भोपाल

--Advertisement--

सिद्धांतों से कभी समझौता नहीं किया पं. चतुर्वेदी ने

पंडित बनारसीदास चतुर्वेदी ने जीवनपर्यंत सिद्धांतों से समझौता नहीं किया। पत्रकारिता में उन्होंने जो मान्यताएं...

Dainik Bhaskar

May 03, 2018, 02:25 AM IST
सिद्धांतों से कभी समझौता नहीं किया पं. चतुर्वेदी ने
पंडित बनारसीदास चतुर्वेदी ने जीवनपर्यंत सिद्धांतों से समझौता नहीं किया। पत्रकारिता में उन्होंने जो मान्यताएं स्थापित कीं, वे हमारे लिए प्रकाश स्तंभ हैं। जनपदीय (स्थानीय) पत्रकारिता का महत्व स्थापित करने का श्रेय बनारसीदास चतुर्वेदी को जाता है। यह विचार वरिष्ठ साहित्यकार गुणसागर सत्यार्थी ने पंडित बनारसीदास चतुर्वेदी की पुण्यतिथि प्रसंग पर ‘पत्रकारिता एवं संस्मरण साहित्य में बनारसीदास चतुर्वेदी का योगदान' विषय पर आयोजित संगोष्ठी में व्यक्त किए। आयोजन माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एवं संचार विश्वविद्यालय की ओर से किया गया। कार्यक्रम में बनारसीदास के प्रौत्र डॉ. अपूर्व चतुर्वेदी ने अनेक प्रेरक प्रसंग सुनाए।

‘न भूलेंगे-न बिसरेंगे' का विमोचन

कार्यक्रम के दौरान पुस्तक ‘न भूलेंगे-न बिसरेंगे’ : मध्यप्रदेश की पत्रकारिता के 6 सुनहरे पृष्ठ का विमोचन किया गया। पुस्तक का संपादन लाजपत आहूजा ने किया। सहयोग वरिष्ठ पत्रकार गिरीश उपाध्याय ने किया है।

X
सिद्धांतों से कभी समझौता नहीं किया पं. चतुर्वेदी ने
Click to listen..