पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • In Order To Connect Two Towers Of Six Storey, Builder Had Put Illegal Slabs, Staff Broke 7 Hours Of Action

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

छह मंजिला दो टॉवर को जोड़ने के लिए बिल्डर ने डाल ली थीं अवैध स्लैब, अमले ने 7 घंटे कार्रवाई कर तोड़ीं

एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
बिल्डिंग परमिशन में दोनों टॉवर को जोड़ने का प्रावधान नहीं था और बालकनी कवर करने की अनुमति भी नहीं दी गई थी। - Dainik Bhaskar
बिल्डिंग परमिशन में दोनों टॉवर को जोड़ने का प्रावधान नहीं था और बालकनी कवर करने की अनुमति भी नहीं दी गई थी।
  • बागसेवनिया में जिला प्रशासन व निगम अमले की संयुक्त कार्रवाई, कामधेनु सोसायटी में गड़बड़ी का भी आरोपी है बिल्डर

भोपाल . बागसेवनिया में यशोदा डिजायर परिसर में निर्माणाधीन दो टॉवर को आपस में जोड़ने के लिए अवैध रूप से स्लैब डाली गई थी। इसके अलावा ग्राउंड फ्लोर प्लस 6 फ्लोर की इन दो बिल्डिंग में बालकनी कवर करके लगभग 6000 वर्ग फीट का अधिक अवैध निर्माण किया जा रहा था। सोमवार 7 घंटे चली कार्रवाई में प्रशासन ने इन टॉवर के अवैध निर्माण को तोड़ दिया। इस मामले में एक महत्वपूर्ण तथ्य यह भी है कि यशोदा डिजायर के मालिक बृजेश शुक्ला विवादित कामधेनु हाउसिंग सोसायटी के संचालक भी हैं।


सोसायटी में हुई गड़बड़ियों को लेकर दिसंबर में जिन लोगों पर एफआईआर दर्ज हुई है, उनमें शुक्ला भी शामिल हैं। अभी पूरा अवैध निर्माण नहीं तोड़ा जा सका है। कार्रवाई मंगलवार को भी जारी रहेगी। कामधेनु सोसायटी की गड़बड़ी सामने आने के बाद प्रशासन ने शुक्ला के अन्य प्रोजेक्ट की पड़ताल भी शुरू की थी। इसमें अहमदपुर कला में यशोदा डिजायर में बिल्डिंग परमिशन के विपरीत निर्माण की बात सामने आई थी। इस पर सोमवार को एसडीएम राजेश श्रीवास्तव के साथ नगर निगम के चीफ सिटी प्लानर एसएस राठौर, सहायक यंत्री प्रदीप जड़िया, अतिक्रमण अधिकारी कमर साकिब और प्रभारी नासिर खान पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे।

इधर, माफिया के खिलाफ कार्रवाई में शामिल अतिक्रमण प्रभारी की गाड़ी में तोड़फोड़

ऐसी गड़बड़ी भी

  • 6000 वर्ग फीट का अवैध निर्माण बालकनी कवर कर किया
  • 550 एकड़ से ज्यादा जमीन है शुक्ला व उनकी पत्नी के नाम
  • 38 एकड़ जमीन रिश्तेदारों के नाम है दर्ज
  • 115 सदस्यों की तो राशि ही अब तक नहीं लौटाई ।

माफिया के खिलाफ कार्रवाई में शामिल रहने वाले निगम के अतिक्रमण प्रभारी नासिर खान को निगम ने नैनो कार एमपी 04 सीएच- 2756 आवंटित की है। रात को उनके कसेरा गली, रेजीमेंट रोड स्थित मकान के बाहर यह कार खड़ी थी। तभी अज्ञात बदमाशों ने कार का पीछे का कांच फोड़ दिया। नासिर खान ने आशंका जताई है कि वे लगातार माफिया के खिलाफ कार्रवाई में शामिल हैं और अतिक्रमण विरोधी अन्य कार्रवाइयों में भी उनके विवाद होते रहते हैं। इसलिए किसी ने उन्हें डराने के लिए ऐसी हरकत की है। 

अब प्रशासन कर रहा जांच...जमीनें कब और कैसे खरीदी

  • जांच में यह बात सामने आई है कि बृजेश शुक्ला और उनकी पत्नी ज्योति शुक्ला के नाम पर 550 एकड़ से अधिक जमीन दर्ज है। अन्य रिश्तेदारों के नाम पर कुल 38 एकड़ जमीन दर्ज है। अब प्रशासन यह पता लगाने में लगा है कि यह जमीनें कब और कैसे खरीदी।
  • पिछले दिनों सहकारिता विभाग ने कामधेनु के प्रमुख बृजेश शुक्ला समेत 13 संचालक और सदस्यों पर एफआईआर दर्ज कराई थी। बृजेश ने 61 प्लाॅट कलेक्टर गाइडलाइन से कम दाम पर बेचे थे। जबकि 115 सदस्यों की राशि नहीं लौटाई थी।
  • संचालक मंडल के अजय पाठक, अभय ओझा, पीके नंदी, राहुल सिंह, नवल सिंह, अतुल सरीन, अनिल गौड़, जावेद, एम पाठक, सतीश प्रजापति, गिरिजा बाई, वृंदा सैनी पर भी केस दर्ज हुआ है।

29 दिन में...46 करोड़ की 53 एकड़ सरकारी जमीन माफिया से मुक्त
 संगठित माफिया के खिलाफ लगातार कार्रवाई की जाए, लेकिन ध्यान रखें कि कोई भी बेकसूर व्यक्ति को इस अभियान के दौरान परेशान न किया जाए। बड़े माफियाओं की लिस्टिंग कर उनके खिलाफ कार्रवाई करें। यह निर्देश सोमवार को संभागायुक्त कल्पना श्रीवास्तव ने भोपाल संभाग के कलेक्टर्स को दिए। उन्होंने कलेक्टरों को हिदायत देते हुए कहा कि इस कार्रवाई से आम लोगों में विश्वास बनना चाहिए। संभागायुक्त ने बताया कि राजधानी में अब तक 19 स्थानों की 53.46 एकड़ सरकारी जमीन मुक्त कराई गई है। इसकी कीमत करीब 46.04 करोड़ है। जबकि संभाग में 110 करोड़ की 150 एकड़ जमीन मुक्त कराई।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- व्यस्तता के बावजूद आप अपने घर परिवार की खुशियों के लिए भी समय निकालेंगे। घर की देखरेख से संबंधित कुछ गतिविधियां होंगी। इस समय अपनी कार्य क्षमता पर पूर्ण विश्वास रखकर अपनी योजनाओं को कार्य रूप...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser