहीं

- रिजर्वेशन आॅफिस दोनों तरफ वर्तमान बिल्डिंग में ही रहेगा।
- प्लेटफॉर्म नंबर-1 की ओर बनाई जा रही नई बिल्डिंग में अनरिजर्व टिकट विंडो शिफ्ट कर दी जाएंगी। { रिटायरिंग रूम्स माैजूदा स्थान पर ही रहेंगे। नई बिल्डिंग में नए रिटायरिंग रूम्स भी बनाए जाएंगे। {पार्सल व्यवस्था पहले की तरह रहेगी।

दोनों सब-वे लगभग तैयार
स्टेशन के भोपाल और इटारसी छोर पर बन रहे दोनों सब-वे लगभग तैयार हो चुके हैं। इन्हीं से यात्री बाहर आएंगे।

एंट्री ऐसे होगी - प्लेटफॉर्म एक को छोड़कर बाकी सभी पर एफओबी के जरिए

एग्जिट सिस्टम- ट्रेन से उतरने वाले यात्री दोनों ओर बन रहे सब-वे से आएंगे बाहर
ये सुविधाएं भी- पूरे स्टेशन पर कई रैंप, एस्केलेटर, ट्रेवलेटर व लिफ्ट की व्यवस्था

एफओबी पर ही होगी 800 यात्रियों के लिए बैठने की व्यवस्था

36 मीटर चौड़ा एयर कॉनकोर्स यानी एफओबी ही वेटिंग एिरया की तरह इस्तेमाल किया जाएगा। यहां पर एयर कूल्ड और नॉन एसी श्रेणी के वेटिंग हॉल बनाए जाएंगे। यहां एक ही समय में करीब 800 यात्री बैठ सकेंगे। इसी एरिया में ट्रेनों के आवागमन की जानकारी लगातार डिस्प्ले होती रहेगी। नई बिल्डिंग प्लेटफॉर्म-1 की ओर बन रही नई स्टेशन बिल्डिंग 40x60 मीटर की होगी। यहां से एफओबी तक जाने के लिए दो लिफ्ट भी होंगी।