--Advertisement--

राजयोग शिविर में नागरिकों ने लिया एक-एक बुराई छोड़ने का संकल्प

राजयोग शिविर में सजाई गई भारत माता की आकर्षक झांकी। खुजनेर | प्रजापिता ब्रम्हाकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय...

Danik Bhaskar | May 18, 2018, 05:05 AM IST
राजयोग शिविर में सजाई गई भारत माता की आकर्षक झांकी।

खुजनेर | प्रजापिता ब्रम्हाकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय द्वारा सांवलिया सेठ मंदिर परिसर में राजयोग द्वारा शांति अनुभूति शिविर आयोजित किया जा रहा है। शिविर के चौथे दिन विजय महोत्सव मनाया गया। कार्यक्रम की शुरुआत वर्षा ने नृत्य के साथ किया।

शिविर का उद्घाटन डॉ. दीपा नामदेव, डॉ विश्वजीत, विनोद यादव, राकेश गुप्ता, भूपेन्द्र सेन, ब्रम्हाकुमारी मधु दीदी, भाग्यलक्ष्मी दीदी ने किया। शिविर संचालिका भाग्यलक्ष्मी दीदी ने कहा कि अभी वर्तमान समय कलयुग चल रहा है और आने वाली दुनिया सतयुगी दुनिया होगी। जिस प्रकार दिन और रात चार भागों सुबह, दोपहर, शाम और रात्रि में बंटा है। इसी प्रकार जीवन चक्र भी चार भागों में बचपन, युवा, गृहस्थ और वृद्ध अवस्था में बंटा है। जिस युग में परमपिता परमात्मा शिव अवतरित होते हैं और गीता ज्ञान देते हैं। उससे सर्व धर्म का विनाश और एक धर्म की पुनर्स्थापना होती है। शिविर में भारत माता की झांकी भी आकर्षण का केंद्र रही। वहीं हवन कुंड भी बनाया गया। जिसमें मौजूद लोगों ने अपने अंदर की एक-एक बुराइयों को छोड़ने का संकल्प लिया।