मुख्यमंत्री कमलनाथ के ओएसडी प्रवीण कक्कण के घर इनकम टैक्स का छापा

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • दिल्ली से आए 15 आयकर अफसरों ने कक्कड़ के इंदौर स्थित आवास की तलाशी ली
  • भोपाल में भी कमलनाथ के कुछ करीबियों के ठिकानों पर छापेमारी चल रही

भोपाल. मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ के भांजे रातुल पुरी, निजी सचिव और पूर्व पुलिस अधिकारी प्रवीण कक्कड़, सलाहकार रहे राजेंद्र कुमार मिगलानी और भोपाल में प्रतीक जोशी और अश्विन शर्मा के ठिकानों पर आयकर विभाग ने रविवार तड़के छापा मारा। सूत्रों के मुताबिक अलावा, दिल्ली, भोपाल, इंदौर और गोवा स्थित 50 ठिकानों पर मारे गए इस छापे में अब तक नौ करोड़ रुपए जब्त किए गए। इस कार्रवाई में कमलनाथ के भांजे रातुल पुरी, अमिरा और मोजर बीयर कंपनी भी शामिल हैं। सूत्रों ने बताया कि यह छापेमारी हवाला के जरिए धन के लेनदेन के सिलसिले में की गई है।

 

 

आयकर विभाग की टीम ने इंदौर में  मुख्यमंत्री कमलनाथ के ओएसडी प्रवीण कक्कड़ के घर छापा मारा। देर रात 3 बजे दिल्ली से आए 15 से अधिक अधिकारियों की टीम स्कीम नंबर 74 स्थित निवास पर पहुंची। इसके साथ ही विजय नगर स्थित शोरूम, बीसीएम हाइट्स स्थित ऑफिस, शालीमार टाउनशिप और जलसा गार्डन, भोपाल स्थित घर श्यामला हिल्स, प्लेटिनम प्लाजा सहित अन्य स्थानों पर भी जांच की जा रही है।  बताया जा रहा है कि सर्विस के दौरान ही कई जांच चल रही थी। कार्रवाई में उनके घर से करोड़ों रुपए की नकद राशि मिलने की बात बताई जा रही है।

 

मुख्यमंत्री के करीबी है: प्रवीण जब पुलिस अधिकारी थे तभी उनके खिलाफ कई मामले सामने आए थे। प्रवीण कक्कड़ सीएम कमलनाथ, दिग्विजय सिंह और कांतिलाल भूरिया के काफी करीबी माने जाते हैं। जब आयकर विभाग की टीम देर रात पहुंची तो कक्कड़ के परिवार के लोग घबरा गए थे। जब उन्हें पुख्ता हो गया कि ये सभी आयकर के अधिकारी हैं तो उन्होंने जांच में सहयोग किया।

 

कौन हैं कक्कड़: प्रवीण कक्कड़ पूर्व पुलिस अधिकारी हैं। उन्हें राष्ट्रपति पुरस्कार से सम्मानित भी किया गया था। 2004 में नौकरी छोड़कर वे कांग्रेस नेता कांतिलाल भूरिया के ओएसडी बने। दिसंबर 2018 में कमलनाथ के ओएसडी बन गए। बताया जा रहा है कि नौकरी में रहते हुए उनके खिलाफ कई मामले सामने आए, जिनकी जांच चल रही है।

 

कौन हैं राजेंद्र मिगलानी: ये करीब 30 वर्ष से कमलनाथ से जुड़े हैं। जब कमलनाथ मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री बने तो उन्होंने मिगलानी को अपना सलाहकार नियुक्त किया। मुख्यमंत्री से कौन- कब मिलेगा इसके साथ ही उनके अन्य कामों को भी मिलगानी ही संभालते हैं। आयकर विभाग ने मिगलानी के दिल्ली में ग्रीन पार्क कॉलोनी स्थित घर पर कार्रवाई की है।

 

कौन हैं प्रतीक और अश्विन: प्रतीक जोशी और अश्विन शर्मा भोपाल के आर्म्ड डीलर हैं। दोनों आपस में रिश्तेदार भी हैं। आयकर विभाग के सूत्रों ने उनके घर से नौ करोड़ रुपए मिलने की बात बताई है। दोनों की सीएम हाउस तक सीधे पहुंच थी। बताया जा रहा है कि प्रवीण कक्कड़ इन्हीं के माध्यम से डीलिंग करता था। अश्विन शर्मा की कई भाजपा नेताओं से भी नजदीकी की बात सामने आई है। 

 

सीआरपीएफ की ली मदद, एमपी की इनकम टैक्स को नहीं खबर: बताया जा रहा है कि इनपुट के बाद मारे गए छापे की जानकारी मध्य प्रदेश के भी आयकर के अधिकारियों को नहीं थी। दिल्ली की टीम ने प्रदेश पुलिस की मदद की जगह पहली बार सीआरपीएफ की टीम को छह गाड़ियों में दिल्ली से अपने साथ लेकर आई। आयकर विभाग की टीम दिल्ली से चार अप्रैल को भोपाल के लिए निकली। छापा मारने के लिए छुट्टी पर गई महिला कर्मियों को छुट्टी कैंसिल कर भोपाल बुलाया गया। 

 

प्रतीक जोशी अश्विन शर्मा के यहां भी छापे: भोपाल में प्लेटीनम प्लाजा की छठी मंजिल पर प्रतीक जोशी और अश्विन शर्मा का निवास है। दोनों ही प्रवीण कक्कड़ के बेहद करीबी माने जाते हैं।  यहीं पर दोनों के ऑफिस भी हैं। प्रवीण कक्कड़ जब भी भोपल में रहते इन प्रतीक जोशी अश्विन शर्मा से मिलने आते थे। 

 

कार से मिले डॉलर: आयकर विभाग को प्लेटीनम प्लॉजा की पॉर्किंग में अश्विन की करीब दो दर्जन लग्जरी कारें मिली हैं। इसमें आधा दर्जन विंटेज कारें भी शामिल हैं। आयकर विभाग की टीम ने कारों की तलाशी भी ली है। उधर दिल्ली में मृगलानी की दो लग्जरी कारों से टीम ने डॉलर बरामद किए हैं। 

 

हवाला और ट्रांसफर कराने का है करोड़ों रुपया : बताया जा रहा है कि बीते दिनों जबलपुर में पकड़े गए हवाला कारोबारी लालवानी  के यहां आयकर विभाग ने छापा मारा था। भोपाल में भी कुछ दिन पहले एक हवाला गिरोह पकड़ाया था। मामले में बड़े नाम आने के बाद इसे रफा-दफा कर दिया गया। इसके बाद इसकी सूचना दिल्ली में आयकर विभाग के अधिकारियों को दी गई थी इसके बाद आज ये कार्रवाई की गई। भोपाल में बरामद 9 करोड़ रुपए के लेकर ये भी कहा जा रहा है कि प्रदेश में बड़े पैमाने पर हुए तबादलों के दौरान हुए लेनदेन के बाद ये पैसा अश्विन के पास रखा हुआ था। 

 

कक्कड़ ने कमलनाथ के मुख्यमंत्री बनने के बाद दिसंबर 2018 में ओएसडी का पद संभाला था। आम चुनाव की घोषणा के बाद उनके इस पद से इस्तीफा देने की बात सामने आई थी लेकिन मप्र कांग्रेस के मीडिया समन्वयक नरेन्द्र सलूजा के अनुसार उन्होंने अपने पद से इस्तीफा नहीं दिया था। मिगलानी ने छिंदवाड़ा में चुनाव प्रबंधन के लिए हाल ही में अपने पद से इस्तीफा दिया था। 

 

एनजीओ संचालक और आर्म्ड डीलर  : बताया जा रहा है भोपाल में प्लेटीनम प्लाजा की पांचवी और छठी मंजिल का मालिकाना हक अश्विन के पास है। यहां उसके करीब 15 फ्लैट है, इनकी कीमत करोड़ों रुपए है। वो आर्म्ड डीलिंग के अलावा कई एनजीओ भी चलाता है। अश्विनी शर्मा को आईटी की टीम पूछताछ के लिए भोपाल के आईटी के मुख्यालय लेकर गई है। जब अश्विन से कार्रवाई के बारे में पूछा गया तो उसने कहा कि वो नहीं जनता कि कार्रवाई क्यों हुई है। इतना ही नहीं उसने यह भी कहा कि वह कांग्रेस के नही बीजेपी का आदमी हैं। अश्विनी शर्मा ने बताया की ना तो वह न तो मुख्यमंत्री कमलनाथ को जानता हैं और न ही प्रवीण कक्कड़ को। 

 

Bhopal: I-T raid underway at residence of Ashwin Sharma, associate of Praveen Kakkar (OSD to Madhya Pradesh CM). Ashwin Sharma on being questioned about his association with Praveen Kakkar & MP CM says, \"Main BJP ka aadmi hun.\" #MadhyaPradesh pic.twitter.com/ewqpKdFo1n

— ANI (@ANI) April 7, 2019

 

Pictures provided by Income-Tax Sources of cash recovered during raid at residential premises of Prateek Joshi in Bhopal, Madhya Pradesh. I-T searches are underway at 50 locations including Indore, Bhopal, Goa and Delhi. pic.twitter.com/TAMe4J1Nii

— ANI (@ANI) April 7, 2019

 

 

Indore: Visuals from official premises of Praveen Kakkar, OSD to Madhya Pradesh CM, where income-tax officials are conducting a raid. pic.twitter.com/fWoOS4qT4o

— ANI (@ANI) April 7, 2019

 

 

Madhya Pradesh: I-T raid underway at Bhopal residence of Praveen Kakkar, OSD to Madhya Pradesh CM. Searches are also underway at his residence and official premises in Indore. pic.twitter.com/JBktgZjJvB

— ANI (@ANI) April 7, 2019

 

 

 

Delhi: I-T raid underway at residence of RK Miglani, close aide of Madhya Pradesh CM, in Green Park. pic.twitter.com/XEKcEpY8a7

— ANI (@ANI) April 7, 2019
 
 
खबरें और भी हैं...