पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • Kamal Nath Minister Tarun Bhanot, Independent MLA Surendra Singh Shera On BJJP MLA Over MP Govt Political Crisis

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

कांग्रेस के दो विधायक अभी भी लापता; वित्तमंत्री से मिलने पहुंचे निर्दलीय विधायक शेरा ने कहा- होली के दूसरे दिन मंत्री बन जाऊंगा और गृहमंत्री बनना चाहता हूं

8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कांग्रेस के यह दोनों विधायक अभी लापता है।
  • शनिवार को दिल्ली, रविवार को मुंबई और फिर सोमवार सुबह भोपाल पहुंचे बुराहनपुर से निर्दलीय विधायक सुरेंद्र सिंह शेरा
  • विधायक रघुराज कंषाना के परिजन पुलिस में मामला दर्ज कराने की तैयारी में, आज शाम तक करेंगे लौटने का इंतजार

भोपाल. मध्यप्रदेश में सियासी ड्रामा अभी जारी है। कांग्रेस के दो विधायकों का छह दिन बाद भी कुछ पता नहीं चला है। इधर, निर्दलीय विधायक सुरेंद्र सिंह शेरा सोमवार सुबह मुंबई से भोपाल वापस आ गए। शेरा सीधे वित्तमंत्री तरुण भनोट से मिलने उनके निवास पर पहुंचे। यहां उन्होंने मीडिया से बातचीत में कहा- होली के दूसरे दिन मंत्री बन जाऊंगा, गृहमंत्री बनना चाहता हूं, मौजूदा गृहमंत्री बालाबच्चन में क्षमताओं की कमी है। उनसे काम संभल नहीं रहा है। मेरी इच्छा पीपुल फ्रेंडली पुलिस बनाने की है। लोग पुलिस से डरे नहीं उनकी दोस्त बने। माता रानी की जय हो। वित्तमंत्री से मिलने के बाद शेरा जनसंपर्क मंत्री पीसी शर्मा से मिलने उनके बंगले पहुंच गए। शेरा के गृहमंत्री बनाए जाने की मांग पर सहकारिता मंत्री डॉ.गोविंद सिंह ने कहा कि वो तो प्रधानमंत्री बनने का भी कह सकते हैं। पहली बार के विधायक है, जो मिल जाए उसमें संतोष करना चाहिए।


इससे पहले शेरा ने कहा कि अब टूट-फूट तो भाजपा में होने वाली है। भाजपा के कई विधायक उनके संपर्क में हैं। भाजपा विधायकों के बारे में वे जल्द ही मुख्यमंत्री कमलनाथ से चर्चा करेंगे। इधर, मुरैना से विधायक रघुराज सिंह कंषाना के परिजन आज उनकी गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराने वाले हैं। 

ये भी पढ़े
घर लौटे बिसाहू बोले- तीरथ गया था, अब मंत्री बनूंगा; शेरा और रामबाई ने फिर छोड़ा भोपाल
सूत्रों के अनुसार रघुराज कंषाना दिल्ली में हैं। मीडिया रिपोर्टस के अनुसार उन्होंने कहा है कि उनकी किसी को जरुरत नहीं है, कोई नहीं सुन रहा है वे क्या करें। मोबाइल बंद रहने पर कंषाना ने कहा कि जब कोई सुन ही नहीं रहा तो वे किसी से बात करके क्या कहेंगे। कंषाना को ज्योतिरादित्य के गुट का माना जाता है। मुख्यमंत्री कमलनाथ दिल्ली में है, बताया जा रहा है कि रघुराज की मुलाकात आज मुख्यमंत्री से हो सकती है। 

मुझे किसी ने बंधक नहीं बनाया: शेरा
विधायक शेरा ने कहा कि उन्हें न तो कोई लेकर गया और न ही किसी ने बंधक बनाया। अपनी ये बात वे मुख्यमंत्री के सामने भी स्पष्ट कर चुके हैं। वे मुख्यमंत्री के साथ हैं और रहेंगे। कांग्रेस के दो विधायकों के अभी भी लापता होने के सवाल पर वित्तमंत्री तरुण भनोट ने कहा कि हम उनका इंतजार कर रहे हैं, वे कभी भी आ सकते हैं। वित्तमंत्री ने उल्टे मीडिया से सवाल कर पूछा कि भाजपा के भी कई विधायक गायब हैं, उन पर इतनी चर्चा क्यों नहीं हो रही। उन्होंने कहा कि कोई ये भी बताएगा की भाजपा विधायक अरविंद भदौरिया इन दिनों कहां हैं और किसके साथ हैं?

किस्मत अच्छी होगी तो बन जाएंगे- डॉ. गोविंद सिंह
सुरेंद्र सिंह शेरा के गृहमंत्री बनाए जाने की मांग पर सहकारिता मंत्री डॉ. गोविंद सिंह ने कहा है कि वे तो प्रधानमंत्री बनाए जाने की तक की मांग कर सकते हैं। अगर उनकी किस्मत अच्छी होगी तो बन जाएंगे।  समय से पहले और भाग्य से ज्यादा किसी को कुछ नहीं मिलता। पहली बार के विधायक है। थोड़ा संतोष रखे। दबाव बनाने की कोशिश नहीं करें। शेरा को पीटा और भयभीत किया गया है। लेकिन वो मीडिया के सामने कुछ नहीं कह रहे हैं। उल्लेखनीय है कि दो दिन पहले डॉ. गोविंद सिंह निर्दलीय विधायक सुरेंद्र सिंह शेरा की तुलना बंदर से कर चुके हैं।

हरदीप डंग के इस्तीफे को लेकर सस्पेंस
कांग्रेस विधायक हरदीप सिंह डंग के इस्तीफे को लेकर कई तरह के कयास लगाए जा रहे हैं। कहा जा रहा है कि हरदीप का इस्तीफा अभी तक विधानसभा अध्यक्ष के पास नहीं पहुंचा है। इस्तीफा सिर्फ सोशल मीडिया में वायरल हुआ है। विधानसभा अध्यक्ष प्रजापति इस्तीफे पर संदेह जताते हुए कहा था कि जब तक डंग सामने उन्हें इस्तीफा नहीं सौंपेंगे या भेजे गए पत्र को अपना नहीं बताएंगे, तब तक वे उस पर कुछ नहीं कहेंगे। बताया जा रहा है कि डंग के जिस पत्र को इस्तीफा बताया जा रहा है, उसको लेकर कांग्रेस ने कहा कि वह उनके अपने क्षेत्र की समस्याओं से संबंधित पत्र है। कांग्रेस नेता शोभा ओझा ने कहा कि इस्तीफा इतना बड़ा नहीं लिखा जाता। इस्तीफा दो लाइन का होता है। विधानसभा की सदस्यता से इस्तीफा तब माना जाता है, जब कोई विधायक विधानसभा अध्यक्ष के सामने देता। विधानसभा अध्यक्ष को डंग ने जो पत्र लिखा है, उसमें समस्याएं बताई हैं।

रघुराज की गुमशुदगी की रिपोर्ट आज दर्ज करा सकते हैं परिजन
मुरैना विधायक रघुराज कंषाना का अभी तक कोई पता नहीं है। बताया जा रहा है कि रघुराज के परिजन खुद उनकी तलाश कर रहे हैं। चर्चा है कि परिजन आज शाम तक विधायक की गुमशुदगी की रिपोर्ट पुलिस थाने में दर्ज करा सकते हैं। बताया जा रहा है कि रघुराज के परिजनों से पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह संपर्क बनाए हुए हैं।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- दिन उन्नतिकारक है। आपकी प्रतिभा व योग्यता के अनुरूप आपको अपने कार्यों के उचित परिणाम प्राप्त होंगे। कामकाज व कैरियर को महत्व देंगे परंतु पहली प्राथमिकता आपकी परिवार ही रहेगी। संतान के विवाह क...

और पढ़ें