• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • Kamal Nath Political Crisis | Jitu Patwari On Shivraj Singh Chouhan; Kamal Nath Madhya Pradesh Government Latest News and Updates On Madhya Pradesh Political Crisis

एमपी में सियासी ड्रामा / बयानबाजी: पटवारी ने शिवराज को मास्टरमाइंड बताया; नरोत्तम बोले- हमारे संपर्क में 15 एमएलए

Kamal Nath Political Crisis | Jitu Patwari On Shivraj Singh Chouhan; Kamal Nath Madhya Pradesh Government Latest News and Updates On Madhya Pradesh Political Crisis
X
Kamal Nath Political Crisis | Jitu Patwari On Shivraj Singh Chouhan; Kamal Nath Madhya Pradesh Government Latest News and Updates On Madhya Pradesh Political Crisis

  • कांग्रेस का दावा- भाजपा ने बसपा के 2, एक निर्दलीय और 6 कांग्रेसी विधायकों को गुड़गांव के होटल में बंधक बनाया
  • पटवारी ने कहा- भाजपा नेताओं ने इन विधायकों को बंधक बना रखा है, इनको पैसे दिए गए हैं

दैनिक भास्कर

Mar 04, 2020, 04:51 PM IST

भोपाल. मध्य प्रदेश में सत्ता पक्ष के विधायकों की खरीद-फरोख्त के आरोपों से सियासी घमासान छिड़ा है। कांग्रेस का कहना है कि भाजपा उसके विधायकों को तोड़ने की कोशिश में है। भाजपा नेता नरोत्तम मिश्रा का दावा है कि उनके संपर्क में सत्ता पक्ष के 15 से 20 विधायक हैं। वो सवाल करते हैं कि हमारे पास कोई आता है, तो क्या हम उसे भगा दें? दरअसल 2 दिन  पहले कांग्रेस के दिग्विजय सिंह ने एक ट्वीट करके भाजपा पर हॉर्स ट्रेडिंग के आरोप लगाए। इसके बाद से दोनों ओर से बयानबाजी जारी है।  दिग्विजय के ट्वीट के बाद जानिए पूरा घटनाक्रम: किसने क्या कहा...

2 मार्च: विधायकों को 25 से 35 करोड़ तक ऑफर दिया जा रहा: दिग्विजय
2 मार्च को दिग्विजय सिंह ने आरोप लगाया कि भाजपा कमलनाथ सरकार को अस्थिर करने कोशिश कर रही है। विधायकों को 25 से 35 करोड़ तक का ऑफर किए जा रहे हैं। शिवराज और नरोत्तम में सहमति बन गई है। शिवराज मुख्यमंत्री और नरोत्तम डिप्टी सीएम बनने का सपना देख रहे हैं।

शिवराज का जवाब - दिग्विजय झूठ फैलाने में माहिर
दिग्विजय के आरोपों पर शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि दिग्विजय सिंह मुख्यमंत्री कमलनाथ को ब्लैकमेल करना चाहते हैं। दिग्विजय झूठ फैलाने में माहिर हैं। उन्हें अपनी उपयोगिता दिखानी होगी और किसी को डराना-धमकाना होगा, इसलिए ऐसा बयान दे रहे हैं।

3 मार्च: दिग्विजय के बयान को कमलनाथ ने सही बताया

 मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा-‘‘मैं दिग्विजय सिंह के बयान से पूरी तरह सहमत हूं। भाजपा डरी हुई है, क्योंकि आने वाले दिनों में उनके 15 साल के शासनकाल में हुए घोटालों का खुलासा होने वाला है। विधायक मुझे कह रहे हैं कि हमें पैसे ऑफर किए जा रहे हैं। पहले तो मैं पूछता हूं कि इतना पैसा आया कहां से और अगर विधायकों को फोकट में पैसा में मिल रहा है तो उन्हें ले लेना चाहिए।’’

दिग्विजय ने फिर आरोप दोहराए, बोले- दिल्ली ले जाने की प्रक्रिया शुरू
दिग्विजय ने 24 घंटे के अंदर यानी मंगलवार को फिर आरोप दोहराया। उन्होंने ट्वीट करके कहा- भाजपा ने राज्य के कांग्रेस, बसपा और सपा के विधायकों को दिल्ली लाने की प्रक्रिया शुरू कर दी है। उन्होंने सवाल किया-‘बसपा विधायक रामबाई को क्या भाजपा के पूर्व मंत्री भूपेंद्र सिंह सोमवार को चार्टर्ड प्लेन से भोपाल से दिल्ली नहीं लाए? क्या पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान कुछ कहना चाहेंगे?’ एक अन्य ट्वीट में सिंह ने कहा-हमें रामबाई पर पूरा भरोसा है। वे मुख्यमंत्री कमलनाथ की प्रशंसक हैं और उनका समर्थन करती रहेंगी।

रामबाई के पति बोले- बेटी को देखने दिल्ली गईं विधायक
रामबाई के पति गोविंद सिंह ने कहा कि दिल्ली में उनकी बेटी पढ़ती है, वह बीमार है, इसलिए उसे देखने और इलाज के लिए गई हैं और शाम तक वापस भी लौट आएंगी। न तो कोई खरीद-फरोख्त हो रही है और न ही रामबाई को कोई दिल्ली लेकर गया है।

कांग्रेस विधायक बैजनाथ बोले- मुझे 25 करोड़ का ऑफर मिला
मंगलवार दोपहर में कांग्रेस से सबलगढ़ के विधायक बैजनाथ कुशवाहा ने कहा कि उन्हें 25 करोड़ का ऑफर मिला है। कुशवाहा ने कहा- ‘‘भिंड से कोई प्रमोद शर्मा हैं, जिन्होंने मुझे कहा कि आप तो तैयार रहो किसी भी तरह की कमी नहीं आने दी जाएगी। मंत्री बनना है तो 5 करोड़ ले लो, मंत्री नहीं बनना है तो 25 करोड़ रुपए देंगे। प्रमोद शर्मा कभी शिवराज सिंह चौहान का तो कभी नरेंद्र सिंह तोमर और नरोत्तम मिश्रा का नाम लेते हैं। वह ये भी कहते हैं रुपया कहां भेजना है, जगह बता दो।’’

शाम को संकट: शिवराज अचानक दिल्ली गए
इधर, मंगलवार शाम को अचानक भाजपा उपाध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान दिल्ली चले गए। दिग्विजय भी दिल्ली में थे। इससे सियासी पारा और चढ़ गया। देर रात खबर आई कि भाजपा ने बसपा के दो विधायक, एक निर्दलीय और करीब 6 कांग्रेसी विधायकों को गुड़गांव के आईटीसी मराठा होटल में एकत्रित किया है। 

4 मार्च: सुबह दिग्गी का पहला बयान- सरकार पर कोई संकट नहीं
बुधवार सुबह दिग्विजय ने कहा- भाजपा विधायक नरोत्तम मिश्रा ने मंत्री रहते बहुत रुपया कमाया है। होटल में थैलों में नोटभर कर लाए गए थे। अब सरकार पर कोई संकट ही नहीं है। कांग्रेस और सरकार का समर्थन कर रहे विधायकों को भाजपा की खरीदने की हिम्मत नहीं।

जीतू ने शिवराज को पूरे घटनाक्रम में मास्टर माइंड बताया
मंत्री जीतू पटवारी ने कहा कि शिवराज सिंह चौहान इस पूरे मामले के मास्टर माइंड हैं। विधायकों को 50 से 60 करोड़ रुपए ऑफर किए गए हैं। कुछ विधायक बेंगलुरु में हैं, लेकिन वे हमारे साथ हैं। पटवारी  ने दावा किया कि भाजपा नेताओं ने इन विधायकों को बंधक बना रखा है। इनको पैसे दिए गए हैं।

जयवर्धन बोले- रामबाई को गुमराह किया, वे हमारे साथ
मंत्री जयवर्धन ने कहा कि रामबाई को गुमराह करके लाए थे। हमारी उनसे मुलाकात हो गई है। वे हमारे साथ हैं। शोभा ओझा समेत अन्य कांग्रेस नेताओं ने 6 विधायकों के लौटने का दावा किया।

सुबह 10 बजे: भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष शर्मा ने कहा- कांग्रेस अंतर्कलह से ग्रसित, आरोप गलत
प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा ने कहा- मध्यप्रदेश में कमलनाथ सरकार खुद अंतर्विरोध और अंतर्कलह से ग्रसित है। भाजपा पर जो आरोप लगा रहे हैं वह सरासर गलत है। इस मामले में भाजपा का कोई लेना-देना नहीं है और ना ही कोई ऐसा प्रयास है। उन्होंने इस बात से भी इंकार किया कि भाजपा कांग्रेस और कुछ अन्य दलों के विधायकों को प्रलोभन दे रही है।

दोपहर 12 बजे: शिवराज दिल्ली से आए, बोले- सरकार से कांग्रेस विधायक परेशान
शिवराज ने कहा- सरकार से कांग्रेस विधायक तक परेशान हैं। मामला उनके घर का है, आरोप हम पर लगाते हैं ये कौन-सी बात है। हम ऐसी किसी गतिविधि में शामिल नहीं हैं। अगर खुद के बोझ से कुछ होता है तो वो जानें। 

दोपहर 12.30 बजे: नरोत्तम ने कहा- कांग्रेस के 15-20 विधायक संपर्क में
पूर्व मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने दावा किया कि ‘‘कांग्रेस के 15 से 20 विधायक मेरे संपर्क में हैं। अगर हमारे पास कोई आता है तो क्या उसे भगा दें।’’ 

कैलाश बोले- ये कांग्रेस का अंदरूनी मामला
कैलाश विजयवर्गीय ने कहा- कांग्रेस विधायकों का ये अंदरुनी मामला है। इसमें भाजपा का कोई-लेना देना नहीं है। कांग्रेस के कुनबे में ही कलह चल रहा है। कांग्रेस विधायक मुख्यमंत्री कमलनाथ से नाराज हैं।

अधीर रंजन चौधरी बोले- सरकार को तोड़ने के लिए भाजपा ने ताकत झोंकी
लोकसभा में नेता विपक्ष अधीर रंजन चौधरी ने कहा कि मप्र सरकार को तोड़ने के लिए भाजपा ने पूरी ताकत झोंक दी। हमारे पक्ष के विधायकों को डरा के, लुभा के, भड़का के भाजपा अपने पक्ष में लाना चाहती। कांग्रेस की सरकार को तोड़ना इनका मकसद है। सीबीआई, ईडी का दुरुपयोग करके ये कांग्रेस को नेस्तनाबूद करने की साजिश काफी समय से कर रहे हैं।

प्रदेश कांग्रेस ने कहा- फ्लोर टेस्ट करा लीजिए
प्रदेश कांग्रेस की मीडिया विभाग की अध्यक्ष शोभा ओझा ने कहा कि भाजपा को ऐसे हथकंडे अपनाने की जगह सदन में फ्लोर टेस्ट कराना चाहिए। प्रदेश सरकार में मंत्री सुखदेव पांसे ने दावा किया कि भाजपा के 15 विधायक मुख्यमंत्री के संपर्क में हैं।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना