• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • Jeetu Patwari overturns Shivraj on 'You kiss which radish'; He said that he has become negative after going to power.

मप्र / 'तू किस खेत की मूली है' पर जीतू पटवारी का शिवराज पर पलटवार; बोले- सत्ता जाने के बाद वो नेगेटिव हो गए हैं

राज्य के खेलमंत्री जीतू पटवारी ने कांग्रेस दफ्तर में प्रेस कॉन्फ्रेंस की। राज्य के खेलमंत्री जीतू पटवारी ने कांग्रेस दफ्तर में प्रेस कॉन्फ्रेंस की।
X
राज्य के खेलमंत्री जीतू पटवारी ने कांग्रेस दफ्तर में प्रेस कॉन्फ्रेंस की।राज्य के खेलमंत्री जीतू पटवारी ने कांग्रेस दफ्तर में प्रेस कॉन्फ्रेंस की।

  • पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने सागर में आंदोलन के दौरान सीएम कमलनाथ को कहा था तू किस खेत की मूली 
  • जीतू पटवारी ने भोपाल में कांग्रेस दफ्तर में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा- उनकी भाषा अमर्यादित हो गई है

दैनिक भास्कर

Dec 07, 2019, 06:49 PM IST

भोपाल. मप्र सरकार में मंत्री जीतू पटवारी ने कहा कि शिवराज सिंह चौहान की विचारधारा निगेटिव हो गई है। सागर में यूरिया के लिए आंदोलन के दौरान मुख्यमंत्री कमलनाथ के लिए शिवराज सिंह ने अमर्यादित भाषा का इस्तेमाल किया। जीतू पटवारी ने शनिवार को पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह पर जमकर भड़ास निकाली। उन्होंने कहा, 'कमलनाथ तू किस खेत की मूली है।' जीतू पटवारी ने हैरानी जताते कहा कि ये शिवराज सिंह चौहान की भाषा तो नहीं थी। सत्ता जाने के बाद शिवराज सिंह की निराशा में उनकी भाषा अभद्र और अमर्यादित हो गई है। वह नेगेटिव हो गए हैं, सत्ता में रहते हुए शिवराज सिंह ऐसे नहीं थे। 

शिवराज नहीं माने तो उनके घर के बाहर धरने पर बैठूंगा
मंत्री पटवारी ने कहा, "कमलनाथ उसी खेत की मूली हैं, जिस खेत की मूली आप थे शिवराज सिंह जी। 7.5 करोड़ जनता ने वोट किया था और साढ़े 12 साल तक आप राज्य के मुख्यमंत्री रहे। गुस्सा इस बात पर आता है कि शिवराज सत्ता में रहते समय अलग थे, अब क्यों बदल क्यों गए? उनकी भाषा में अमर्यादा है। अगर वह नहीं बदले तो मैं उनके घर के बाहर धरना दूंगा।"

खाद की कमी को दूर करने के लिए एक बार उर्वरक मंत्री से मिल लें 
मंत्री पटवारी ने कहा कि शिवराज सिंह कहते हैं कि सरकार सही समय पर जाग जाती तो संकट ना होता। पटवारी ने कहा कि खाद को लेकर सरकार सही समय पर ही जागी है। भारी बारिश के चलते इस बार पिछले साल के मुकाबले ज्यादा आवंटन की मांग भी की थी, वह भी तब जब केंद्र ने सर्कुलर जारी किया था। हमने केंद्र सरकार ने 18 लाख मीट्रिक टन मांगी, इसके एवज में हमें 15 लाख 40 हजार मीट्रिक टन ही दिया गया। पटवारी ने कहा कि ऐसे में दोषी केंद्र है या मप्र सरकार। प्रदेश में 12 सांसद भाजपा के है, उन्हें लेकर शिवराज सिंह उर्वरक मंत्री से मिल लें बस, क्योंकि अब वह प्रधानमंत्री से तो मिल नहीं पाएंगे। 

DB Originals - DBApp

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना