--Advertisement--

हाईवे गैंग के 16 दलालों की पुलिस को तलाश

अब तक 30 मर्डर का खुलासा ट्रक ड्राइवरों और क्लीनर्स की हत्या का सनसनीखेज मामला क्राइम रिपोर्टर| भोपाल ...

Danik Bhaskar | Sep 11, 2018, 03:21 AM IST
अब तक 30 मर्डर का खुलासा

ट्रक ड्राइवरों और क्लीनर्स की हत्या का सनसनीखेज मामला

क्राइम रिपोर्टर| भोपाल

ट्रक ड्राइवर और क्लीनर के सीरियल किलर आदेश खामरा और उसकी हाईवे गैंग के 16 दलालों के नाम पुलिस को जांच के दौरान मिले हैं। ग्वालियर, ओडिशा, उप्र और बिहार के ये दलाल लूटा गया ट्रक ठिकाने लगाते थे। आदेश की गैंग ने इनके जरिए अब तक लूटे गए बीस ट्रक औने-पौने दाम में बिकवाए हैं। हालांकि, उसका दावा है कि ये दलाल देशभर के ऐसे सैकड़ों ट्रक बिकवा चुके हैं, जिनमें से महज दो ट्रक पुलिस रिकवर कर पाई है।

मंडीदीप की तीन स्टार कंपनियों में लेबर सप्लाई का कांट्रेक्टर ले चुके लाल सिंह सोलंकी उर्फ पप्पू का नाम आदेश खामरा ने पुलिस पूछताछ में लिया है। उसका दावा है कि पप्पू ने जगदीश कीर की हत्या की सुपारी उसे दी थी। वार्ड एक की लुचगांव पंचायत से पप्पू के छोटे भाई की प|ी जनपद सदस्य के साथ-साथ कृषि समिति की अध्यक्ष भी हैं। पप्पू अपनी बहू के स्थान पर कई बार जनपद पंचायत की बैठक में भी आ जाता था। उसका परिवार मंडीदीप में रहता है। भाजपा ग्रामीण मंडल अध्यक्ष महेश गोयल ने बताया कि पप्पू भाजपा कार्यकर्ताओं की सूची में ही नहीं है। ये जरूर है कि वह अपने लग्जरी वाहन में विधायक प्रतिनिधी लिखकर चलता था, जिसे बाद में हटवा लिया था।

अब रिकवरी और लिंक जोड़ने की कवायद

एसपी साउथ राहुल लोढा के मुताबिक फिलहाल तीस हत्या से जुड़े दस्तावेज और सबूतों को जोड़ा जा रहा है। कुछ मामलों में आदेश गिरफ्तार हो चुका है। जिन जिलों की नई घटनाएं सामने आई हैं, उनके तार भी आपस में जोड़े जा रहे हैं। बिलखिरिया और मिसरोद से लूटे गए ट्रक जब्त कर लिए हैं। अन्य मामलों में संबंधित पुलिस से बात की गई है। आदेश के पास से कागज मिला है, जिनमें कुछ मोबाइल नंबर लिखे हैं। इनमें से ज्यादातर ट्रक ड्राइवर या क्लीनर के हैं। हर नंबर पर बात कर उन्हें चला रहे व्यक्ति से बात की जा रही है, ताकि नए बिंदू भी सामने आ सकें।

सीरियल किलर आदेश के गिरोह ने अब तक लूट के बाद बेचे हैं 20 ट्रक, चार राज्यों में दबिश

गैंग से जब्त सरिया

गुना पुलिस ने भी बताई दो घटनाएं, आदेश का इंकार

गुना पुलिस ने भोपाल पुलिस को अपने जिले में हुई ऐसी दो घटनाएं बताई हैं। दोनों मामलों में छह चक्का ट्रक लूटे गए थे। हालांकि, इसे लेकर पुलिस ने जब आदेश से पूछताछ की तो उसने इन्हें कबूलने से इनकार कर दिया। उसने पुलिस से कहा कि अब की गई किसी भी वारदात में उसने छह चक्का ट्रक लूटा ही नहीं है। उसके द्वारा लूटे गए करीब बीस ट्रक दलालों के जरिए बिके हैं, लेकिन सभी 12 या 14 चक्का के थे। उधर, आदेश के गिरफ्तार साथी तुकाराम बंजारा को लेकर पुलिस की एक टीम महाराष्ट्र के यवतमाल स्थित घर गई थी। घर की तलाशी में पुलिस को उसकी दो पासबुक मिली हैं। हालांकि, इसमें ज्यादा रकम जमा नहीं है। सोमवार को टीम भोपाल लौट आई।