Hindi News »Madhya Pradesh »Bhopal »News» Suicide Of Railway Track

युवक ने सुसाइड नोट में लिखा- आई लव यू मम्मी, मरने के बाद मेरी आंखें अच्छी रहीं तो दान कर देना

सुसाइड नोट में लिखा-मेरे बेटे प्रिंस व बेटी वैशाली को पढ़ाएं लिखाएं, जिससे वह अपनी दादी और पापा का नाम रोशन करें।

Bhaskar News Network | Last Modified - Jun 14, 2018, 06:13 AM IST

युवक ने सुसाइड नोट में लिखा- आई लव यू मम्मी, मरने के बाद मेरी आंखें अच्छी रहीं तो दान कर देना

मुंगावली(एमपी)।बुधवार दोपहर एक से दो बजे की बीच चंदेरी रेलवे फाटक के पास एक 26 साल के युवक ने आत्महत्या कर ली। युवक ने मरने से पहले अपने सुसाइड नोट में लिखा आई लव यू मम्मी, मरने के बाद मेरी आंखें अच्छी रहीं तो दान कर देना। मरने से पहले उसने अपना पैंट, पर्व व मोबाइल एक थैली में रख दिए थे।

रेलवे के अधिकारियो ने मौके पर की जांच:

- रेलवे अधिकारियों की सूचना पर पुलिस ने मौके पर पहुंचकर जांच की। शव रेलवे लाइन के पास पड़ा था।

- मृतक के पर 5 लाख का कर्ज था। मोबाइल पर कॉल करके मृतक की पहचान चंद्रभान सिंह लोधी के रूप में की गई।

- उसके पास रखी प्लास्टिक की थैली में उसकी पेंट, पर्स व मोबाइल मिला।

युवक के मोबाइल में थे कई मिस्ड कॉल
- युवक के मोबाइल में कई मिस कॉल पड़े थे। एएसआई एमएल मीना ने उन नंबरों पर कॉल किए तो फोन लगाने के बाद मृतक के ससुर, साला व ग्रामीण पहुंच गए।

- घटना स्थल पर मौजूद लोगों ने बताया कि चंद्रभान के ऊपर पांच लाख रुपए का कर्ज था। कर्ज से परेशान होकर ही उसने आत्महत्या की है।

बेटे और बेटी को पढ़ाएं ताकि नाम रोशन करें
- सुसाइड नोट में मृतक ने लिखा था कि मेरे मरने के बाद अगर मेरी आंखें अच्छी रहीं तो किसी को दान कर देना।

- मेरे बेटे प्रिंस व बेटी वैशाली को पढ़ाएं लिखाएं, जिससे वह अपनी दादी और पापा का नाम रोशन करें।

- छह महीने पहले पिता की बीमारी के कारण मौत हो गई थी। उसके परिवार में एक लड़का, एक लड़की, पत्नी व मां हैं।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Bhopal News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: yuvak ne suicide note mein likhaa- aaee love yu mmmi, marne ke baad meri aankhen achchhi rahi to daan kar denaa
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)
Reader comments

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×