मप्र / साेया कारोबारी धानुका के सात शहरों में 33 प्रतिष्ठानों पर आयकर के छापे



शादी के स्टीकर लगी इन गाड़ियों से पहुंचे अधिकारी। शादी के स्टीकर लगी इन गाड़ियों से पहुंचे अधिकारी।
X
शादी के स्टीकर लगी इन गाड़ियों से पहुंचे अधिकारी।शादी के स्टीकर लगी इन गाड़ियों से पहुंचे अधिकारी।

  • बाराती बनकर पहुंची आयकर टीम, 100 से ज्यादा बोगस फर्म मिलीं
  • छापे में 1.5 करोड़ रुपए की नकदी और 50 लाख की ज्वेलरी मिली

Dainik Bhaskar

Feb 14, 2019, 02:14 AM IST

भोपाल/नीमच/मंदसौर . आयकर विभाग की इंवेस्टीगेशन विंग ने बुधवार को सोया ऑयल कारोबारी कैलाश धानुका के 7 शहरों में 33 ठिकानों पर छापे मारे। रात तक हुई कार्रवाई में 1.5 करोड़ रुपए की नकदी, हुंडियां और 50 लाख रुपए की ज्वेलरी मिली। साथ ही 100 से अधिक बोगस फर्म का भी पता चला। धानुका को राज्य सरकार का वाणिज्यिक कर विभाग सबसे अधिक अप्रत्यक्ष कर देने के लिए भामाशाह सम्मान दे चुका है।

 

आयकर टीम सुबह 6 बजे बाराती बनकर नीमच में कैलाश की धानुका ऑयल मिल व माहेश्वरी वेयर हाउस के मालिक प्रभुलाल झंवर के ठिकानों पर पहुंची। टीम ने गाड़ियों पर  ‘विकास संग निशा’ के नाम से शादी के स्टीकर चिपका रखे थे। नीमच के अलावा कोलकाता, दिल्ली, हापुड़, मंदसौर, जावरा और चित्तौड़ में भी ग्रुप के ठिकानों पर छापे पड़े। विभाग को छापे में 100 करोड़ रु. की टैक्स चोरी मिलने का अनुमान है।


विंग के डॉयरेक्टर (इंवेस्टिगेशन) पतंजलि झा के नेतृत्व में इंदौर के ज्वाइंट डायरेक्टर सत्यपाल मीणा व डीडीआई विंग से कपिल कपूर के निर्देशन में बाराती बनकर आईं टीमें जमुनियाकलां स्थित धानुका ऑइल मिल पहुंचीं और अंदर प्रवेश करते ही गेट बंद कर दिया। रिकाॅर्ड देखने एक टीम मंडी स्थित उनकी फर्म भी भेजी।

 

जावरा में अंबिका सोया फैक्टरी, वर्धमान सॉलवेंट एक्सट्रेक्शन इंडस्ट्रीज लिमिटेड, मंदसौर में अमृत रिफाइनरी के संचालक के घर टीमें पहुंचीं। धानमंडी स्थित घर, कृषि उपजमंडी स्थित गोदाम, दलौदा स्थित रुचि सोया, बायपास स्थित अमृत रिफाइनरी और मुलतानपुरा स्थित फैक्टरी को भी जांच के दायरे में लिया। सूत्रों की मानें तो अमृत रिफाइनरी में 60 प्रतिशत काम लूज पेपर पर ही होता है। 40 प्रतिशत की ही एंट्री ही रिकॉर्ड में ली जाती है। 

COMMENT