स्वच्छ भारत मिशन / जयवर्धन बोले- मैं भोपाल-इंदौर की रैंकिंग से ही खुश होने वाला नहीं, पूरे प्रदेश की रैंकिंग नंबर वन आना चाहिए



Jayawardhan said number one ranking of the whole state should come
X
Jayawardhan said number one ranking of the whole state should come

  • केंद्र सरकार ने स्वच्छ भारत मिशन के लिए मध्यप्रदेश सरकार को दिए 721 करोड़ रुपए
  • जिंदल- प्रदेश के 378 नगरीय निकायों में से 143 अब ओडीएफ नहीं

Dainik Bhaskar

Sep 12, 2019, 02:22 AM IST

भोपाल. नगरीय निकायों को सबसे अधिक राशि स्वच्छ भारत मिशन के लिए मिलेगी, लेकिन प्रदेश की ओवरऑल रैंकिंग नंबर वन आना चाहिए। स्वच्छ भारत का मुद्दा किसी राजनीतिक दल से नहीं आम आदमी से जुड़ा है। यह बात नगरीय विकास एवं आवास मंत्री जयवर्धन सिंह ने वर्कशॉप में कही। उन्होंने आवारा पशु मुक्त होने वाले पहले शहर को एक करोड़ रुपए का पुरस्कार देने पर विचार करने की बात भी कही।

 

उन्होंने कहा कि सिर्फ भोपाल और इंदौर की रैंकिंग से ही मैं खुश होने वाला नहीं हूं। स्वच्छता अभियान में टेक्नाेलॉजी का पूरा उपयोग करें। शहर के तालाबों और नालों की सफाई भी करें। शहरों में घूमने वाली उपेक्षित गायों को गोशालाओं में भेजें। उन्होंने कहा कि स्वच्छता अभियान में सफाईकर्मियों का योगदान सराहनीय है। उनकी मांगों पर गंभीरता से विचार किया जा रहा है। इस अवसर पर स्पॉट फाइन के लिए नगर निगम के 200 सफाई दरोगा को पीओएस मशीन दी गई।

 

अब ओडीएफ के लिए 90% शौचालय निर्माण जरूरी 

केंद्रीय आवास एवं शहरी कार्य मंत्रालय के ज्वाइंट सेक्रेटरी वीके जिंदल ने ने कहा कि प्रदेश के सभी 378 नगरीय निकायों ने एक बार फिर ओडीएफ का सर्टिफिकेट ले लिया, लेकिन ये निकाय अब उसे बरकरार रखने में रुचि नहीं ले रहे हैं। मौजूदा स्थिति में 143 शहर ओडीएफ नहीं हैं। इनमें से 23 दोबारा हुए सर्वे में फेल हो गए, जबकि 120 ने इसके लिए आवेदन ही नहीं किया। जिंदल ने कहा कि मप्र स्वच्छ भारत मिशन की राशि का उपयोग करने में नंबर एक पर है। जिंदल ने कहा कि ओडीएफ का क्राइटेरिया बदल गया है। अब 90% शौचालयों का निर्माण हुए बिना ओडीएफ नहीं देंगे।

 

भोपाल को नंबर एक बनाने मिलकर काम करेंगे

महापौर आलोक शर्मा भी भाजपा के घंटानाद कार्यक्रम में व्यस्त थे। वे भी कार्यशाला में देरी से पहुंचे। उन्होंने कहा कि भोपाल को नंबर एक का शहर बनाने के लिए सभी लोग मिलकर काम करेंगे। उन्होंने स्वच्छता पाठशाला और रोको-टोको अभियान के बारे में भी बताया।

 

शान गाएंगे मप्र का स्वच्छता गान,  साथ देंगे जावेद अली

बॉलीवुड के प्रसिद्ध गायक शान मप्र की स्वच्छता की ‘शान’ सभी लोगों को सुनाएंगे। स्वच्छता के लिए बने स्टेट थीम सॉन्ग को शान ने आवाज दी है। इसमें उनका साथ जावेद अली सहित तीन अन्य सिंगर ने दिया है। जल्द ही इसकी लॉन्चिंग होगी। नगरीय प्रशासन ने स्वच्छता की थीम पर 4 गाने बनवाए हैं। एक गाने में पूरे प्रदेश को शामिल किया है और अन्य गीत इंदौर व जबलपुर को ध्यान में रखते हुए तैयार किए जा रहे हैं। भोपाल का गाना तैयार होकर लॉन्च हो गया है।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना