Hindi News »Madhya Pradesh »Bhopal »News» बनेह में एसबीआई के एटीएम में तोड़फोड़, कैश सुरक्षित

बनेह में एसबीआई के एटीएम में तोड़फोड़, कैश सुरक्षित

आखिरी कैश बॉक्स नहीं खोल पाए आरोपी, एटीएम में 7-8 लाख रुपए थे भास्कर संवाददाता | झागर बनेह गांव में एसबीआई के...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 18, 2018, 06:05 AM IST

बनेह में एसबीआई के एटीएम में तोड़फोड़, कैश सुरक्षित
आखिरी कैश बॉक्स नहीं खोल पाए आरोपी, एटीएम में 7-8 लाख रुपए थे

भास्कर संवाददाता | झागर

बनेह गांव में एसबीआई के एटीएम को 16-17 मई की दरमियानी रात लूटने की कोशिश की गई। आरोपियों ने मशीन को बुरी तरह से क्षतिग्रस्त कर दिया। हालांकि वे उसके कैश बॉक्स को नहीं तोड़ पाए। बताया जाता है कि उस समय बॉक्स में 7-8 लाख रुपए मौजूद थे। पिछले दो साल के भीतर एटीएम लूटने या उसकी कोशिश का यह पांचवां मामला है और अब तक एक भी मामले में खुलासा नहीं हो पाया है। इस मामले में भी सीसीटीवी फुटेज में कुछ भी मिलने की संभावना कम है, क्योंकि इसे भी तोड़ दिया गया था।

एटीएम के क्षतिग्रस्त होने की की सूचना गुरुवार सुबह 9 बजे बैंक अधिकारियों को मिली। करीब आधा घंटे बाद वे इसकी जांच के लिए पहुंच गए। फिलहाल इसे सील कर दिया गया है। बैंक अधिकारियों के मुताबिक शुरूआती जांच में यह तो साफ हो गया है कि कैश सुरक्षित है। पर कैश कितना है, यह बाद में पता चलेगा। कारण यह है कि आरोपियों की कारगुजारी के कारण अब यह पूरी तरह लॉक हो गया है।

एटीएम के चोर कभी नहीं पकड़े जाते : पिछले 2 साल में एटीएम में चाेरी के 5 मामले सामने आ चुके हैं। इनमें 3 तो अकेले गुना में ही हुए। दो में से कैश गायब हुआ था। यूनियन बैंक का एटीएम तो उस घटना के बाद से आज तक बंद है। जबकि पुलिस लाइन स्थित एटीएम डेढ़ साल तक बंद रहा।

कैमरे बंद होने से एटीएम तोड़ने वाले नहीं हो पाए कैद

पुलिस से बचने के लिए जंगल में रह रहे दो आरोपी पकड़े

रुठियाई |
पुलिस ने मवेशियों और बाइक चोरी सहित कई अन्य गंभीर मामलों में फरार दो आरोपियों को पकड़ने का दावा किया है। आरोपियों में बुंदेल सिंह गुर्जर और ऊदल सिंह गुर्जर शामिल हैं। बताया जाता है कि दोनों आरोपी पुलिस से बचने के लिए जंगल में रह रहे थे। उन्हें वहां से गिरफ्तार किया तो उनके पास से दो मवेशियों के अलावा चोरी की एक बाइक भी जब्त की गई। मवेशी चाेरी के इस मामले का एक और आरोपी बुंदेला गुर्जर भी था। जिसे हाल ही में उम्र कैद की सजा सुनाई गई है। एसपी ने बताया कि दो आरोपियों की गिरफ्तारी में कुंभराज के मलखान सिंह परिहार, होरीलाल चौरसिया, दीपक त्रिपाठी, अमित तिवारी, आर कुलदीप यादव आदि की अहम भूमिका रही।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×