• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Bhopal News
  • News
  • भाजपा हर विधानसभा से एक माह में 25 लाख रु. जुटाएगी, पार्टी का दावा- इसी फंड से चुनाव लड़ेंगे
--Advertisement--

भाजपा हर विधानसभा से एक माह में 25 लाख रु. जुटाएगी, पार्टी का दावा- इसी फंड से चुनाव लड़ेंगे

पॉलिटिकल रिपोर्टर. भोपाल | भाजपा इस बार का विधानसभा चुनाव जनता के पैसों से लड़ने की तैयारी कर रही है। इसके लिए एक...

Danik Bhaskar | Jul 13, 2018, 04:15 AM IST
पॉलिटिकल रिपोर्टर. भोपाल | भाजपा इस बार का विधानसभा चुनाव जनता के पैसों से लड़ने की तैयारी कर रही है। इसके लिए एक अगस्त को 500, 1000 और 2000 रुपए के कूपन जारी किए जाएंगे। ये कूपन लेकर भाजपा के नेता हर विधानसभा में जाएंगे और कम से कम 2500 लोगों से मिलकर करीब 25 लाख रुपए इकट्ठा करेंगे। इतना ही नहीं, जिस विधानसभा से जो भी पैसा इकट्ठा होगा, चुनाव के दौरान उसी सीट पर खर्च किया जाएगा। माना जा रहा है कि इन कूपनों से भाजपा करीब 60 करोड़ रुपए जुटाएगी। भाजपा ने इसके लिए एक फंड कमेटी बनाई है, जिसके संयोजक कृष्ण मुरारी मोघे हैं। कमेटी में खनिज मंत्री राजेंद्र शुक्ला व वित्तमंत्री जयंत मलैया और विधायक हेमंत खंडेलवाल भी हैं, ताकि फंड कलेक्शन में दिक्कत न हो। शेष | पेज 13 पर



कमेटी की गुरुवार को बैठक थी, जिसमें केंद्रीय ग्रामीण विकास मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर और जयंत मलैया को भी शामिल होना था, लेकिन वे नहीं आए। लिहाजा बैठक में प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह और संगठन महामंत्री सुहास भगत मौजूद रहे।

कांग्रेस के सवालों का जवाब भी देंगे : भगत

भाजपा ने इसकी भी तैयारी कर ली है कि इस फंड कलेक्शन पर कांग्रेस सवाल न खड़ा कर सके। बैठक के दौरान सुहास भगत ने कहा कि यह काम पार्टी के समझदार व्यक्ति को देना होगा। कूपन के जरिए पैसा देने वाला अथवा कांग्रेस भी सवाल खड़ा कर सकती है। उस स्थिति में पार्टी की विचारधारा और पक्ष ठीक से रखा जा सके कि चुनावी शुचिता के लिए भाजपा यह काम कर रही है। राकेश सिंह ने कहा कि इस फंड का उपयोग चुनाव में ही होगा। कोशिश इस बात की होनी चाहिए कि ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुंचें।



30 अगस्त तक कलेक्शन चलेगा, चेक भी लिए जाएंगे

बैठक में तय किया गया कि कूपन का दुरुपयोग न हो, इसके लिए एक अगस्त से लेकर 30 अगस्त तक ही कलेक्शन होगा। इससे पहले 20 जुलाई से दस दिन तक 50 ऐसे नेता हर जिले में पहुंचेंगे, जो वरिष्ठ होने के साथ ही उनकी छवि भी ठीक हो। कूपन पर भी विधानसभा चुनाव-2018 लिखा जाएगा, ताकि बाद में इस्तेमाल न हो सकंे। भाजपा कूपनों के अलावा चेक से भी राशि जुटाने पर विचार कर रही है। यह काम भी अगस्त से पहले होगा।



जिला संगठन बनाएगा सूची

जिन लोगों को कूपन दिए जाने हैं, उनकी सूची जिला संगठन ही बनाएगा। साफ है कि हर जिले में 5 से लेकर 7-8 तक विधानसभाएं हैं, इसलिए स्थानीय विधायक की मदद से नाम तय होंगे। हर जिले से 10 से 15 हजार लोगों के पास भाजपा फंड कलेक्शन के लिए पहुंचेगी।