--Advertisement--

इस्लाम में हलाला हराम, तीन तलाक का कानून जबरन थोप रही सरकार- मौलाना मुफ़्ती उमरेन

इस्लाम में हलाला हराम है, इसका इस्लाम से कोई वास्ता नहीं है

Dainik Bhaskar

Aug 12, 2018, 05:32 PM IST
halala and teen talak, all india personal law board

भोपाल। इस्लाम में हलाला हराम है, इसका इस्लाम से कोई वास्ता नहीं है। ये बात ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के सेकेट्री मौलाना मुफ़्ती उमरेन भोपाल में आयोजित बैठक के बाद पत्रकार वार्ता में कही। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने तीन तलाक पर जो नियम बनाए है, उन्हें बनाते समय मुस्लिम समाज का एक भी सदस्य उस समिति में नहीं था।

उन्होंने कहा कि हलाला को जबरन मुसलमानों को जोड़ा जा रहा है। यह इस्लाम में गलत और हराम है। मुफ़्ती उमरेन तीन तलाक के संसोधन के बाद संसद में बिल पेश होने को लेकर कहा कि यह नाकाफी है, उसे बोर्ड नहीं मानता। तीन तलाक़ पर हमारा स्टैंड क्लियर है, सरकार अपनी मर्ज़ी मुस्लिम समुदाय पर थोप रही है, ये भारत जैसे लोकतांत्रिक देश में संभव नहीं है, इस बिल में कई खामियां हैं, इसे सेलेक्ट कमेटी को सौंपा जाए। वही उन्होंने सुप्रीम कोर्ट के निर्देश के बाद कानून बनाने पर सवाल खड़ा किया।

ये हुआ निर्णय

ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड दो दिनी बैठक वीआईपी रोड स्थित खानूगांव के इंदिरा प्रदर्शनी कॉलेज में आयोजित की गई थी। इसमें देशभर से 70 बड़े मुस्लिम नेताओं ने भाग लिया। बैठक में सोशल साइट्स पर शरीयत और तीन तलाक को लेकर वायरल हो रही गलत जानकारियों को दूर करने के लिए खुद की आईटी एक्सपर्ट की टीम तैयार करेगा। इसका प्रशिक्षण भोपाल में दिया जाएगा। बैठक में फैसला लिया गया है मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड खुद को हाईटेक करेगा। इसकी शुरुआत भोपाल से होगी और यहीं आईटी एक्सपर्ट समाज के युवाओं को ट्रेनिंग देंगे। सोशल साइट्स पर शरीयत और तीन तलाक को लेकर वायरल हो रही गलत जानकारियों से कैसे निपटा जाए इसपर फोकस किया जाएगा। मुस्लिम पर्सनल लाॅ बोर्ड का मानना है कि मुस्लिम धर्म और शरियत को लेकर सोशल मीडिया पर भ्रामक जानकारी फैलाई जा रही है इसलिए अब मीडिया डेक्स भ्रामक जानकारी का जवाब देगा।

X
halala and teen talak, all india personal law board
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..