अब निगम ने बदली व्यवस्था / खाली प्लाॅट पर गंदगी तो अब संपत्तिकर में जुडे़गा स्पॉट फाइन

If the dirt on the empty plot, now the spot will be added to the property
X
If the dirt on the empty plot, now the spot will be added to the property

  • 51 दिन में 1200 प्लाॅट मालिकाें काे नाेटिस, लेेकिन प्लाॅट मालिक नहीं मिलने से निगम नहीं वसूल पा रहा स्पाॅट फाइन

Dainik Bhaskar

Dec 05, 2019, 03:14 AM IST

भाेपाल . राजधानी में यदि अापका प्लाॅट है अाैर उस पर गंदगी या पानी जमा है तो  सकी सफाई करा दें। अगर एेसा नहीं किया ताे स्पाॅट फाइन की कार्रवाई की जाएगी अाैर अापकाे इसकी भनक भी नहीं लगेगी। दरअसल, नगर निगम ने एेसे प्लाॅट पर स्पाॅट फाइन लगा रहा है अाैर स्पाॅट फाइन की राशि सीधे प्लाॅट के संपत्तिकर खाते में जाेड़ी जा रही है। भविष्य में जब भी अाप पर निर्माण करने या बेचने के लिए पत्तिकर खाता ट्रांसफर कराने नगर निगम पहुंचेंगे ताे अापकाे पहले स्पाॅट फाइन भरना हाेगा।

दरअसल, डेंगू का संक्रमण फैलने पर स्वास्थ्य मंत्री तुलसी सिलावट ने 15 अक्टूबर काे शहर के उन इलाकाें का जायजा लिया था, जहां डेंगू के मरीज सामने अाए थे। इस दाैरान यह हकीकत सामने आई कि खाली प्लाॅट पर गंदगी के साथ ही पानी भी भरा है। इनसे मच्छर पनप रहे हैं जाे डेंगू फैला रहे हैं, तब मंत्री सिलावट ने एेसे प्लाॅट चिह्नित कर स्पाॅट फाइन लगाने के निर्देश दिए थे।

1200 नाेटिस, वसूली एक से भी नहीं
मंत्री के अादेश के बाद सक्रिय हुए अमले ने पिछले 51 दिनाें में काेलार, हाेशंगाबाद राेड, पिपलानी, इंद्रपुरी, अयाेध्या नगर, कराेंद अाैर लालघाटी समेत शहर के तमाम इलाकाें में करीब 1200 खाली प्लाॅट चिह्नित किए जिन पर गंदगी अाैर पानी जमा हाे रहा है। अमले ने इन प्लाॅट के मालिकाें काे नाेटिस जारी कर सफाई कराने के लिए हफ्तेभर का समय दिए जाने के नाेटिस प्लाॅट पर चस्पा किए। लेकिन अधिकांश मामलाें में प्लाॅट मालिक नहीं मिलने के कारण न ताे प्लाॅटाें की सफाई हुई अाैर न इनसे स्पाॅट फाइन वसूल गया।

प्लाॅट साफ हुए ताे हाेगा दाेहरा लाभ
खाली प्लाॅटाें की सफाई हाेने से दाेहरा लाभ हाेगा। पहला- मच्छर नहीं पनपने से डेंगू समेत मच्छर जनित दूसरी बीमारियां कम फैलेंगी। दूसरा... साफ-सफाई हाेने से स्वच्छ सर्वेक्षण 2020 में भी नगर निगम काे बेहतर रेटिंग पानी में मदद मिलेगी। यही वजह है कि नगर निगम का स्वास्थ्य अमला खाली प्लाॅटाें की सफाई काे लेकर गंभीर है। जिन प्लाॅटाें के मालिक नहीं मिल रहे हैं वहां निगम खुद अपना अमला लगाकर सफाई करा रहा है, इस पर हाेने वाला खर्च भी संबंधित के खाते में जाेड़ा जाएगा।

प्लॉट की  सफाई में होने वाला खर्च और स्पॉट फाइन की राशि प्रॉपर्टी टैक्स में जोड़ेंगे
 जिन प्लाॅट पर गंदगी अाैर पानी जमा हाेता है उन्हें नाेटिस दिए गए हैं। लेकिन, प्लाॅट मालिक नहीं मिलने से स्पाॅट फाइन वसूल नहीं हाे पा रहा था, इसे देखते हुए प्लाॅट की सफाई में हाेने वाला खर्च अाैर स्पाॅट फाइन की राशि प्लाॅट के संपत्तिकर खाते में जाेड़ी जा रही है।- राजेश राठाैड़, अपर अायुक्त, नगर निगम

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना